मांगों को लेकर भाकियू ने किया हाईवे जाम


गुलावठी: भारतीय किसान यूनियन (हरपाल सिंह गुट) के कार्यकर्ताओं ने अपनी मांगों को लेकर स्टेट हाईवे 235 पर जाम लगाकर प्रदर्शन किया। भाकियू कार्यकर्ता सड़क पर ही बैठ गए तथा मौके पर पहुंची एसडीएम ऋतु पूनिया व भाकियू नेताओं में नोकझोक हुई। भाकियू नेताओं ने प्रधानमंत्री के नाम संबोधित अपनी मांगों का एक ज्ञापन एसडीएम को सौंपा। पुलिस अधिकारियों के समझाने पर कार्यकर्ताओं ने जाम खोला। ट्रैफिक जाम से काफी लम्बा जाम लग गया, जिससे यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। इससे पूर्व शहीद स्मारक पर भाकियू की एक पंचायत आयोजित की गई। पंचायत में भाकियू कार्यकर्ताओं ने मंदसौर में पुलिस द्वारा किसानों पर गोलीबारी की घटना की कड़े शब्दों में निंदा की।

पंचायत में वक्ताओं ने कहा कि भाजपा सरकार अपने वायदे के अनुसार किसानों के कर्जे माफ करें। कृषि जिंसों का आयात बंद किया जाए। किसानों की फसलों के दाम बढ़ाए जाएं। वक्ताओं ने कहा कि मंदसौर में किसानों पर गोलीबारी की घटना की जितनी निंदा की जाए, उतनी कम हैं। उन्होंने मांग की कि घटना के जिम्मेदार अधिकारियों पर अविलम्ब कार्रवाई की जाए तथा मृत किसानों के परिजनों को आर्थिक सहायता के अलावा उनके परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए। भाकियू नेताओं ने अपनी मांगों का एक ज्ञापन एसडीएम को सौंपा। एसडीएम ने कहा कि उनकी स्तर की समस्याओं का वह समाधान करेंगी तथा शासन स्तर की समस्याओं के समाधान के लिए वह शासन को लिखेंगी। इस मौके पर भाकियू के जिलाध्यक्ष प्रह्लाद सिंह, वीरपाल सिंह तेवतिया, सेंसरपाल, जसवंत सिंह, बदरे आलम सहित सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे।

– विनोद कुमार सैनी