मेडिकल कालेज में बच्चों की मौत के दोषियों पर दर्ज हो हत्या का मामला : आप


Aam Aadmi Party

लखनऊ : आम आदमी पार्टी (आप) ने गोरखपुर मेडिकल कालेज में बड़ी संख्या में बच्चों की मौत को आपराधिक लापरवाही से की गयी हत्या का मामला करार देते हुए इसके जिम्मेदार लोगों पर हत्या का मामला दर्ज करके उन्हें गिरफ्तार करने की मांग की है। ‘आप’ के राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय सिंह ने आज कहा कि गोरखपुर मेडिकल कालेज में आक्सीजन की कमी की वजह से बच्चों की मौत हुई है। जिस कम्पनी पर आक्सीजन आपूर्ति की जिम्मेदारी थी, उसने इस साल फरवरी से अगस्त तक अपने बकाया 70 लाख रुपये के भुगतान के लिए मेडिकल कालेज प्रशासन से लेकर सरकार तक को 14 बार पत्र लिखे और कहा कि अगर भुगतान नहीं हुआ तो वह आक्सीजन की आपूर्ति नहीं कर सकेगी। मगर कमीशन के पेंच की वजह से भुगतान नहीं हो सका। उन्होंने कहा कि गोरखपुर मेडिकल कालेज में आक्सीजन की कमी के कारण अब तक 70 से ज्यादाबच्चों की मौत हो गयी। यह सीधे तौर पर आपराधिक लापरवाही से की गयी हत्या का मामला है। मंत्री से लेकर अधिकारी तक, जो भी इसके जिम्मेदार हैं, उन पर हत्या का मामला दर्ज करके उन्हें गिरफ्तार किया जाना चाहिये।

गोरखपुर मेडिकल कालेज में मरीजों का हाल लेने के बाद लखनऊ आये सिंह ने इस मामलेमें राज्य सरकार के रवैये पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि सरकार ने जांच पूरी हुए बगैर पहले ही यह एलान कर दिया कि बच्चों की मौत आक्सीजन की कमी की वजह से नहीं हुई है।  सिंह ने कहा कि गत नौ अगस्त को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर मेडिकल कालेजका दौरा किया लेकिन उन्हें कालेज में जारी इतनी गम्भीर अनियमितता के बारे में एहसास तक नहीं हो सका। अधिकारियों ने पहले की तरह उनसे यह मामला छुपा लिया। ‘आप’ प्रवक्ता ने कहा कि उन्होंने मेडिकल कालेज में हुई इन अनियमितताओं को सार्वजनिक करने के लिये सूचना का अधिकार कानून के तहत एक अर्जी दी है।  उन्होंने दावा किया कि गोरखपुर मेडिकल कालेज में पिछले 10 सालों में 5809 बच्चों की मौत हुई है। इस साल जनवरी से अब तक दिमागी बुखार से 771 बच्चों की मौत हुई है।हर साल इसको लेकर संसद से लेकर सड़क तक बवाल होता है लेकिन इसकी रोकथाम के लिये अब तक कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया।