कठिन परिश्रम का नतीजा है यह खिताब : नडाल


पेरिस : स्पेन के दिग्गज खिलाड़ी राफेल नडाल ने अपना 15 वां ग्रैंड स्लेम खिताब जीतने पर खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि यह उपलब्धि उनके कठिन परिश्रम का नतीजा है। क्ले कोर्ट किंग नडाल ने कहा, यह टूर्नामेंट मेरे लिए किसी चमत्कार की तरह रहा। मैं यहां अपनी पुरानी लय में खेल पाया और सभी नतीजे मेरे पक्ष में रहे। मैं ये खिताब जीतकर बेहद खुश हूं। 31 वर्षीय नडाल ने खिताबी मुकाबले के बाद कहा, ये दिन मेरे लिए बहुत महत्व रखता है।

पिछला कुछ समय बेहद कठिन रहा। मैं चोटों से और खराब फार्म से जूझा लेकिन मैंने कभी खुद पर विश्वास नहीं खोया और शायद इसी का परिणाम है कि मैं यहां एकबार फिर सफल रहा। यह सफलता मेरे लिए विशेष स्थान रखती है। उन्होंने ने कहा, मैं आज जहां हूं उसके लिए मैंने बहुत कठिन परिश्रम किया है। रौलां गैरो मेरे लिए  हमेशा से विशेष रहा है। मुझे नहीं लगता कि इससे अधिक कुछ हो सकता है कि यह एक ही टूर्नामेंट में मेरा 10 वां खिताब है।

स्पेन के दिग्गज नडाल ने कहा, कि मैं बता नहीं सकता कि फ्रेंच ओपन में 10 वां खिताब मेरे लिए क्या मायने रखता है। मुझे अपनी इस सफलता पर गर्व है। टूर्नामेंट में कठिन पलों के बारे में पूछे जाने पर नडाल ने कहा, निश्चित रूप से सेमीफाइनल और फाइनल के पहले का समय बेहद कठिन था। मैं नर्वस भी हो रहा था और खुद में ऊर्जा भी भर रहा था। यह इसलिए कठिन था कि आप जानते हैं कि यह समय गुजर गया तो वापस नहीं आयेगा। मैंने टूर्नामेंट में अपने सभी मैच जीते लेकिन कुछ वाकई बेहद कठिन थे।

उल्लेखनीय है कि क्ले कोर्ट किंग नडाल ने रौलां गैरो की लाल बजरी पर 2005, 2006, 2007, 2008, 2010, 2011, 2012, 2013, 2014 और 2017 में खिताब अपने नाम किया। नडाल के 15 ग्रैंड स्लेम खिताबों में एक आस्ट्रेलियन, 10 फ्रेंच, 2 विंबलडन और 2 US ओपन के खिताब शामिल हैं। नडाल के करियर का यह 15वां ग्रैंड स्लेम खिताब है और वह सर्वाधिक ग्रैंड स्लेम खिताब जीतने की ऑलटाइम सूची में अमेरिका के पीट सम्प्रास को पीछे छोड़कर दूसरे नंबर पर आ गए हैं। नडाल से आगे अब सिर्फ स्विटजरलैंड के रोजर फेडरर हैं जिनके नाम 18 ग्रैंड स्लेम खिताब हैं।