दुनिया की एक ऐसी सल्तनत, जिसमें रहते हैं सिर्फ 11 लोग


एक वक्त था जब हिंदुस्तान की सीमायें कन्याकुमारी से लेकर अफगानिस्तान तक थीं। आपने दुनिया के बड़े – बड़े साम्राज्यों के किस्से सुने होंगे। चंगेज़ ख़ां की बादशाहत जो चीन से लेकर हिंदुस्तान की दहलीज़ तक फैली थी। मुग़लिया सल्तनत जिसका विस्तार काबुल-कंधार से लेकर कर्नाटक तक था। लेकिन आज हम आपको दुनिया के सबसे छोटे बादशाह और उसकी सल्तनत के बारे में बतायेंगे। इस राजा के राज्य में कुल 11 लोग रहते हैं। वो भी पार्ट टाइम। इस राज्य का राजा अपनी नाव और रेस्टोरेंट चलाते हैं। वो सामान्य तौर पर हाफ पैंट और सैंडल पहनते हैं। इस किंगडम का नाम है किंगडम ऑफ टवोलारा।

Source

किंगडम ऑफ टवोलारा

Source

यूरोप के इटली के सार्डीनिया प्रांत के पास भूमध्य सागर में स्थित ये एक बेहद छोटा-सा द्वीप है। ये किंगडम, इटली के बतौर एक देश अस्तित्व में आने से पहले से मौजूद है। किंगडम ऑफ़ टवोलारा असल में टवोलारा नाम के एक छोटे से जज़ीरे पर फैला हुआ है। इसकी कुल लंबाई-चौड़ाई पांच वर्ग किलोमीटर है।

किंगडम ऑफ टवोलारा सल्तनत

Source

किंगडम ऑफ टवोलारा के राजा का नाम एंतोनियो बर्तलिओनी हैं। हालांकि एंतोनियो बर्तिलिओनी का रहन-सहन, खान-पान सब कुछ आम लोगों जैसा ही है। उनके मुताबिक बतौर राजा उन्हें सिर्फ मुफ्त भोजन की सुविधा ही मिलती है. लेकिन ये मुफ्त का खाना उन्हें अपने ही रेस्टोरेंट से मिलता है।

मना रहा है स्थापना की 180वीं सालगिरह

Source

किंगडम ऑफ़ टवोलारा इस साल अपनी स्थापना की 180वीं सालगिरह मना रहा है. आज के दौर में एक द्वीप पर बसे एक साम्राज्य की बातें मज़ाक़ लगेंगी। मगर, यहां के लोग और राजा एंतोनियो बर्तलिओनी इसे लेकर बेहद गंभीर हैं। पूछे जाने पर वो कई पुश्तों का इतिहास बताते हैं।

Source

एंतोनियो बर्तलिओनी के मुताबिक़ उनके परदादा के परदादा, गुसेप बर्तलिओनी 1807 में दो बहनों से शादी करके इटली से भाग आए थे। उस वक़्त इटली एक देश नहीं था, बल्कि इसका सार्डीनिया सूबा एक अलग साम्राज्य के तौर पर आबाद था। यहां दो शादियां करना गुनाह था. इसीलिए गुसेप बर्तलिओनी भागकर इस द्वीप पर आकर बस गए।

कई देशों राजाओं के साथ समझौते 

कई देशों के राजाओं के साथ टवोलारा के राजाओं ने समझौते भी किए। इनमें से एक इटली के संस्थापक कहे जाने वाले गुसेप गैरीबाल्डी भी थे। उस वक़्त के सार्डीनिया के राजा विटोरियो इमैनुअल द्वितीय ने तो 1903 में टवोलारा के साथ शांति समझौता भी किया था।

बकिंघम पैलेस में तस्वीर 

Source

उन्नीसवीं सदी में ब्रिटेन की महारानी विक्टोरिया ने दुनिया भर के राजाओं की तस्वीरें इकट्ठी करने का मिशन शुरू किया था। इस दौरान एक जहाज़ उन्होंने टवोलारा भी भेजा था ताकि यहां के शाही ख़ानदान की तस्वीर भी उतारी जा सके। उस दौर की तस्वीर बरसों तक इंग्लैंड के बकिंघम पैलेस की शान बढ़ाती रही।

टवोलारा जैसे ही कुछ छोटे-छोटे और देश

1. रेडोंडा-इंग्लैंड के साउथैम्पटन स्थित एक इलाक़े ने धूम्रपान पर पाबंदी से बचने के लिए ख़ुद को अलग मुल्क़ घोषित कर दिया था.

2. टोंगा-प्रशांत महासागर स्थित ये देश 748 वर्ग किलोमीटर में फैला है. इसकी आबादी एक लाख छह हज़ार है. इसे 1773 में ब्रिटिश कैप्टन जेम्स कुक ने खोजा था. कैप्टन कुक ने इसे दोस्ताना द्वीप कहा था, जबकि सच्चाई ये थी कि यहां के बाशिंदे उन्हें मारना चाहते थे.

3. ब्रुनेई-5 हज़ार 765 वर्ग किलोमीटर में फैले ब्रुनेई की आबादी 4 लाख 13 हज़ार है. यहां के लोगों पर कोई टैक्स नहीं लगता. ब्रुनेई के सुल्तान, दुनिया के सबसे अमीर लोगों में से एक हैं.

4. स्वाज़ीलैंड-अफ़्रीका में स्थित इस देश का आकार 17 हज़ार 360 वर्ग किलोमीटर है. इसकी क़ुदरती ख़ूबसूरती की वजह से इसे रहस्यों से भरा देश कहा जाता है. यहां की कुल आबादी क़रीब 13 लाख है.

5. लेसोथो-दक्षिण अफ्रीका में बसा ये देश 30 हज़ार वर्ग किलोमीटर में फैला है. ये समुद्र तट से काफ़ी नीचे इलाक़े में बसा है. इसकी आबादी क़रीब बीस लाख है.

log in

reset password

Back to
log in
Choose A Format
Poll
Voting to make decisions or determine opinions
Story
Formatted Text with Embeds and Visuals
List
The Classic Internet Listicles
Video
Youtube, Vimeo or Vine Embeds
Thanks for loving our story. Like our Facebook page to get more stories.

Send this to a friend