चीन ने कम्युनिस्ट नेताओं को दिया सख्त संदेश नास्तिक बनो वरना मिलेगी सजा


आज चीन की सत्ताधारी पार्टी Communist Party of China ने एक विवादित कदम उठाते हुए अपने लगभग 9 करोड़ सदस्यों को निर्देश दिया है कि वे पार्टी की एकजुटता बनाए रखने के लिए धर्म छोड़ दें वही इसे पार्टी का ‘Red Line ‘ बताया गया है इस आदेश में यह भी साफ किया गया है कि जो सदस्य इसे नहीं मानेंगे उन्हें इसकी सजा दी जाएगी।

चीन के शीर्ष धार्मिक मामलों के नियामक के प्रमुख ने कहा है कि पार्टी सदस्यों को किसी भी धर्म में विश्वास नहीं रखना चहैए और अगर वो रखते हैं तो उन्हें उसे त्याग देना चाहिए आधिकारिक मीडिया की ओर से आई खबर के मुताबिक, विशेषज्ञों ने कहा कि यह निर्देश पार्टी की एकजुटता को बनाए रखने के लिए है।

State Administration for Religious Affairs के निदेशक वांग जुओआन ने कियुशी जर्नल में छपे एक लेख में लिखा कि पार्टी सदस्यों को धार्मिक विश्वास नहीं रखने चाहिए। यह सभी सदस्यों के लिए Red Line है।

पार्टी के सदस्यों को हर सूरत में मार्क्सवादी नास्तिक होना चाहिए। अगर वो ऐस करते हैं तो उन्होंने पार्टी के सख्त नियमों का सामना करने के लिए लिए तैयार रहना चाहिए। पार्टी के किसी भी सदस्यों को धार्मिक आजादी नहीं है। वहीं अन्य लेख में एक सरकारी अधिकारी ने कहा कि इससे पार्टी को एकता को क्षति पहुंचती है।