मोदी ने शीर्ष अमेरिकी कंपनियों के सीईओ से की मुलाकात, भारतीय समुदाय से मोदी की कुछ खास बातें


वाशिंगटन : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपनी तीन देशों की यात्रा के दूसरे पड़ाव के तहत अमेरिका के वाशिंगटन पहुंचने के बाद पहले दिन वाशिंगटन के होटल विलार्ड इंटरकंटीनेंटल में दिग्गज कंपनियों के मुख्यकार्यकारी अधिकारियों के साथ गोलमेज बैठक की। यह बैठक सवा घंटे से ज्यादा समय तक चली। इस दौरान मोदी के ‘मेक इन इंडिया’ और ट्रंप के फस्र्ट अमेरिका नीतियों के बीच तालमेल बैठाने को लेकर अमेरिकी कंपनियों के सीईओ से बातचीत हुई।

बैठक में 21 कंपनियों के सीईओ रहे मौजूद
गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी के इस दौरे में कारोबार और जीएसटी मुद्दे पर निवेशकों से बातचीत शीर्ष एजेंडे में है। श्री मोदी के साथ बैठक में एडोब के अध्यक्ष और सीईओ, चेयरमैन शांतनु नारायण, अमेजन के सीईओ जेफ बेजोस, अमेरिकन टावर कॉरपोरेशन के सीईओ जेम्स टेकलेट, एप्पल के सीईओ टीम कुक, कैटरपिलर के सीईओ जिम यूम्पलेबाई, गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई, मरियोट्ट इंटरनेशनल के प्रमुख अर्ने सोरेनसन, जोन्सन एंड जोन्सन के एलेक्स गोस्र्की, मास्टरकार्ड के अजय बग्गा, वारबर्ग पिंचुस के चाल्र्स काये और कार्लिले ग्रुप के डेविड रुबेनस्टेन समेत 21 कंपनियों के सीईओ मौजूद रहे।

निवेशकों को जीएसटी को समझने में भी मिली मदद
इससे पहले अमेरिका की दिग्गज कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री मोदी के साथ होने वाली इस मुलाकात को लेकर बेहद उत्साहित दिखे। इस बैठक का उद्देश्य भारत में निवेश को प्रोत्साहित करना था। दरअसल, जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) को लेकर विदेशी निवेशकों में तमाम आशंकाएं थी। ऐसे में यह बैठक काफी अहम मानी जा रही है। इससे निवेशकों को जीएसटी को समझने में भी मदद मिली।

Source

भारतवंशियों ने किया प्रधानमंत्री मोदी का जोरदार स्वागत 

इससे पहले रविवार सुबह वाशिंगटन पहुंचने पर भारतवंशियों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जोरदार स्वागत किया। इस दौरान श्री मोदी ने भारतीय समुदाय के लोगों से हाथ मिलाया और अभिवादन स्वीकर किया। अभी तक श्री मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मुलाकात नहीं हुई है। हालांकि श्री मोदी व्हाइट हाउस से महज पांच सौ मीटर की दूरी पर स्थित दो सौ साल पुराने विलॉर्ड होटल में ठहरे हुए हैं। श्री मोदी ने कहा कि जीएसटी को लागू किये जाने का ऐतिहासिक फैसला अमेरिका के बिजनेस स्कूलों में अध्ययन का विषय हो सकता है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने ट््वीट कर कहा कि सारी दुनिया भारत की ओर देख रही है। भारत सरकार ने 7,000 सुधार अकेले कारोबार सुगमता और न्यूनतम सरकार, अधिकतम शासन के लिए किए हैं। श्री बागले के मुताबिक श्री मोदी ने कंपनी प्रमुखों से कहा कि भारत की वृद्धि उसके और अमेरिका दोनों के लिए फायदेमंद है। अमेरिकी कंपनियों के सामने इसमें योगदान देने का एक महान अवसर है। वहीं, भारतीय मूल के सीईओ सुंदर पिचाई ने कहा कि श्री मोदी भारत में निवेश आकर्षित करना चाहते हैं।

आज दोपहर बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और श्री मोदी के बीच मुलाकात होगी। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय मुद्दों पर व्यापक चर्चा होगी। दोनों नेताओं के बीच चीन की वन बेल्ट वन रोड परियोजना और आतंकवाद के पनाहगाह पाकिस्तान के खिलाफ सख्ती को लेकर भी बातचीत हो सकती है। अमेरिकी अधिकारियों की मानें, तो श्री मोदी का यह दौरा मेलमिलाप पर केंद्रित रहेगा।

मोदी के भाषण की कुछ खास बातें

  • 20 साल पहले जब भारत आतंकवाद की बात करता था तो दुनिया के देश कहते थे कि यह आपका ‘लॉ एंड ऑर्डर’ प्रॉब्लम है. वे आतंकवाद को समझते नहीं थे लेकिन आज आतंकवादियों ने उन्हें समझा दिया है कि आतंकवाद क्या होता है।
  • हमने जब सर्जिकल स्ट्राइक की तो दुनिया को समझ में आ गया कि भारत संयम रखता है लेकिन जरूरत पड़ने पर वह सर्जिकल स्ट्राइक भी कर सकता है. दुनिया को भारत की ताकत का पता चल गया।
  • जब लोगों की आकांक्षाओं को सही नेतृत्व मिलता है तो वे उपलब्धियों में बदल जाती हैं।
  • हम तकनीक आधारित प्रशासन के जरिए एक ‘आधुनिक भारत’ का निर्माण कर रहे हैं।
  •  भारत में सरकारें भ्रष्टाचार की वजह से बदलती रही हैं लेकिन पिछले तीन साल में हमारी सरकार पर भ्रष्टाचार का एक दाग भी नहीं लगा है।
  •  हमारी सरकार की पारदर्शी नीतियों ने लोगों के बीच विश्वास का माहौल बनाया है।
  • मैं देख सकता हूं कि प्रत्येक नागरिक भारत के विकास में योगदान करना चाहता है। आज भारत तेजी के साथ विकास कर रहा है।
  • भारत में अच्छी चीजें होने पर अमेरिका का भारतीय समुदाय खुश होता है। भारतीय समुदाय भारत को नई ऊंचाइयों को छूते देखना चाहता है।
  • मैं आपसे भारत को अमेरिका की तरह बनाने का वादा करता हूं।
  • मैं जब आप लोगों से मिलता हूं तो लगता है कि मैं अपने परिवार के सदस्यों से मिल रहा हूं। आप लोगों से मिलकर मरे अंदर नई ऊर्जा का संचार होता है।
Choose A Format
Poll
Voting to make decisions or determine opinions
Story
Formatted Text with Embeds and Visuals
List
The Classic Internet Listicles
Video
Youtube, Vimeo or Vine Embeds
Thanks for loving our story. Like our Facebook page to get more stories.