मकर संक्रांति के दिन बिल्कुल भी ना करें ये काम वरना पूरे साल दुर्भाग्य देगा दस्तक


makar sankranti

14 जनवरी को मकर संक्रांति का पर्व आ रहा है जो हिन्दू धर्म में काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। शास्त्रों के अनुसार किसी राशि विशेष पर भ्रमण करना संक्रांति कहलाता है। और 14 जनवरी के दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है इसलिए ये पर्व मकर संक्रांति कहलाता है।

makar sankrantiसूर्य का उत्तरायण होने की वजह से इस समय अगर जप और दान किया जाता है तो उसका फल सबसे उत्तम माना जाता है। सूर्य और शनि का सम्बन्ध होने की वजह से ये पर्व और भी शुभ हो जाता है। ज्योतिष गणना के अनुसार इस दिन सूर्य अपने पुत्र शनि से मिलने आते है और इस दिन सच्चे मन से मांगी गयी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती है।

makar sankrantiअगर आप किसी कार्य को शुरू करने जा रहे है तो ये दिन अति शुभ माना जाता है। शुक्र के उदय भी इसी समयकाल में होता है तो शुभकार्यों के लिए इससे उत्तम समय क्या हो सकता है। हाँ इतना ध्यान में रखे की इस शुभ दिन में कई कार्य वर्जित भी है जो भूलकर भी न करें।

makar sankrantiआईये विस्तार से जानते है इस दिन क्या कार्य निषेध है और कैसे आप इस दिन का शुभ फल प्राप्त कर सकते है। कुछ लोग सुबह उठते ही चाय और स्नैक्स खाना शुरू कर देते हैं लेकिन शुभ दिन ऐसा ना करें।

makar sankrantiइस दिन बिना स्नान किए भोजन का सेवन नहीं करना चाहिए। मान्यता है कि इस दिन गंगा या किसी नदी में जाकर स्नान करना चाहिए इसलिए गंगा या पवित्र नदी ना सही लेकिन कम से कम घर पर स्नान जरूर करना चाहिए।

makar sankrantiमहिलाओं को मकर संक्रांति के दिन बाल नहीं धुलना चाहिए। पुण्यकाल में दांत भी नहीं मांजने चाहिए।’इस दिन घर के अंदर या बाहर किसी पेड़ की कटाई-छंटाई भी नहीं करनी चाहिए।

makar sankranti‘मकर संक्रांति के दिन आप किसी भी तरह का नशा नहीं करें। शराब, सिगरेट, गुटका आदि जैसे सेवन से आपको बचना चाहिए। इस दिन मसालेदार भोजन का सेवन नही करना चाहिए।इस दिन तिल, मूंग दाल की खिचड़ी इत्यादि का सेवन करना चाहिए और इन सब चीजों का यथाशक्ति दान करना चाहिए।

देश और दुनिया का हाल जानने के लिए जुड़े रहे पंजाब केसरी के साथ।