ये है दुनिया के 10 अरबपतियों के विचार


संसार में ऐसा कोई नहीं होता जो अमीर न बनना चाहता हो, हम हमारी बड़ी सोच से ही कुछ बड़ा कर सकते है। अगर हम कुछ करने के बारे में सोचेंगे तभी हमारे भीतर उसे करने के विचार आएंगे और हम उसके लिए कुछ एक्शन भी लेंगे। यह सब तभी होगा जब हम ऐसे लोगों की स्टोरी या उनके विचारों के बारे में पढ़ेंगे व उनपर अमल करेंगे जिन्होंने अपनी लाइफ में बड़ी सक्सेस हासिल की है।

बिल गेट्स  विजेता बनने का एक हिस्सा ये जानना है कि कब हद पार हो चुकी है। कभी -कभी आपको लड़ाई छोड़ कर जाना पड़ता है , और कुछ और करना होता है जो अधिक प्रोडक्टिव हो।

डोनाल्ड  ट्रम्प – जब दुनिया बदलने की बात हो तो कोई भी काम छोटा नहीं है …मैन जब भी किसी ऐसे उद्द्यमी से मिलता हूँ जो सभी बाधाओं के खिलाफ सफल हो रहा हो तो मुझे प्रेरणा मिलती है।

ली का -शिंग – मैं जैसे -जैसे बूढ़ा हो रहा हूँ , मैं इस बात पर कम ध्यान देता हूँ कि आदमी क्या कह रहा है। मैं बस देखता हूँ कि वो क्या कर रहा है।

एंड्रू  कार्नेगी – जिसे और लोग विफलता का नाम देने या कहने की कोशिश करते हैं , मैंने सीखा है कि वो बस भगवान् का आपको नयी दिशा में भेजने का तरीका है।

ओपराह विनफ्रे – ये मत सोचो कि तुम्हे रोका नहीं जा सकता या तुमसे गलती नहीं हो सकती। ये मत सोचो कि तुम्हारा बिजनेस सिर्फ परफेक्शन के साथ काम करेगा। परफेक्शन को लक्ष्य मत बनाओ, सफलता को लक्ष्य बनाओ।

एके  बतिस्ता – मेरे लिए व्यवसाय बसों की तरह है।  आप एक कोने में खड़े होते हैं और पहली बस जहाँ जा रही है वो आपको पसंद नहीं ? दस मिनट प्रतीक्षा कीजिये और दूसरी ले लीजिये, ये भी पसंद नहीं ? वे आती रहेंगी, बसों और व्यवसायों का कोई अंत नहीं है।

मार्क जुकरबर्ग – वफादारी सबसे पहला होने से नहीं जीती जाती , ये सबसे अच्छा होने से जीती जाती है।

मुकेश अम्बानी – व्यवसाय पर आधारित मित्रता , मित्रता पर आधारित व्यवसाय से बेहतर है।

लक्ष्मी  मित्तल – यदि लोग आपके लक्ष्य पर हंस नहीं रहे हैं तो आपके लक्ष्य बहुत छोटे हैं।

जे. पॉल  गेट्टी – शायद विजन ही हमारी सबसे बड़ी ताकत है …इसने हमें सदियों से विचारों की शक्ति और निरंतरता के माध्यम से ज़िंदा रखा है , ये हमें भविष्य में झाँकने और अज्ञात को आकार देने में सहायक होता है।