क्यों नहीं दिया अध्यापक का वेतन


इलाहाबाद: इलाहाबाद हाईकोर्ट ने गोरखपुर के एक इंटर कॉलेज के टीचर की सैलरी मामले में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से जवाब मांगा है। साथ ही कोर्ट ने कॉलेज के प्रिंसिपल को भी नोटिस जारी किया है। बता दें, योगी आदित्यनाथ इस कॉलेज के प्रबंधक हैं। ये आदेश जस्टिस पीकेएस बघेल ने कॉलेज के टीचर राजाराम यादव की याचिका पर दिया है। जिसके मुताबिक सीएम योगी आदित्यनाथ महाराणा प्रताप इंटर कॉलेज की मैनेजिंग कमेटी के प्रबंधक हैं। राजाराम के वकील अरुण कुमार सिंह ने बताया कि योगी आदित्यनाथ ने अब तक मैनेजर के पद से इस्तीफा नहीं दिया है।

इस वजह से याचिका में उन्हें बतौर कॉलेज प्रबंधक पक्षकार बनाया गया है और नोटिस जारी हुआ है। प्राप्त जानकारी के अनुसार राजाराम यादव महाराणा प्रताप इंटर कॉलेज में सहायक अध्यापक हैं। एक आपराधिक मामले में उन्हें जेल जाना पड़ा और वे ढाई महीने तक जेल में रहे। जेल से बाहर आने के बाद उन्होंने अवकाश प्रार्थना पत्र दी, जिसे कॉलेज के प्रिंसिपल ने स्वीकार कर लिया। इसके बाद अब उनकी सैलरी नहीं दी जा रही है।

– ताहिर जाफरी