वनडे के बाद बारी T20 की


वेस्टइंडीज से 5 मैचों की वनडे सीरीज के बाद अब टीम इंडिया टी20 मुकाबले को जीतने के लिए मैदान पर उतरेगी। यह मुकाबला किंगस्टन जमैका के सबीना पार्क ग्राउंड में आज रात 9:30 बजे से खेला जाएगा।

भारत की टीम की ICC T20 रैंकिंग में चौथे स्थान पर है वही वेस्टइंडीज की टीम भी ज़्यादा पीछे नहीं है वह ICC T20 रैंकिंग में पांचवे स्थान पर है। बात करे रैंकिंग की तो दोनों टीमों में कोई ज़्यादा फर्क नहीं है,
और दोनों टीमों में एक से बढ़कर एक बल्लेबाज हैं जो अपने दम पर मैच का रुख बदलने का माद्दा रखते हैं,
ऐसे में दोनों टीमों के बीच कांटे की टक्कर होना तय है।

गेल हो सकते है खतरनाक

भारत को क्रिस गेल से सतर्क रहना होगा टी20 क्रिकेट के बादशाह गेल के बल्ले पर अंकुश लगाना होगा। गेल चोटों और खराब फॉर्म के कारण 15 महीने बाद राष्ट्रीय टीम में लौटे है। हालांकि आईपीएल में भी वह अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके थे। लिहाजा भारत का पलड़ा भारी रहने की उम्मीद है।

टीम इंडिया भी नहीं है किसी से कम

हालांकि दूसरे ओपनर अजिंक्य रहाणे जबरदस्त फॉर्म में हैं। उन्होंने वनडे सीरीज में शानदार प्रदर्शन करते हुए एक शतक और तीन अर्धशतक की मदद से 350 रन बनाए हैं। वहीं टीम में ऋषभ पंत को मौका दिया जा सकता है। इस मुकाबले में नजरें महेन्द्र सिंह धोनी पर भी होंगीं। चौथे वनडे में अपनी धीमी पारी के चलते भारत की हार का कारण बने धोनी पर इस मैच में अपनी उपयोगिता साबित करने का दबाव होगा।

वहीं लोअर मिडल आर्डर में केदार जाधव, हार्दिक पंड्या टीम को तेजी देनी होगी। गेंदबाजी की बात करें, तो टीम इंडिया भुवनेश्वर कुमार को प्लेइंग इलेवन में शामिल कर सकती है। भुवी के अलावा मोहम्मद शमी दूसरे तेज गेंदबाज के रूप में टीम का हिस्सा बन सकते हैं। वहीं स्पिन गेंदबाजी में कुलदीप यादव की जगह पक्की है और रवींद्र जडेजा दूसरे स्पिन गेंदबाज के रूप में टीम में शामिल किए जा सकते हैं।

वेस्टइंडीज की टीम

टी 20 में वेस्टइंडीज मौजूदा वर्ल्ड चैंपियन है और उसकी टीम में गेल के अलावा मार्लन सैमुअल्स, सुनील नारायण, सैमुअल बद्री जैसे मैच विनर हैं। जबकि टी20 वर्ल्ड कप के हीरो कार्लोस ब्रेथवेट कप्तान हैं। टीम में इविन लुईस भी हैं जिन्होंने पिछले साल फ्लोरिडा में टी20 मैच में भारत के खिलाफ 49 गेंद में 100 रन बनाये थे।

वेस्टइंडीज की तरफ से क्रिस गेल और इविन लुईस ओपनिंग कर सकते हैं। इसके अलावा मार्लन सैमुअल्स और जेसन मोहम्मद मिडल आर्डर को मजबूती देंगे। कार्लोस ब्रेथवेट और चाडविक वॉल्टन पर लोअर मिडल आर्डर में तेजी से रन बनाने की जिम्मेदारी होगी। गेंदबाजी की बात करें तो टीम के पास सुनील नारायण, जेरोम टेलर, सैमुअल बद्री और केसरिक विलियम्स जैसे गेंदबाज हैं जो किसी भी बल्लेबाजी क्रम को तहस-नहस करने का माद्दा रखते हैं।

आखरी 5 मैचों में दोनों टीमों का रिजल्ट

आखिरी 5 मैचों में भारतीय टीम के प्रदर्शन की बात करें तो टीम ने इस दौरान 3 मैच जीते हैं और 2 में उन्हें हार का सामना करना पड़ा है। वहीं वेस्टइंडीज टीम के प्रदर्शन की बात करें तो टीम ने शानदार प्रदर्शन किया है और इस दौरान टीम ने 4 मैच जीते हैं। टीम को सिर्फ 1 ही मैच में हार का सामना करना पड़ा है।