सर्जिकल स्ट्राइक पार्ट-2


भारतीय सेना ने पकिस्तान को एक बार फिर करारा जवाब देते हुए एक और सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया। यह सर्जिकल स्ट्राइक नियंत्रण रेखा से सटे नौशेरा सेक्टर में 20 और 21 मई को हुई । भारतीय सेना ने पाक की 10 चौकियों के खिलाफ ऑपरेशन चलाया और उनकी चौकियों को तबाह किया । सीमा पर लगातार हो रही धुसपैठ देखते हुए भारतीय सेना ने यह महत्वपूर्ण कदम उठाया। मंगलवार को भारतीय सेना ने प्रेस कॉन्फेंस में 30 सेंकड का  वीडियो जारी करते हुए बताया कि उन्होंने पाक की 10 चौकि यों को तबाह किया। पाकिस्तान कह रहा है कि उनकी चौकियों पर अभी तक किसी प्रकार का कोई हमला नहीं हुआ।

पाकिस्तान आर्मी के मेजर जनरल ने ट्वीट किया कि नौशेरा सेक्टर में  LoC पर पाकिस्तानी पोस्टों की तबाही और उनके नागरिकों पर फायरिंग का दावा पूरी तरह से गलत है । भारतीय आर्मी ने पाकिस्तान के खिलाफ रॉकेट लॉन्चर , एंटी टैंक मिसाइलें , ऑटोमेटिक ग्रेनेड लॉन्चर को इस ऑपरेशन में इस्तेमाल किया है।

अशोक नरूला ने बयान दिया –

भारतीय सेना के मेजर जनरल अशोक नरूला ने कहा कि पाक आतंकवादियों की मदद से भारत सीमा पर हमले करता था,करता है और आतंकवादियों को भारत में भेजता है। मेजर ने कहा कि हमारी सेना जम्मू-कश्मीर में शांति चाहती है पर पाकिस्तान लगातार भारतीय गांवो और ग्रामीणों पर हमला करता है। हमारी सेना पाकिस्तान पर तभी कार्रवाई करती है जब पाकिस्तान की सेना हमला करती है । भारतीय सेना ने सही कदम उठाया है सर्जिकल स्ट्राइक के रूप और कार्नल वीएन थापर का कहना है कि भारत बहुत पहले ही यह कार्रवाई कर देता परंतु पाकिस्तान के लगातार हमलों ने हमें यह कदम उठाने पर मजबूर किया है। थापर ने कहा जब पाक को यह बात समझ नहीं आती तभी भारतीय सेना यह निर्णय लेती है और आगे भी जरूरत पड़ने पर यह कदम उठाती रहेगी। थापर ने कहा कि पाक के लिए यह एक छोटा-सा संदेश है।

भारतीय सेना हुई आक्रामक –

अफसर करीम ने कहा कि पाकिस्तान के हमलों के खिलाफ भारतीया सेना आक्रामक रूप ले रही है । क्योंकि हमेशा से पाकिस्तान ने भारत की सीमा पर आशांति फैलाने का प्रयास किया है। अगर पाकिस्तान शांत हो जाए भारत सीमा पर कोई कार्रवाई न करे तो भारत भी कोई भी कार्रवाई नहीं करेगा ।

वीडियो दिखाना था जरूरी –

अफसर करीम ने कहा कि भारत सेना की कार्रवाई का वीडियो लोगों के बीच पहली बार जारी किया है और यह जारी करना बहुत जरूरी था क्योंकि लोग हर बात पर सबूत मांगते है ।