सहकारिता विभाग उद्यमियों की तरह काम कर रहा है : मुकुट बिहारी


बहराइच : उत्तर प्रदेश के सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने कहा है कि उनका विभाग अब पुराने ढर्रे को छोड़ आधुनिक तौर तरीकों से लैस होकर उद्यमियों की तरह काम कर रहा है। सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने बताया कि प्रदेश में गेहूं की सरकारी खरीद में आधुनिक टेक्नोलॉजी, संचार माध्यमों तथा सोशल मीडिया के सफल इस्तेमाल से गत वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष चार गुना से अधिक रिकार्ड गेहू०५ खरीद का दावा किया।

उन्होंने कहा कि गत वर्ष साढ़े तीन लाख मीट्रिक टन के सापेक्ष इस साल 29 मई तक ही रिकार्ड साढ़े चौदह लाख मीट्रिक टन गेहू०५ खरीद कर उसका भुगतान भी किसानों के बैंक खातों में कर दिया गया है। वर्मा ने कहा कि सहकारी समितिया०५ अब पुरानी लचर कार्य पद्घति छोड़ विभिन्न उद्यम कर आधुनिक तरीकों को अपनाकर उद्यमी संस्थानों की तरह काम कर रही हैं। इसका असर भी दिखना शुरू हो गया है।

सहकारिता मंत्री ने बताया कि प्रदेश में बड़ी संख्या में किसान अब प्रधानमंत्री के डिजिटल इंडिया कार्यक्रम का हिस्सा बन चुके हैं। हाल के एक घटनाक्रम का हवाला देते हुए मंत्री ने बताया कि बहराइच के एक किसान मंसाराम वर्मा ने गेहू०५ खरीद में दिक्कत की ट्विटर पर शिकायत की तो विभाग ने तत्काल ना केवल किसान का गेहू०५ खरीद करवाया बल्कि संबंधित क्रय केंद्र का निरीक्षण करवाकर कार्रवाई भी की है।

वर्मा ने बताया कि प्रदेश में करीब एक करोड़ सदस्यों वाली 7500 साधन सहकारी समितिया०५ अब तक सिर्फ गेहू०५ तथा धान खरीद तथा खाद विक्रय से किसी तरह अपनी जीविका चला रही थीं। कर्मचारियों के वेतन तक नहीं निकल पाते थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर अब इन्हें उद्यमी संस्थानों की भांति लक्ष्य दिये गये हैं।

उन्होंने बताया कि समितियों के स्वामित्व वाले भवनों का व्यावसायिक इस्तेमाल करने को कहा गया है तथा खुले मैदानों को समारोहों के लिए किराए पर दिया जाएगा। वर्मा ने बताया कि केंद्र सरकार की अनुमति से उत्तर प्रदेश में पहली बार एग्रीक्लीनिक व एग्रीबिजनेस के लघु तथा दीर्घकालिक प्रशिक्षण कोर्स चलाए जा रहे हैं। ट्रेनिंग सेंटर ने शत प्रतिशत प्लेसमेंट के परिणाम दिए हैं।

– (भाषा)