IND vs SA: 5वें वनडे में टीम इंडिया की जीत : सीरीज पर कब्जा


भारत और साउथ अफ्रीका के खिलाफ 5वां वनडे मैच जीतकर टीम इंडिया ने अपनी चौथी जीत के साथ इतिहास रच दिया है। बीते 25 सालों में भारत ने मेजबान टीम की सरजमीं पर पहली बार कोई वनडे सीरीज अपने नाम की है। भारत ने इस मैच में मेजबान टीम को 275 रन का लक्ष्य दिया था, जिसके जवाब में साउथ अफ्रीकी टीम 201 रन बनाकर ढेर हो गई। इस तरह भारत ने यह मैच 73 रन से अपने नाम किया।

आपको बता दे कि रोहित शर्मा ने सेंट जॉर्ज पार्क में शानदार शतक लगाया है। यह इस दौरे पर उनका पहला शतक है। इससे पहले टेस्ट सीरीज सीरीज में उनका सर्वाधिक स्कोर 47 रहा था। वनडे में रोहित ने 17 शतक पूरे कर लिए हैं।

विराट कोहली और रोहित शर्मा के बीच 100 रन की साझेदारी होने के बाद तालमेल की गड़बड़ी हो गई और इस गफलत में भारत को दूसरा झटका लग गया। विराट कोहली 36 रन बनाकर रन आउट हो गए। वही , कप्तान विराट के बाद अजिंक्य राहाणे भी रन आउट हो गए उन्होंने 8 रन बनाए। शिखर धवन और रोहित शर्मा ने टीम इंडिया को अच्छी शुरुआत दी है। टीम इंडिया को बड़ा झटका दिया रबादा ने। उन्होंने गजब की फॉर्म में चल रहे शिखर को 34 रन पर आउट कर दिया।

आपको बता दे कि कप्तान विराट कोहली ने अपने टीम में कोई बदलाव नहीं किया है। वही , दक्षिण अफ्रीका की करफ से इस मैच में क्रिस मॉरिस की जगह तबरेज शम्सी को मौका दिया गया है। टीम ने डरबन में पहला मैच छह विकेट, सेंचुरियन में नौ विकेट और केप टाउन में 124 रन से जीता था। लेकिन मेजबान टीम ने बारिश से प्रभावित चौथे वनडे में पांच विकेट से जीत हासिल कर वापसी की। दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजी लाइन अप और भारत के कलाई के स्पिनरों के बीच अब भी मुकाबला अहम है।

जोहानिसबर्ग में हालांकि बारिश के कारण हुई दो बार की बाधा ने भारत की बल्लेबाजी और गेंदबाजी में लय बिगाड़ दी। सबसे अहम बात यह रही कि बारिश के कारण लक्ष्य में संशोधन किया गया और एबी डिविलियर्स के जल्दी पवेलियन लौटने के बावजूद मेजबानों को इसे हासिल करने में जरा भी परेशानी नहीं हुई। पोर्ट एलिजाबेथ में भारतीय टीम का चयन काफी अहम रहेगा। केदार जाधव की फिटनेस पर अब भी सवालिया निशान बना हुआ है जिन्हें केप टाउन में हैमस्ट्रिंग चोट लगी थी और वह पिछला मैच भी नहीं खेल सके थे। उनकी अनुपस्थिति में भारत एक भरोसेमंद गेंदबाजी विकल्प गंवा देगा।

जाधव में धीमी स्पिन गेंदबाजी करने की काबिलियत है और वह इसे परिस्थितियों के अनुकूल ढाल लेते हैं जिससे वह चहल और यादव के साथ अच्छी तरह घुलमिल जाते हैं।  आपको बता दें कि पोर्ट एलिजाबेथ के सेंट जॉर्ज पार्क स्टेडियम में टीम इंडिया का रिकॉर्ड बेहद खराब है। टीम इंडिया 5 वन-डे खेले हैं और सभी मैचों में हार का सामना करना पड़ा है। चार मैचों में उसे दक्षिण अफ्रीका से और एक में केन्या से हार मिली है। वहीं, दक्षिण अफ्रीका की बात करें तो मेजबान टीम ने इस स्टेडियम में 32 वन-डे मैच खेले हैं, जिसमें उसे 20 में जीत, 11 में हार मिली है जबकि एक का कोई नतीजा नहीं निकला।

दोनों टीमें : –

भारत : विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे, श्रेयस अय्यर, मनीष पांडे, दिनेश कार्तिक, केदार जाधव, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), हार्दिक पंड्या, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, अक्षर पटेल, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमरा, मोहम्मद शमी, शार्दुल ठाकुर।

दक्षिण अफ्रीका : ऐडन मार्कराम (कप्तान), हाशिम अमला, जेपी डुमिनी, इमरान ताहिर, डेविड मिलर, मोर्ने मोर्कल, क्रिस मौरिस, लुंगीसानी एनगिडी, एंडिले फेलुकवायो, कागिसो रबाडा, तबरेज शम्सी, खायेलिहले जोंडो, फरहान बेहारडियन, हेनरिक क्लासन (विकेटकीपर), एबी डिविलियर्स ।

हमारी मुख्य खबरों के लिए यहां क्लिक करे।

Choose A Format
Poll
Voting to make decisions or determine opinions
Story
Formatted Text with Embeds and Visuals
List
The Classic Internet Listicles
Video
Youtube, Vimeo or Vine Embeds
Thanks for loving our story. Like our Facebook page to get more stories.