मुस्लिम लीग ने मार्च निकालकर सौंपा ज्ञापन


सम्भल: इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग ने गौरक्षा के नाम पर मुस्लिमों व दलितों पर हो रहे अत्याचार के विरोध में मार्च निकालकर राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन उपजिलाधिकारी को सौंपते हुए कानून से खिलवाड़ करने वालों पर कड़ी कार्यवाही की मांग की। शहर के मोहल्ला नाला स्थित कार्यालय पर मुस्लिम लीग के कार्यकर्ता एकत्र हुए। मौलाना मुकीम कुरैशी ने कहा कि प्रदेश व केंद्र सरकार की सरपरस्ती गौरक्षा के नाम पर मुस्लिमों व दलितों के साथ अत्याचार हो रहा है जिससे देश की छवि विश्व भर में धूमिल हो रही है। जिया अशरफ ने कहा कि देश की तरक्की एक दूसरे के साथ मारपीट व हत्या करने से नहीं बल्कि भाईचारे से होगी। डा. कलीम अशरफ सैफी ने कहा कि गौ रक्षा के नाम पर युवक इकट्ठे हो जाते हैं और निहत्थों पर हमला कर देते हैं।

मुस्लिम लीग ने कहा कि इन घटनाओं पर लगाम नहीं लगी तो देशव्यापी आंदोलन चलाकर चक्का जाम किया जायेगा। इसके बाद मुस्लिम लीग के कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन के साथ जुलूस निकालते हुए एसडीएम कार्यालय पहुंचे। जहां पर उन्होंने राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन उपजिलाधिकारी को सौंपते हुए अपनी मांगें रखीं। इस दौरान मौ. गयूर अंसारी, जुल्फेकार, मौलाना मोहम्मद मियां, अली राशिद, शकील उर्रहमान, जफीर, नदीम, अब्दुल सलाम, मौ. जाहिद, शान मियां, हाजी फुरकान, मौ. अरूफ, हकीम सुबहान, मौ. सुल्तान, मौ. जमाल, मौ. मुजाहिद, अजीम एड., रजा मुराद, मौ. नदीम आदि शामिल रहे।