स्वाइन फ्लू ने बदल लिया अपना रूप…


नई दिल्ली: आम तौर पर स्वाइन फ्लू का वायरस मौसम के ठंडा होने पर हावी होता है। लेकिन दिल्ली में पिछले एक महीने से इसके सैकड़ों मरीज सामने आए हैं। जानकारों के अनुसार इस समय जो फ्लू देखने को मिल रहा है, वह मिशीगन स्ट्रेन वायरस है। यह स्ट्रेन वायरस अभी विदेशों में ही पाया जाता था। इस वायरस की पहचान पिछले साल ही कर ली गई थी। लेकिन इस पर इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च स्टडी कर रहा है। जल्द इसकी वैक्सीन मार्केट में आ जाएगी।

दिल्ली में बाहर के मरीज ज्यादा…
दिल्ली में स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या बढ़ कर सात सौ को भी पार कर चुकी है। लेकिन स्टेट नोडल ऑफिसर डॉ एसएन रहेजा मानते हैं कि राजधानी में बाहरी राज्यों के मरीजों की संख्या भी ज्यादा रहती हैं। उनके अनुसार दिल्ली में स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या सात सौ को पार कर चुकी है। इसमें दिल्ली के बाहर के मरीजों की संख्या 199 है। जबकि छह अगस्त तक दिल्ली में इससे मरने वालों की संख्या केवल दो है। उनका कहना है कि इस समयावधि तक देश में डेंगू के 28702 केस सामने आए हैं। इनमें राजधानी में कुल 365 मामले दर्ज हैं जिनमें से 185 मरीज दिल्ली और 180 दूसरे राज्यों के हैं।

डब्ल्यूएचओ ने जारी की एडवाइजरी
बता दें कि वर्ष 2010 ने स्वाइन के जिस स्ट्रेन ने 77 लोगों की जान ली थी उसमें कैलीफोर्निया और मिशीगन स्ट्रेन दोनों वायरस थे। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने पिछले सप्ताह 8 देशों के लिए एडवाइजरी जारी की है, जिसमें मशीगन स्ट्रेन वायरस पाया गया है। इन देशों में भारत भी शामिल है।

कितना खतरनाक है ये स्ट्रेन…
एम्स के कम्यूनिटी मेडिसीन के डॉ. हर्षल साल्वे बताते हैं कि इससे घबराने की जरूरत नहीं है। स्वस्थ व्यक्तिको यह वायरस ज्यादा हानि नहीं पहुंचा पाता है। वहीं अन्य व्यक्तियों में भी यह एक सप्ताह में ठीक हो जाता है। लेकिन व्यक्ति अगर बुजुर्ग, बच्चा या गर्भवती महिला है या उसे किडनी, हार्ट या डायबिटीज जैसी कोई बीमारी है तो ऐसे लोगों में यह वायरस तेजी से नुकसान करता है।

कैसे करें बचाव…
इस वायरस से बचाव के लिए बच्चों, बुजुर्ग और गर्भवती महिलाओं को स्वाइन फ्लू का टीका लगवाना चाहिए। साथ ही जिस व्यक्ति को संक्रमण हो जाए उसे मास्क लगाकर रहना चाहिए, ताकि यह संक्रमण किसी और को न हो सके। इसके अलावा बुखार होने पर डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। इस बीमारी को लेकर लापरवाही बरतने की जरूरत नहीं है, क्योंकि ये घातक हो सकता है।

सफदरजंग में दो दिन में दो की मौत
सफदरजंग अस्पताल में बीते दो दिनों में दो मरीजों की मौत हो गई है। इन दो मौतों के साथ ही दिल्ली में स्वाइन फ्लू से मरने वालों की संख्या 18 हो गई है। अस्पताल प्रशासन के अनुसार एक मौत बीते गुरुवार और दूसरी शुक्रवार को हुई है। दोनों ही मरीज दिल्ली से बाहर के थे। शुक्रवार को जिस मरीज की मौत हुई है, उसे मेरठ के एक निजी अस्पताल ने रेफर किया था। स्नाइन फ्लू को लेकर लोगों में दहशत का माहौल बना हुआ है।

Choose A Format
Poll
Voting to make decisions or determine opinions
Story
Formatted Text with Embeds and Visuals
List
The Classic Internet Listicles
Video
Youtube, Vimeo or Vine Embeds
Thanks for loving our story. Like our Facebook page to get more stories.

Send this to a friend