त्यौहारों के मद्देनजर जनपद में लगी धारा 144


शामली: रमजान माह ईद के मद्देनजर जनपद में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए जिला प्रशासन ने जनपद में धारा 144 लागू कर दी है जिसका कठोरता से अनुपालन करने के निर्देश दिए गए हैं। एडीएम भरत पाण्डेय ने बताया है कि मई व जून माह में आने वाले रमजान माह, जमातुल विदा व ईद-उल-फितर व परीक्षाओं के मद्देनजर कुछ आसामजिक एवं स्वार्थी तत्व धार्मिक उन्माद व अफवाहें फैलाकर जनसाधारण को गुमहार करके तथा आचार संहिता का उल्लंखन करके सार्वजनिक शांति भंग करने तथा साम्प्रदायिक सौहाद्र्र के वातावरण का दूषित करने का प्रयास कर सकते है। इसलिए कानून एवं शांति व्यवस्था बनाये रखने के उददेश्य से दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के अन्तर्गत प्रदत्त अधिकारों का प्रयोग करते हुए निषेधाज्ञा जारी की जाती है जिसमें ऐसा कोई कार्य लिखकर बोलकर अथवा किसी प्रतीक के माध्यम से नहीं करेंगे जिससे किसी धर्म (मजहब) सम्प्रदाय जाति या सामाजिक वर्ग की भावना आहत हो या उससे विभिन्न वर्गो के व्यक्तियों के बीच तनाव की स्थिति उत्पन्न हो।

कोई व्यक्ति सरकारी  सार्वजानिक उपक्रमों की सम्पत्ति तथा कार्यालय भवन, आवसीय परिसर, बिजली खम्बे, सरकारी सम्पत्ति राजकीय विद्याालयों की सम्पत्ति को क्षति नहीें पहुचायेगा। कोई भी व्यक्ति किसी के विचारों या कार्यो का विरोध करने के लिये प्रदर्शन या धरना नही देगा। कोई भी व्यक्ति दूसरे व्यक्ति से मौखिक रूप से या लिखित रूप से प्रश्न पूछकर या वाल पेन्ट करके गडबडी पैदा नही करेगा। कोई भी व्यक्ति उत्तेजनात्मक भाषण नही देगा तथा अफवाहे नही फैलाएगा तथा मुद्रण प्रकाशन नही करेगा, जिससे किसी प्रकार की भ्रान्ति उत्पन्न हो या किसी समुदाय को ठेस पहुॅचे। कोई भी व्यक्ति वर्ग, समुदाय या संस्था आदि जनपद शामली की सीमा के अन्तर्गत किसी भी सार्वजानिक संस्थान कलेक्ट्रेट कार्यालय परिसर के आस पास जूलूस, धरना अथवा भीड़ एकत्रित नही करेगा तथा बिना लिखित पूर्वानुमति कोई जनसभा सार्वजनिक स्थल पर आयोजित नही की जायेगी।

जनपद की सीमा के क्षेत्रान्तर्गत किसी भी सार्वजानिक स्थल पर पांच या पांच से अधिक व्यक्ति बिना सक्षम प्रधिकारी की पूर्वानुमति के एकत्र नही होगे। यह प्रतिबन्ध विद्यालयों तथा धार्मिक स्थानों तथा रेलवे बस स्टेण्ड वैवाहिक कार्यक्रम तथा पूजा स्थलो एवं कार्यालयो पर लागू नही होगा। कोई भी व्यक्ति किसी प्रकार की बेस स्टिक अस्त्र शस्त्र विस्फोटक पदार्थ या वस्तु जिनका प्रयोग आक्रमण करने में किया जा सकता है जैसे तेज धार वाले हथियार यथा तलवार कृृपाण लाठी-डंडा पिस्तौल बन्दूक रिवाल्वर भाला या चाकू आदि लेकर नहीं चलेगे और न ही किसी स्थान पर इनको एकत्रित करेंगें। यह प्रतिबन्ध डयूटी पर तैनात कर्मचारीअधिकारी पर लागू नही होगा तथा धार्मिक रीति-रिवाजो को प्रभावित नही करेगा।

 यातायात को अवरूद्ध नही करेगा और न ही आवष्यक वस्तुओ की आपूर्ति को बाधित करेगा। इस अवधि में पुलिस अधीक्षक शामली द्वारा की जाने वाली यातायात व्यवस्था का उल्लंघन नही किया जाएगा। किसी के भी सार्वजनिक मार्गो पर बिना पूर्णानुमति के तम्बू कनात इत्यादि नहीं लगाया जाएगा। अव्यवस्थित पार्किग नही की जाएगी या ऐसी कोई व्यवस्था नही की जाएगी, जिससे सार्वजनिक मार्गो पर यातायात में किसी प्रकार का अनावश्यक व्यवधान हो। कोई भी व्यक्ति अथवा संस्था अपने क्षेत्र के प्राधिकृृत मजिस्ट्रेट की अनुमति के बिना लाउडस्पीकर /ध्वनि विस्तारक यन्त्र एवं डीजे का प्रयोग नही करेगा। रात 10 बजे से प्रात: 6.00 बजे तक कोई भी मजिस्ट्रेट ध्वनि विस्तारण यन्त्र /डीजे के प्रयोग की अनुमति नहीें देगा।

(दीपक वर्मा)

Choose A Format
Poll
Voting to make decisions or determine opinions
Story
Formatted Text with Embeds and Visuals
List
The Classic Internet Listicles
Video
Youtube, Vimeo or Vine Embeds
Thanks for loving our story. Like our Facebook page to get more stories.

Send this to a friend