BREAKING NEWS

Umesh Pal Case: कड़ी सुरक्षा के बीच नैनी जेल पंहुचा माफिया अतीक, कल कोर्ट में होगा पेश ◾गृह मंत्री अमित शाह के कर्नाटक दौरे के दौरान सुरक्षा में सेंध, दो छात्र गिरफ्तार◾चुनाव कानून के उल्लंघन को लेकर उतर प्रदेश में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की समय सीमा बढ़ा दी गई ◾ब्रिटिश प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने असामाजिक आचरण के खिलाफ शुरू किया अभियान ◾US Banking Crisis: संकट में डूबे SVB को मिला सहारा, इस बड़े बैंक ने खरीदा ◾STT दर में सुधार के लिए वित्त मंत्री सीतारमण ने वित्त विधेयक में संशोधन पेश किया◾आकांक्षा दुबे Suicide केस में भोजपुरी सिंगर के खिलाफ मामला दर्ज, Actresss की मां ने की थी शिकायत◾अमृतपाल सिंह के नेपाल में छिपे होने की आशंका, भारत ने पड़ोसी देश से किया ये अनुरोध ◾मुख्यमंत्री भगवंत मान ने पंजाब में फसल क्षति का आकलन एक सप्ताह में पूरा करने के दिए निर्देश◾बिहार की सियासत में हलचल, खरना का प्रसाद खाने भाजपा नेता के घर पहुंचे नीतीश, शुरू हुई नई चर्चा ◾राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू दो दिवसीय पश्चिम बंगाल दौरे पर कोलकाता पहुंचीं◾पिछले पांच सालों में ED ने धन शोधन निवारण अधिनियम के तहत 3,497 मामले दर्ज किए◾Rahul Gandhi के समर्थन में युवा कांग्रेस के सदस्यों ने किया प्रदर्शन ◾‘PF का पैसा भी अडानी को’ ... पीएम मोदी पर फिर बरसे राहुल, कहा: जांच से डर क्यों?◾राहुल और उद्धव ठाकरे मिलेंगे और अपने मतभेदों को दूर करने की कोशिश करेंगे◾वित्त विधेयक 2023 संसद से मंजूर, हंगामे के बीच राज्यसभा ने लौटाया◾CM Yogi ने कहा- 'सारस के लिए विकसित किये जाएं विशेष पार्क'◾इजराइल: PM नेतन्याहू ने रक्षा मंत्री को किया बर्खास्त, न्यायपालिका में बदलाव की योजना पर जताया था विरोध ◾ईडी की जांच में आईसीडीएस भर्ती में कुछ अनियमितताएं पाई गईं◾कर्नाटक उच्च न्यायालय ने दिया निर्देश- 'सरकारी कर्मियों के खिलाफ मुकदमे के लिए मंजूरी पर 6 महीने के भीतर फैसला करें'◾

बिहार के गोपालगंज में ऑक्सीजन का स्तर गिरने से 2 लोगों की मौत, कोविड परीक्षण किए बिना सौंपे गए शव

बिहार के गोपालगंज जिले में ऑक्सीजन का स्तर तेजी से गिरने से दो लोगों की मौत हो गई है। शवों को बिना कोविड की जांच कराए परिजनों को सौंप दिया गया है। रविवार रात दोनों की मौत हो गई। सदर अस्पताल के डॉक्टरों ने बिना कोविड की जांच किए शवों को उनके संबंधित परिवारों को सौंप दिया है।

मृतकों की पहचान फाथा गांव निवासी चंद्रमा शर्मा और मांझा प्रखंड के सुनवरिया गांव की नगमा खातून के रूप में हुई है। सदर अस्पताल के एक वरिष्ठ चिकित्सक डॉ सनाउल मुस्तफा ने कहा कि खातून को रविवार सुबह भर्ती कराया गया था और ऑक्सीजन सपोर्ट पर होने के बावजूद ऑक्सीजन का स्तर गिरने के बाद उन्होंने अस्पताल के बेड पर दम तोड़ दिया।डॉ मुस्तफा ने कहा कि चंद्रमा शर्मा के परिजन उन्हें एंबुलेंस में गोरखपुर ले गए। रास्ते में उनकी तबीयत बिगड़ गई और वे ठीक से सांस नहीं ले पा रही थी। परिजन तत्काल इलाज के लिए सदर अस्पताल गए, लेकिन रास्ते में ही उनकी मौत हो गई। 

नगमा खातून के पति मोहर्रम अंसारी ने कहा कि उसे सांस लेने में तकलीफ हो रही थी, इसलिए हमने उसे सदर अस्पताल में भर्ती कराया। डॉक्टरों ने मुझे बताया कि उसके फेफड़ों और गले में संक्रमण हो सकता है। वह ऑक्सीजन सपोर्ट पर थी, लेकिन रविवार की देर रात उसकी मौत हो गई। 

डॉक्टरों ने नियमित प्रक्रिया का पालन करने के बाद, कोविड परीक्षण किए बिना शव सौंप दिया। हमने कोविड परीक्षण पर जोर नहीं दिया क्योंकि इससे हमें उसे फिर से वापस लाने में मदद नहीं मिलती। परिजन अंतिम संस्कार के लिए शवों को घर ले गए। बिहार में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के दौरान भी ऐसी ही स्थिति देखने को मिली जब गले और फेफड़ों में संक्रमण के कारण कई लोगों की मौत हो गई थी।