पुल बहने से आदि कैलाश यात्रा रुकी


नैनीताल: उत्तराखंड में पिथौरागढ़ के सीमांत एवं उच्च हिमालयी क्षेत्रों में दो दिनों से हो रही भारी बारिश के कारण नम्फा के पास पैदल यात्री पुल बह जाने से आदि कैलाश यात्रा को रोक दिया गया। मौसम विभाग ने प्रदेश में अगले पिछले चौबीस घंटे में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गयी है। पिथौरागढ़ में उच्च हिमालयी क्षेत्रों में जोरदार बारिश हो रही है। भारी बारिश के कारण आदि कैलाश यात्रा मार्ग पर गुंजी एवं कुटी गांव के बीच नम्फा नाले में पानी का बहाब तेज होने से उसपर बना पुल बह गया है। पुल के बहने से आदि कैलाश यात्रा मार्ग बाधित हो गयी है। यात्रा के तेरहवें दल को आज गुंजी से कुटी होते हुए आदि कैलाश के दर्शन के लिए जाना था। पुल के बहने के कारण यह दल आदि कैलाश दर्शन के लिए नहीं जा पाया।

पुल बहने की सूचना मिलने पर प्रशासन ने आदि कैलाश यात्री दल को सुरक्षा के लिहाज से गुंजी में ही रोक दिया गया है। प्रभारी जिलाधिकारी आशीष कुमार ने पीडब्ल्यूडी को जल्द वैकल्पिक रास्ता तैयार करने के आदेश दिये हैं। दूसरी ओर कुमाऊं मंडल विकास निगम के महाप्रबंधक टीएस मर्तोलिया एवं विशेष कार्याधिकारी डी.के। शर्मा ने बताया कि कैलाश मानसरोवर यात्रा पर भारी बारिश का कोई असर नहीं है। यात्रा सफलतापूर्वक संचालित हो रही है। श्री शर्मा ने आदि कैलाश यात्रा मार्ग पर पुल के बहने की पुष्टि करते हुए बताया कि निगम कैलाश मानसरोवर की तरह आदि कैलाश के दर्शन करवाता है। इस समय 13वां दल आदि कैलाश के दर्शनों के लिए गुंजी में रुका हुआ है।