PAK के हाथ INDIA की 180 रनो से करारी हार


भारत और पाकिस्तान के बीच चैंपियंस ट्रॉफी के फ़ाइनल मुकाबले मे आज पाकिस्तान ने अपने 4 विकेट गवा कर भारत को 339 रनो का टारगेट दिया | भारतीय कप्तान विराट कोहली ने ओवल मैदान में टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी  करने का फैसला किया। लेकिन ये फैसला उस वक्त बुरी तरह से गलत साबित हुआ | चैंपियंस ट्रॉफी 2017 के फाइनल में पाकिस्तान ने भारत को करारी शिकस्त देकर पहली बार चैंपियंस ट्रॉफी के खिताब पर अपना कब्जा किया है | इसी के साथ ही भारत का तीसरी बार चैंपियंस ट्रॉफी जीतने का सपना भी चकनाचूर हो गया है | पाकिस्तान ने भारत को जीत के लिए 339 रनों का लक्ष्य दिया था | जिसके जवाब में टीम इंडिया ने 30.3 ओवर में 180 रन पर ही ऑल आउट हो गई |

                                                                                            Source

फाइनल मैच में भारत की ओर से लगातार गिर रहे  विकेटों के बीच हार्दिक पंड्या ने पारी सँभालते हुए शानदार फिफ्टी लगाई | उन्होंने केवल 32 बॉल पर अपने 50 रन पूरे किए | जिसमें उन्होंने 3 चौके और 4 छक्के भी लगाए | पंड्या ने 23वें ओवर में शादाब खान की बॉल पर लगातार 3 सिक्स लगाते हुए फिफ्टी पूरी की | इस ओवर में एक चौका और तीन सिक्स समेत कुल 23 रन बने | हार्दिक के वनडे करियर की ये दूसरी हाफ सेन्चुरी रही | हार्दिक पंड्या को 26.3 ओवर में रवींद्र जडेजा ने रन आउट करा दिया |

                                                                                          Source

शुरूआती ओवरों में जसप्रीत बुमराह की नो बॉल पर फखर ज़मां का विकेट लेने का मौका चूकना भारतीय टीम को इतना भारी पड़ा कि पाकिस्तान टीम ने विशाल 338 रनों का स्कोर खड़ा कर दिया | चैम्पियंस ट्रॉफी 2017 के फाइनल मुकाबले में पाकिस्तानी बल्लेबाज़ों ने पहली पारी में भारतीय टीम के मुश्किलें बढ़ा दी है | अब इस मुकाबले को जीतने के लिए भारतीय बल्लेबाज़ों को बहुत अच्छा प्रदर्शन करना पड़ेगा |

                                                                                              Source

फख़र ने अत्रहर अली (59) के साथ पहले विकेट के लिये 23 ओवर में 128 और फिर बाबर आत्रम (46) के साथ दूसरे विकेट के लिये 10.1 ओवर में 72 रन की साझेदारी कर अपनी टीम को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया। पाकिस्तान का 338 रन का स्कोर भारत के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करते हुये उसका सबसे बड़ा स्कोर है। अपना चौथा वनडे खेल रहे फख़र ने इससे पहले तीन मैचों में कुल 138 रन बनाये थे लेकिन इस बार उन्होंने 106 गेंदों में 12 चौकों और तीन छक्कों की मदद से 114 रन ठोक डाले। फख़र ने यह शतक ऐसे समय बनाया जब पाकिस्तान को भारत के खिलाफ बड़ा स्कोर बनाने के लिये एक बड़ी पारी की जरूरत थी।

                                                                                                Source

फख़र के जोड़ीदार अत्रहर अली ने 71 गेंदों पर 59 रन में छह चौके और एक छक्का लगाया। बाबर आत्रम ने 52 गेंदों पर 46 रन में चार चौके लगाये। पूर्व कप्तान मोहम्मद हफीत्र ने 37 गेंदों पर नाबाद 57 रन की पारी में चार चौके और तीन छक्के लगाये। इमाद वसीम ने 21 गेंदों पर एक चौके और एक छक्के की मदद से नाबाद 25 रन का योगदान दिया। शोएब मलिक ने 12 रन बनाये।

                                                                                          Source

पूरे टूर्नामेंट में शानदार गेंदबाजी करने वाले भारतीय गेंदबाजों ने फाइनल में आश्चर्यजनक रूप से काफी खराब गेंदबाजी का प्रदर्शन किया। भारतीय फील्डरों का स्तर भी लचर रहा। जसप्रीत बुमराह तो चौथे ओवर में नो बॉल कर फख़र का विकेट लेने से चूक गये।

log in

reset password

Back to
log in
Choose A Format
Poll
Voting to make decisions or determine opinions
Story
Formatted Text with Embeds and Visuals
List
The Classic Internet Listicles
Video
Youtube, Vimeo or Vine Embeds
Thanks for loving our story. Like our Facebook page to get more stories.

Send this to a friend