सोशल मीडिया के कॉमेडी किंग ”मास्टर भी कह दे इसे न पढ़ाना नाम है इनका अमित भड़ाना”


आज लोग अक्सर वही काम करना पसंद करते हैं जिसे कोई दूसरा भी कर रहा हो। वो यह नहीं देखते कि मेरी विशेषता क्या है। बस चल देते हैं उस रास्ते पर जो या तो किसी और ने दिखाया हो या किसी अपने ने बताया हो। लेकिन मेरा मानना है कि कुछ अलग करने की ललक ही हमें एक विशेष पहचान देती है।
भेड़चाल हमारा टैलेंट और हमारी पहचान दोनों ही हमसे छीन लेती है। यह कहना है युवा दिलों के चहेते और सोशल मीडिया पर देसी कॉमेडी किंग अमित भड़ाना का। ‘तेरे भाई ने करदी है जिम शुरू, जिसको चाहू उसको लपेत दु’ ‘मास्टर भी कह दे इसे ने पढ़ाना क्योंकि नाम है इसका अमित बड़ाना’ यह अमित के कुछ ऐसे डॉयलाग्स है जो उन्हेें अन्य लोगों को से अलग बनाते है साथ ही उन्हें एक विशेष पहचान दिलवाते हैं। अमित ने पिछले दिनों पंजाब केसरी कार्यालय में शिरकत की जहां उन्होंने अपने जीवन से जुड़े अनुभवों को संझा किया।
डबिंग वीडियो से हुई करियर की शुरुआत
अमित भड़ाना के अनुसार वे स्कूल टाइम से ही क्लास में हंसी मजाक करके लोगों और छात्रों को हंसाने का प्रयास किया करते थे। जब मैंने लॉ कॉलेज में एडमिशन लिया तो कॉलेज की छुट्टियों में मैंने एक डबिंग वीडियो बनायीं और फेसबुक पर अपलोड कर दी। लोगों ने उसे बहुत पसंद किया और यहीं से मेरे करियर की शुरुआत हुई। पहले मैं डबिंग वीडियो ही बनाया करता था।
क्योंकि मैं डरता था कि कहीं परिवार के सदस्यों से मुझे डांट न पड़े। लेकिन जब परिवार को मेरी वीडियो पसंद आने लगा तो मैंने अपना चेहरा भी वीडियो में लाना स्टार्ट कर दिया। लेकिन फिर भी अक्सर लोग यहीं कहा करते थे की इन वीडियो में तुम्हे कुछ नहीं मिलने वाला और जो तुम लॉ की पढ़ाई कर रहे हो यही तुम्हारा करियर बनाएगी। अमित के अनुसार उन्होंने पढ़ाई के साथ-साथ वीडियो बनाने का कार्य भी जारी रखा। जब बॉडर फिल्म की डबिंग से मुझे लाखों लोगों का प्यार मिला तो मेरा आत्मविश्वास बढ़ गया।
वीडियो अपलोड के कुछ समय बाद जब मैंने अपना फेसबुक ओपन किया तो देखा बहोत सारे लोगों के उसपर लाइक्स और कमैंट्स आ चुके थे। लोगों को मेरा यह वीडियो बहुत पंसद आया था। सबने मुझे कमैंट्स में कहा कि तुम ऐसे वीडियो बनाते रहो। तुम इस काम को अच्छे से कर सकते हो। फिर मैंने फिर अपनी गुज्जर भाषा में एक वीडियो अपलोड किया और  कुछ समय बाद सबके प्यार और आशीर्वाद से मैं लोगो की नजर में आ गया। मैंने अपनी शुरुआत फेसबुक  से की थी। बाद में मैंने यूट्यूब पर चैनल बनाया और वीडियोस अपलोड करने लगा।
मैं खुद भी देसी लोगोंं का ही फेन हूं
लोग अक्सर देसी लोगों को गंवार समझते हैं। मेरा मानना है कि देसी लोग ही सबसे बड़े जुगाडू होते हैं। जो किसी भी परिस्थितियों में अपना काम निकाल लेते हैं। मैं कहना चाहता हूं देसी लोगों को गंवार मत समझो। आज मुझे भी जो पहचान मिली है वो मेरे देसी स्टाइल से ही मिली है और मैं खुद भी देसी लोगोंं का ही फेन हूं।
आने वाले दिनों में मैं अपने देसी स्टाइल से ही लोगों को महिला सशक्तिकरण, समाज में लोगों का सम्मान और संयुक्त परिवार का संदेश देने वाला हूं। मुझे अच्छा लगा कि लोगों ने मेरी भाई बहन वाली वीडियो को भी बहुत सराहा। मेरी टीम ही मेरी ताकत है और मुझे पता है आज मैं जो भी हूं अपने टीम के साथ से ही हूं। हमने आज तक जो भी वीडियो पर काम किया है मिल कर किया है। मैं आगे भी अपनी इसी टीम के साथ मिल कर काम करता रहुंगा।
सोशल मीडिया पर कम समय में लाखों लोगों की पसंद बने अमित
अमित बड़ाना आज एक ऐसा चेहरा है जो सोशल मीडिया पर आज युवा दिलों का चहेता बन चुका है। बता दें कि अमित ने बहुत कम समय में एक अलग पहचान पाई है। आज सोशल मीडिया पर अमित के लाखों चाहने वाले हैं और अमित के नाम एक रिकार्ड भी है जिसमें उन्होंने कॉमेडी में सबसे कम समय में मीलियन सबस्क्राइबर्स पाएं हैं।
अमित का कहना है कि मेरा प्रयास यह रहता है कि मैं अपने काम को बेस्ट से बेस्ट कर संकु। अक्सर लोग इस लिए भी अपना आत्मविश्वास खो देतें है जब दो से चार शब्दों में लोगों द्वारा की गई टिप्पणियां उनके काम का नकार देती हैं।
 मेरा मानना है कि अपने काम को इतना बेस्ट करो कि अगर कोई आपको टिप्पणी भी करता है तो आप उसे यह कह सकें की शायद तुझे ही यह वीडियो पंसद नहीं है लेकिन मैंने इसमें जितनी महनत की है मुझे तो यह बेहद पंसद है। आज अमित स्क्रिप्टिंग, डायलॉग, वीडियो एडिटिंग सब खुद ही कर लेते हैं। अमित बड़ाना का विशेष इंटरव्यू देखने के लिए फेसबुक पर सर्च करें  PunjabKesari.com
हमारी मुख्य खबरों के लिए यह क्लिक करे