भारत के नोटो पर गांधी जी की फोटो का जानिए रहस्य


आपने कभी सोचा है कि नोट पर महात्मा गांधी की फोटो क्यों बनी होती है। आपने सोचा तो कई बार होगा कि आखिर यह नोट पर महात्मा गांधी जी की फोटो क्यों होती है । हमारे देश में वैसे तो क्रांतिकारियों की कमी नहीं है लेकिन फिर भी हमारे देश की करेंसी पे महात्मा गांधी की फोटो क्यों? वैसे तो पैसो के लिए इतनी मारामारी हैं कि पैसो के मामले में तो लोग एक-दूसरे का खून करने तक के लिए तैयार हो जाते हैं।आपने वह गाना तो सुना ही होगा कि ना बाप बड़ा ना भैया, सबसे बड़ा रूपैया।

जी हां, आजकल पैसे के बिना किसी का भी गुजारा नहीं है। बाप हो या आपका छोटा भाई हर कोई पैसे के लिए आपके आस-पास घूमते हैं। अगर आपके पास पैसा ना हो तो लोग आपसे दूरी बनाकर चलते हैं कि कहीं आप उनसे पैसे मांगना शुरू ना कर दें।

आपको बता दें कि यह बात बिल्कुल सच है कि देश को आजादी दिलाने वाले कोई और नहीं बल्कि महात्मा गांधी ही थे। महात्मा गांधी जी ने न केवल आजादी दिलायी बल्कि वह तो क्रंातिकारी भी थे उन्होंने बहुत से संधर्ष किए । आज हम आपको बताते हैं कि नोट पर महात्मा गांधी की फोटो क्यों हैं।

पहली बात तो यह है कि गांधी जी चाहे इंडिया में हो या इंडिया से बाहर सबसे ज्यादा मान्यता देने के योग्य गांधी जी ही थे। गांधी जी को हर कोर्ई जनता था इंडिया में तरह-तरह के लोग हैं हर राज्य के लोग यही चाहते हैं कि करेंसी पर हमारे राज्य के हीो की फोटो हो ।

केरेंसी पर महात्मा गांधी जी की फोटो को लगाने का मतलब यह था कि गांधी जी ही मजहब एक ऐसे व्यक्ति थे जो हर धर्म का पालन किया करते थे जो सभी जाति के बीच रह कर तालमेल बना कर चलते थे। वहीं हमारे देश के राष्ट्रपिता भी थे।