मोदी पहुंचे अमेरिका, ट्रंप ने मोदी को बताया अपना सच्चा मित्र : जाने दौरे की खास बातें


वाशिंगटन : अमेरिका के साथ भारत के संबंधों को गहरा बनाने की उम्मीद लिए और उन्हें नई दिशा देने का इरादा लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिन की यात्रा पर अमेरिका पहुंच गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन से कुछ ही घंटे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति ने श्री मोदी को अपना सच्चा मित्र बताते हुए आज कहा कि वह इस मुलाकात को लेकर काफी उत्साहित हैं। श्री ट्रंप ने अपने एक ट््वीट में कहा, “भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का सोमवार को व्हाइट हाउस में स्वागत करने के लिए उत्सुक हूं, सच्चे मित्र से महत्वपूर्ण रणनीतिक मुद्दों पर चर्चा करूंगा।” गौरतलब है कि श्री मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच यह पहली मुलाकात होगी। इससे पहले दोनों नेताओं के बीच कई बार टेलीफोन पर बातचीत हो चुकी है।

Source

अपने अमेरिका दौरे के संबंध में जानकारी देते हुए श्री मोदी ने सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर लिखा कि इससे पहले वह राष्ट्रपति ट्रंप के साथ कई बार टेलीफोन पर बातचीत कर चुके हैं। श्री मोदी ने कहा कि दोनों देशों के लोगों के पारस्परिक लाभ के लिए इस बातचीत को आगे बढ़ाया जाएगा।

Source

श्री मोदी नने कहा कि वह इस दौरे और श्री ट्रंप के साथ होने वाली मुलाकात को भारत और अमेरिका के बीच मजबूत और विस्तृत साझेदारी को और मजबूत करने के अवसर के रूप में देखते हैं। श्री मोदी ने फेसबुक पर लिखा कि अमेरिका के साथ भारत की भागीदारी बहुस्तरीय और विविध है, यह न केवल दोनों देशों की सरकारों बल्कि दोनों पक्षों के सभी हितधारकों द्वारा समर्थित है।

इस संबंध में विस्तृत जानकारी साझा करते हुए व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव सीन स्पाइसर ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप और प्रधानमंत्री मोदी आतंकवाद, भारत-प्रशांत क्षेत्र में रक्षा साझेदारी, वैश्विक सहयोग, बोझ-साझाकरण, व्यापार, कानून प्रवर्तन और ऊर्जा सहित विभिन्न क्षेत्रों में जारी सहयोग पर चर्चा करेंगे। श्री स्पाइसर ने कहा कि दोनों नेताओं के बीच यह एक बहुत ही मजबूत बातचीत होने जा रही है।

Source

मोदी की अमेरिका यात्रा से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें…

  • भारत तथा अमेरिका के बीच रक्षा व ऊर्जा साझीदारियों को मजबूत किया जाना बातचीत का बेहद अहम हिस्सा होगा. अपनी यात्रा से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्रंप प्रशासन के साथ बहु-स्तरीय और विस्तृत साझीदारी बनाने के लिए दूरंदेशी दृष्टिकोण स्थापित करने की मंशा ज़ाहिर की थी। फोन पर एक-दूसरे से तीन बार बात कर चुके राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच सोमवार को पहली बार आमने-सामने मुलाकात होगी। बातचीत के दौरान तीन मुद्दों पर खास ध्यान दिए जाने की उम्मीद की जा रही है – रक्षा, आतंकवाद और ऊर्जा।
  • कुल मिलाकर दोनों नेता एक-दूसरे के साथ लगभग पांच घंटे बिताएंगे. सबसे पहले दोनों नेताओं के बीच मुलाकात होगी, और फिर शिष्टमंडल स्तर की बैठकों में, कॉकटेल पार्टी के दौरान और व्हाइट हाउस में आयोजित रात्रिभोज में भी दोनों नेता एक दूसरे के साथ वक्त बिताएंगे। डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति पद पर आसीन होने के बाद किसी विदेशी नेता के लिए व्हाइट हाउस में आयोजित होने जा रहा यह पहला रात्रिभोज है।

Source

  • अमेरिका द्वारा भारतीय नौसेना को २२ गार्जियन गैर-हथियारबंद ड्रोन विमानों की बिक्री को मंज़ूरी दिया जाना इस यात्रा का खास पहलू होगा, क्योंकि यह सौदा कई सालों से अटका हुआ था। २-३ अरब अमेरिकी डॉलर का यह सौदा इस बात का सबूत होगा कि अमेरिका के लिए भारत ‘बड़ा रक्षा साझीदार’ है, जबकि अमेरिका पहले से ही भारत का सबसे बड़ा हथियार आपूर्तिकर्ता है।
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा ऊर्जा साझीदारी पर ज़ोर दिए जाने की उम्मीद है, और इत्तफाक है कि यह यात्रा उस समय हो रही है, जब अमेरिका में ऊर्जा सप्ताह मनाया जा रहा है। व्हाइट हाउस अधिकारियों का कहना है कि भारतीय ऊर्जा कंपनियों ने अरबों अमेरिकी डॉलर के तरलीकृत पेट्रोलियम गैस (एलपीजी) के सौदों पर दस्तखत किए हैं।
  • दोनों नेता अपनी वार्ता के खास पहलुओं के बारे में जानकारी देते हुए बयान जारी करेंगे, लेकिन जलवायु परिवर्तन, पेरिस समझौते तथा आव्रजन नियंत्रण के मुद्दों पर कतई अलग-अलग विचार रखने वाले दोनों नेताओं ने पत्रकारों के सवाल-जवाब सत्र से परहेज़ किया है।
  • तीन देशों की विदेश यात्रा के दौरान अमेरिका पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यात्रा में सबसे पहले दुनिया की बड़ी कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों के साथ ब्रेनस्टॉर्मिंग सत्र में शिरकत करेंगे. २०० साल पुराने विल्लार्ड होटल में आयोजित होने जा रहे इस सत्र में अमेज़न के प्रमुख जेफ बेज़ोस, एप्पल के टिम कुक, माइक्रोसॉफ्ट के सत्या नडेला और गूगल के सुंदर पिचाई के भी शामिल होने की संभावना है।

Source

  • माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री इन सीईओ को उन कदमों के बारे में जानकारी देंगे, जो उनकी सरकार ने निवेश को प्रोत्साहित करने तथा प्रक्रियाओं को सरल करने के लिए भारत में उठाए हैं, जिनमें एकल कर प्रणाली जीएसटी भी शामिल है, जो १ जुलाई से लागू होने जा रही है।
  • इसके बाद वह बेहद नज़दीक वर्जीनिया के निकट एक इलाके में आयोजित स्वागत भोज में भारतीय समुदाय के लोगों से मिलेंगे। गौरतलब है कि अमेरिका में लगभग ४० लाख भारतीय अमेरिकी बसते हैं, और लगभग १,६६,००० भारतीय विद्यार्थी यहां पढ़ाई भी कर रहे हैं।
  • इस बीच, अमेरिकी सीनेटर कमला हैरिस ने ट्वीट किया कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अमेरिका में स्वागत करती हूं और दोनों देशों के बीच अटूट जुड़ाव की पुष्टि करती हूं। उधर, ट्रंप प्रशासन ने भी कहा है कि वह पीएम मोदी का भव्य स्वागत करता है, और प्रशासन ने इस बात पर भी ज़ोर दिया है कि यह कहना गलत है कि अमेरिका भारत की उपेक्षा कर रहा है या भारत पर ध्यान नहीं दे रहा है।
  • एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, “राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को एहसास है कि भारत अच्छाई के लिए एक ताकत है और यह बात सोमवार को दौरे के माध्यम से परिलक्षित होगी…” अधिकारी के मुताबिक, दुनिया के दो सबसे बड़े लोकतंत्रों के नेताओं के बीच द्विपक्षीय बातचीत के दौरान रक्षा सहयोग, आर्थिक संबंधों को आगे बढ़ाने, असैन्य परमाणु समझौते, आतंकवाद से निपटने पर सहयोग, भारत-प्रशांत क्षेत्र में सुरक्षा सहयोग पर चर्चाएं तथा एच-1बी कार्य वीज़ा को लेकर भारत की चिंताओं आदि पर चर्चा होगी।
  • इससे पहले, एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी ने बताया कि पीएम नरेंद्र मोदी का यह दौरा अमेरिका-भारत रणनीतिक भागीदारी को मजबूत करने का एक अवसर है, जिस बारे में डोनाल्ड ट्रंप का नज़रिया है कि यह एशिया-प्रशांत क्षेत्र एवं विश्व में स्थिरता और सुरक्षा को आगे बढ़ाने के लिए एक अहम भागीदारी है। अधिकारी ने संवाददाताओं को बताया, हमें लगता है कि उनकी चर्चाएं बहुत व्यापक होंगी, जिनमें कई क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दे शामिल होंगे, जिनमें हमारी साझा प्राथमिकताओं – आतंकवाद से मुकाबला, आर्थिक विकास तथा समृद्धि को गति देना आदि – को आगे बढ़ाना अहम होगा।

Choose A Format
Poll
Voting to make decisions or determine opinions
Story
Formatted Text with Embeds and Visuals
List
The Classic Internet Listicles
Video
Youtube, Vimeo or Vine Embeds
Thanks for loving our story. Like our Facebook page to get more stories.