यहां तो सपने में मिलते हैं अधिकारी


शामली : सीएम योगी की गाइड लाइन के बावजूद भी अधिकारी अपने कार्यालयों पर नही जम पा रहे हैं। अधिकारी अपने कार्यालय में बैठने के बजाय कैंप पर डेरा जमाए रहते हैं, ऐसे में कड़ी धूप के चलते घंटों तक इंतजार कर थक हार चुके फरियादी अधिकारियों के दफ्तरों के बाहर सोते-नजर आ रहे हैं। भीषण गर्मी के चलते सरकारी कर्मचारी भी दोपहर बाद अपने दफ्तरों पर नही डट रहे हैं।

योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश की सरकारी मशीनरी में सुधार के लिए अधिकारियों को नियत समय से ऑफिसों पर पहुंचने और कैंपों के बजाय अपने दफ्तरों पर ही मौजूद रहकर फरियादियों की सुनवाई करने के निर्देश दिए थे। अधिकारियों को अपने कार्यालय के लैंड लाइन नंबर भी दुरूस्त रखने के निर्देश दिए गए थे, ताकि अधिकारियों की कार्यालयों में उपस्थिति को क्रास चैक किया जाए। सीएम योगी आदित्यनाथ भले ही प्रदेश की स्थिति, दशा और अधिकारियों की कार्यप्रणाली को सुधारने की कोशिशों में जुटे हुए हों, लेकिन सालों से एक ही तरह की कार्यप्रणाली को अपनाने वाले अधिकारी भी खुद को बदलने को तैयार नही है।

ऐसे में सुबह से ही शिकायत लेकर दफ्तरों के बाहर पहुंचने वाले फरियादियों के लिए ऐसे अधिकारी ईद का चांद बने हुए हैं। मंगलवार को जिले के कई सरकारी कार्यालयों के बाहर बैठे फरियादी इंतजार की समय-सीमा बीतने पर कार्यालयों के बाहर ही नींद के आगोश में घिरते नजर आए, लेकिन घंटों के इंतजार के बावजूद भी उनकी सुनवाई करने के लिए कोई भी नही पहुंचा। फिलहाल जिले में ऐसे हालात पुलिस ऑफिस, कलेक्ट्रेट समेत अन्य विभागों के अधिकारियों के कार्यालय पर आसानी से दिखाई दे सकते हैं।

– (दीपक वर्मा)