दूसरे टी-20 में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 8 विकेट से हराया


गुवाहाटी : तेज गेंदबाज जैसन बेहरनडोर्फ की कातिलाना गेंदबाजी और मोएजेस हेनरिक्स के आकर्षक अर्धशतक से आस्ट्रेलिया ने दूसरे ट्वेंटी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में आज यहां भारत को 27 गेंद शेष रहते हुए आठ विकेट से हराकर तीन मैचों की श्रृंखला 1-1 से बराबर करायी। गेंदबाजी का आगाज करने वाले बेहरनडोर्फ ने लगातार चार ओवर किये और 21 रन देकर चार विकेट लिये। लेग स्पिनर एडम जंपा (19 रन देकर दो विकेट) ने उनका अच्छा साथ दिया। मार्कस स्टोइनिस, नाथन कूल्टर नाइल और एंड्रयू टाइ ने भी एक एक विकेट लिया और भारत को निर्धारित 20 ओवर में 118 रन पर आउट कर दिया। भारत के केवल दो बल्लेबाज केदार जाधव (27) और हार्दिक पंड्या (25) ही 20 रन की संख्या पार कर पाये। आस्ट्रेलिया की भी शुरूआत अच्छी नहीं रही लेकिन पहले दो विकेट 13 रन पर गंवाने के बाद हेनरिक्स (46 गेंदों पर नाबाद 62) और ट्रेविस हेड (34 गेंदों पर नाबाद 48) ने तीसरे विकेट के लिये 109 रन की अटूट साझेदारी की।

इससे आस्ट्रेलिया 15.3 ओवर में दो विकेट पर 122 रन बनाकर आसान जीत दर्ज करने में सफल रहा। इन दोनों टीमों के बीच अब हैदराबाद में 13 अक्तूबर को होने वाला तीसरा टी20 मैच निर्णायक बन गया है। आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया और भारत की मजबूत लाइनअप को नहीं टिकने दिया। भारत ने भी कप्तान डेविड वार्नर (दो) और उनके साथी सलामी बल्लेबाज आरोन फिंच (आठ) दोनों को पहले तीन ओवर के अंदर पवेलियन भेजकर गेंदबाजी में अच्छी शुरूआत की। इन दोनों के कैच कप्तान विराट कोहली ने लिये। उन्होंने पहले जसप्रीत बुमराह की गेंद पर वार्नर के शाट को कैच में बदला और फिर अगले ओवर में कवर क्षेत्र में ही फिंच का कैच लपका। इस बार गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार थे। हेनरिक्स और हेड ने इसके बाद बखूबी जिम्मेदारी संभाली। विकेट से गेंदबाजों को मदद मिल रही थी लेकिन बल्लेबाजों को उसमें कुछ देर तक टिककर खेलने की जरूरत थी। आस्ट्रेलिया के इन दोनों बल्लेबाजों ने यही रणनीति अपनायी और बड़े शाट खेलने के लिये ढीली गेंदों का इंतजार किया। हेनरिक्स ने बुमराह के अलावा कुलदीप यादव पर भी छक्का लगाकर गेंदबाजों को पस्त किया। हेनरिक्स इसके बाद भी लंबे शाट खेलते रहे। उन्होंने कुलदीप पर लांग आफ और मिडिवकेट पर छक्के जड़कर टी20 अंतरराष्ट्रीय में अपना दूसरा अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने अपनी पारी में चार छक्के और चार चौके लगाये जिनमें युजवेंद, चहल पर लगाया गया विजयी चौका भी शामिल है। हेड ने अपनी पारी में पांच चौके और एक छक्का लगाया।

इससे पहले टास ने फिर से कोहली का साथ नहीं दिया और भारत को पहले बल्लेबाजी के लिये उतरना भारी पड़ गया। बेहरनडोर्फ ने पहले ओवर में ही रोहित शर्मा (आठ) और कप्तान कोहली (शून्य) को पवेलियन भेज दिया। बायें हाथ के इस तेज गेंदबाज ने इसके बाद अपने अगले दो ओवरों में मनीष पांडे (छह) और शिखर धवन (दो) को आउट करके बारसापरा स्टेडियम में मौजूद दर्शकों को सन्न कर दिया। भारत का स्कोर चार विकेट पर 27 रन हो गया जिससे वह आखिर तक नहीं उबर पाया। रोहित ने अपने कदमों का इस्तेमाल नहीं किया और पगबाधा आउट हुए जबकि इसी ओवर की आखिरी गेंद कोहली के पैड और बल्ले के अंदरूनी किनारे से लगकर वापसी गेंदबाज के पास पहुंच गयी। बेहरनडोर्फ ने पांडे ने खूबसूरत गेंद पर विकेट के पीछे कैच कराया तो धवन को डेविड वार्नर ने बेहतरीन कैच के जरिये पवेलियन की राह दिखायी।

महेंद्र सिंह धोनी (13) पर बड़ी जिम्मेदारी थी लेकिन वह जंपा की तेजी से स्पिन लेती गेंद को आगे बढ़कर खेलने के प्रयास में स्टंप आउट हो गये। जाधव फिर से गुगली का जवाब नहीं ढूंढ पाये। जंपा ने अगले ओवर में इस तरह की गेंद पर उनकी गिल्लियां बिखेरी जबकि कूल्टर नाइल ने भुवनेश्वर (एक) को तुरंत ही कैच आउट करवा दिया। पंड्या पर भी दबाव था और उनकी मौजूदगी के बावजूद गेंद सीमा रेखा के दर्शन करने के लिये तरस गयी। पंड्या ने एंड्रयू टाई पर छक्का जड़कर दर्शकों में कुछ जोश भरा। यह आलराउंडर हालांकि इसके तुरंत बाद स्टोइनिस की गेंद को लांग आफ पर कैच के लिये उछाल बैठा। इससे भारत की डेथ ओवरों में तेजी से रन बनाने की उम्मीदों को गहरा झटका लगा। दोहरे अंक में पहुंचने वाले चौथे बल्लेबाज कुलदीप यादव (16) पारी की आखिरी गेंद पर आउट हुए।

Choose A Format
Poll
Voting to make decisions or determine opinions
Story
Formatted Text with Embeds and Visuals
List
The Classic Internet Listicles
Video
Youtube, Vimeo or Vine Embeds
Thanks for loving our story. Like our Facebook page to get more stories.

Send this to a friend