दुकानों में आग से लाखों का नुकसान


महोबा: बीती रात बस स्टैण्ड के पास स्थित दो सगे भाईयों की दुकानों में आग लग गयी। भारी मशक्कत के बाद आग पर सुबह काबू पाया गया, इस बीच यहां पहुंचा दमकल दस्ते का वाहन बीच में धोखा दे गया है। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों सहित नागरिकों के सहयोग से जैसे तैसे आग पर काबू पा लिया गया है, दुकानों में रखी करीब दस लाख रुपये की सामग्री आग की चपेट में आकर राख हो गयी है। अग्नि पीड़ित भाइयों का बुरा हाल है। नगर के बस स्टैण्ड के पास डिम्पल अग्रवाल की किराने की दुकान है और उसके दूसरे भाई सन्तू अग्रवाल की उसी से लगी हुयी हार्डवेयर की दुकान है, बुधवार की रात करीब 11 बजे इन दुकानों में आग लग गयी, बताया जाता है, कि आग बिजली के शार्ट सर्किट के चलते लग गयी, देखते ही देखते आग ने प्रचण्ड रूप धर लिया और उसकी लपटे नगर में दूर, दूर तक दिखाई पड़ रही थी, आग धीरे, धीरे भयावह रूप धरती चली गयी है, खबर मिलते ही तहसीलदार और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ पुलिस भी मौके पर पहुंच गयी।

आस, पास के नागरिक भी मौके पर जा पहुंचे, इस बीच जिला मुख्यालय स्थित दमकल दस्ते को अग्निकाण्ड की खबर दी गयी है, सूचना मिलते ही दमकल दस्ता मौके पर जा पहुंचा और आग बुझाने के उपक्रम में जुट गया, लेकिन इस बीच दमकल दस्ते का वाहन धोखा दे गया, आनन, फानन में महोबा से दमकल दस्ते का दूसरा वाहन मौके पर पहुंचा इस बीच तकरीबन दो घण्टे लग गये। पुलिस व स्थानीय नागरिक लगातार दुकानों में लगी आग को बुझाने में लगे रहे, लेकिन आग भयावह रूप धरे रही, दमकल दस्ते की दूसरी गाड़ी भी इस दरमियान मौके पर जा पहुंची , लोगांे ने हाथों में मटके, बाल्टी और मशीन ने पानी की जबरदस्त बौछार करके आग पर काबू पाया, लेकिन आग को बुझा पाने में पूरी रात लग गयी। अग्निपीड़ित डिम्पल अग्रवाल और सन्तू अग्रवाल का कहना है, कि उन्हें इस अग्निकाण्ड से लगभग 10 लाख रुपये की क्षति पहुंची है।