कबड्डी का छिड़ेगा महासंग्राम


हैदराबाद : वीवो प्रो कबड्डी लीग का पांचवां सत्र 12 टीमों के साथ बड़े और भव्य अंदाज में शुक्रवार से यहां शुरू हो जाएगा जो लगभग तीन महीने तक चलेगा और इसमें कुल आठ करोड़ रूपये की भारी भरकम पुरस्कार राशि होगी। टूर्नामेंट का उद्घाटन समारोह हैदराबाद में होगा जिसमें बॉलीवुड के सुपर स्टार अक्षय कुमार राष्ट्रगान गायेंगे। टूर्नामेंट के पहले दिन दो मैचों का आयोजन होगा जिसमें नयी टीम तमिल तलैवास और तेलुगु टाइटंस तथा यू मुंबा और पुणेरी पल्टन आमने सामने होंगी। कबड्डी लीग की पूर्व संध्या पर गुरूवार को इसकी विजेता ट्राफी का अनावरण किया गया जिसमें कबड्डी के दिग्गज खिलाड़ी और कप्तान अनूप कुमार, राहुल चौधरी, अजय ठाकुर, नितिन तोमर और ईरान के मेराज शेख मौजूद थे। टूर्नामेंट के उद्घाटन समारोह में खेल जगत और फिल्म जगत की मशहूर हस्तियां मौजूद रहेंगी।

अक्षय पहला मैच शुरू होने से पहले राष्ट्रगान गायेंगे। टूर्नामेंट इस बार आठ टीमों से बढ़कर 12 टीमें पहुंच गया है और इसके मैच 13 सप्ताह तक चलेंगे। टूर्नामेंट के प्रारूप में भी बदलाव किया गया है और इसमें आईपीएल की तरह प्लेऑफ खेले जाएंगे। सत्र का समापन चेन्नई में 28 अक्टूबर को फाइनल के साथ होगा। पहले मैच में अजय ठाकुर के नेतृत्व वाली तमिल तलैवास का सामना राहुल चौधरी के नेतृत्व वाले तेलुगु टाइटंस से होगा और इसके साथ ही कबड्डी का महासंग्राम शुरू हो जाएगा। प्रो कबड्डी के लीग कमिशनर अनुपम गोस्वामी ने बताया कि पांचवें संस्करण में आईपीएल की तरह कबड्डी में भी प्लेऑफ होंगे और इसमें तीन क्वालिफायर और दो एलिमिनेटर के बाद फाइनल होगा। गोस्वामी ने बताया कि तीन महीने चलने वाले इस टूर्नामेंट में 12 टीमें कुल 138 मैच खेलेंगी और टूर्नामेंट 12 शहरों में खेला जाएगा। प्लेऑफ मुंबई और चेन्नई में होंगे जबकि फाइनल की मेजबानी चेन्नई करेगा।

पिछले चार सत्रों में आठ टीमें होम एंड अवे आधार पर खेलती थीं लेकिन इस बार बदलाव करते हुये 12 टीमों को दो जोन में बांटा गया है। जोन ए में दबंग दिल्ली, जयपुर पिंक पैंथर्स, पुणेरी पल्टन, यू मुम्बा, हरियाणा स्टीलर्स और गुजरात फॉर्चुन जॉइंट्स को रखा गया है जबकि जोन बी में तेलुगु टाइटंस, बेंगलुरू बुल्स, पटना पाइरेट्स, बंगाल वारियर्स, यूपी योद्धा और तमिल तलादवा को रखा गया है। हर ग्रुप की टीम अपने ग्रुप की शेष पांच टीमों से तीन-तीन मैच खेलेगी और फिर दूसरे जोन की छह टीमों से एक एक मैच भी खेलेगी। इसके अलावा जोनल में वह एक अतिरिक्त मैच भी खेलेगी। इस तरह लीग में हर टीम कुल 22 मैच खेलेगी। हर ग्रुप की शीर्ष तीन तीन टीमें क्वालिफायर के लिये क्वालीफाई करेंगी जिनमें तीन क्वालिफायर और दो एलिमिनेटर फाइनल में पहुंचने वाली दो टीमों का फैसला करेंगे।