आपके व्यक्तित्व की पहचान कराते है आपके पसंदीदा गाने


अगर आपको कहा जाए कि आपके पसंदीदा गाने आपकी मन: स्थिति का परिचय देते हैं तो क्या आपको इस बात पर यकीन होगा? खैर! आपको इस बात पर यकीन हो या न हो लेकिन तमाम विशेषज्ञ इस बात पर सहमति जताते हैं कि व्यक्ति विशेष के पसंदीदा गाने उसकी मानसिक स्थिति बताते हैं। यही नहीं गानों के कलेक्शन से यह भी पता लगाया जा सकता है कि किसी का व्यक्तित्व कैसा है, उसे किस तरह की चीजें पसंद हैं? असल में हर गाना विशेष किस्म का व्यक्तित्व लिये होता है। मनोवैज्ञानिकों की मानें तो गानों के जरिये किसी के रिश्ते में आयी खटास, खुशी आदि का भी पता लगाया जा सकता है। जैसे कि यदि किसी का दिल टूटता है तो वह ऐसे गाने सुनना पसंद करता है जिसमें टूटे दिल की बात कही जाती है। बहरहाल आइये जानते हैं कौन सा गाना क्या कहता है?

क्लासिकल, लोक संगीत-

                                                                               source

यदि आप क्लासिकल या लोक संगीत सुनते हैं तो इससे पता चलता है कि आप चिंतनशील हैं। किसी भी विषय में गहन चिंतन करना आपकी आदत है। इसके अलावा आपके लिए यह भी कहना चाहिए कि आपका व्यक्तित्व काफी हद तक जटिल भी है। दरअसल आप चीजों को सरल अंदाज में देखने की बजाय जटिल अंदाज में देखना पसंद करते हैं। यही कारण है कि लोगों को आसानी से समझ नहीं आते।

धूमधाम से भरे संगीत-

                                                                        source

यदि आप इस तरह के म्यूजिक सुनना पसंद करते हैं तो यह कहना मुश्किल नहीं होगा कि आप विद्रोही किस्म के व्यक्ति हैं। यही कारण है कि छोटी-छोटी चीजों को लेकर भी किसी के साथ विद्रोह करने में हिचकते नहीं हैं। वैसे भी धूमधाम भरे संगीत ऐसे होते हैं जो सामान्यत: सबको पसंद नहीं आते। इन्हें सुनने के लिए भी दूसरों से विद्रोह करना ही होता है।

देश संगीत, धार्मिक संगीत– देश संगीत और धार्मिक संगीत इस बात की ओर इशारा करते हैं कि आप बेहद सामान्य सोच रखते हैं। पारंपरिक चीजों पर आपका खासा विश्वास है। यही नहीं चीजों को जटिल करके देखना आपको आता ही नहीं है। बेकार की चीजों पर आपको जरा भी भरोसा नहीं है। आप चाहते हैं कि हर चीज पारंपरिक तरीके से ही चले ताकि जीवन में किसी प्रकार की समस्याएं ही न आएं।

रैप-

                                                                             source

हालांकि इन दिनों रैप का खासा चलन भारत में देखा जा रहा है, लेकिन अगर गौर से देखा जाए तो रैप सिर्फ युवा और किशोरों को ही रिझाने में कामयाब हुए हैं जबकि वयस्क और वृद्ध रैप सुनना कतई पसंद नहीं करते। इसका मतलब साफ है जो कि ताल से ताल मिला सकते हैं, एनर्जी दिखा सकते हैं, रैप जैसे संगीत उन्हीं लोगों को आकर्षित करते हैं। आप सोच-विचार से परे के शक्स हैं यदि रैप पसंद करते हैं। हर काम खुदगर्जी के रूप में करते हैं। इस बात से आपको कोई फर्क नहीं पड़ता कि कौन आपके बारे में क्या सोचता है।

प्रेम संगीत– जिन्हें अपने रिश्तों पर भरोसा है, जिन्हें अपने आप पर भरोसा हो, वे अक्सर प्रेम संगीत सुनते हैं। यही नहीं प्रेम संगीत उन्हें प्रेरित भी करता है और सबसे प्रेम करने की सीख भी प्रदान करती है। यही कारण है इस तरह के संगीत सुनने वाले सबसे प्रेम करते हैं और दूसरों में प्रेम बांटने की हर संभव कोशिश करते हैं।

पारंपरिक संगीत-

                                                                           source

जो लोग पारंपरिक संगीत सुनते हैं वे असल में बेहद अंतर्मुखी होते हैं। साथ ही रूढि़वादी भी। दरअसल पारंपरिक संगीत सुनने वाले ये कतई नहीं चाहते कि समाज में या उनके इर्द-गिर्द किसी भी तरह का बदलाव हो। वास्तव में उन्हें बदलाव पसंद ही नहीं आते और न ही उन्हें बदलाव में किसी प्रकार की खुशी मिलती है।

Choose A Format
Poll
Voting to make decisions or determine opinions
Story
Formatted Text with Embeds and Visuals
List
The Classic Internet Listicles
Video
Youtube, Vimeo or Vine Embeds
Thanks for loving our story. Like our Facebook page to get more stories.