BREAKING NEWS

'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾तिरंगे पर महबूबा मुफ्ती के बयान से नाखुश पीडीपी के तीन नेताओं ने पार्टी से दिया इस्तीफा, NC ने भी किया किनारा◾स्ट्रीट वेण्डर आत्मनिर्भर निधि योजना के तहत प्रधानमंत्री कल UP के लाभार्थियों से करेंगे बात ◾साक्षी महाराज ने फिर दिया विवादित बयान, कहा- अनुपात के हिसाब से हो कब्रिस्तान और श्मशान◾राजनाथ सिंह ने अमेरिकी रक्षा मंत्री के साथ की वार्ता, रक्षा तथा सामरिक संबंधों पर हुई चर्चा ◾बिहार चुनाव : प्रचार के आखिरी दिन तेजस्वी पहुंचे हसनपुर, तेजप्रताप के लिए मांगे वोट ◾जेपी नड्डा ने चिराग पर साधा निशाना - कुछ लोग NDA में सेंध लगाना चाहते हैं, कर रहे है षड्यंत्र ◾भारत में कोविड-19 संबंधी मृत्युदर 1.50 प्रतिशत, 108 दिन बाद 500 से कम मौत हुई◾CM नीतीश ने महुआ में RJD पर बोला हमला - कुछ लोगों की भ्रमित करने और ठगने की आदत होती है◾दिल्ली की वायु गुणवत्ता 'बहुत खराब', पराली जलाए जाने से दिल्लीवासियों पर कहर बरपाएगा प्रदूषण◾SC ने कोर्ट की निगरानी में CBI जांच की मांग वाली दिशा सालियान केस की याचिका को किया खारिज◾जेपी नड्डा का RJD पर तंज- नौकरी छीनने वाले आज कर रहे हैं नौकरी देने की बात ◾अनुराग कश्यप पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली अभिनेत्री पायल घोष अठावले की पार्टी में हुईं शामिल ◾IPL-13 : KXIP vs KKR, प्लेऑफ की दौड़ में पंजाब को बने रहने के लिए बनानी होगी जीत में निरंतरता ◾पंजाब में पीएम मोदी का पुतला जलाने पर भड़के नड्डा, कहा- राहुल गांधी निर्देशित है यह ड्रामा◾महबूबा के बयान के खिलाफ लाल चौक पर तिरंगा फहराने की कोशिश, हिरासत में लिए गए BJP कार्यकर्ता◾कृषि बिल पर राहुल गांधी की नसीहत- गुस्साए किसानों की बात सुनें पीएम मोदी◾बिहार चुनाव में आलू और प्याज की एंट्री, 60 घोटालों के आरोप में तेजस्वी ने CM नीतीश को घेरा ◾Bihar Election : एक बार फिर नीतीश के खिलाफ हुए चिराग, बोले- CM हो या कोई अधिकारी, जेल भेजा जाएगा◾भीम आर्मी चीफ का दावा- मेरे काफिले पर चलाई गई गोलियां, पुलिस ने किया इनकार ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

बिहार में बाढ़ से 3 लाख लोग प्रभावित,विपक्ष का आरोप-राहत 'रामभरोसे', पीड़ित 'भगवान भरोसे'

बिहार और नेपाल में बारिश के बाद सभी प्रमुख नदियों के जलस्तर में वृद्घि हुई है। राज्य में बाढ़ का पानी रिहायसी इलाको तक पहुंच गया है। जिससे बिहार में आठ जिलों की करीब तीन लाख की आबादी प्रभावित हुई है। बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत एवं बचाव कार्य चलाए जा रहे हैं। इधर, विपक्ष का आरोप है कि बाढ़ के नाम पर राहत 'रामभरोसे' और प्रभावित लोग 'भगवान भरोसे' हो गए हैं। 

बिहार जल संसाधन विभाग के अनुसार, सोमवार को बागमती नदी सीतामढ़ी के ढेंग, सोनाखान, डूबाधार तथा कटौंझा और मुजफ्फरपुर के बेनीबाद और दरभंगा के हायाघाट में खतरे के निशान के ऊपर बह रही है, जबकि बूढ़ी गंडक समस्तीपुर के रोसरा रेल पुल के पास खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। इधर, कमला बलान झंझारपुर में तथा महानंदा पूर्णिया के ढेंगराघाट में खतरे के निशान के ऊपर बह रही है। 

कोसी का जलस्तर स्थिर बना हुआ है लेकिन गंडक नदी के जलस्तर में बढ़ोतरी दर्ज की गई है। कोसी का जलस्तर वीरपुर बैराज के पास सोमवार सुबह छह बजे 1.39 लाख क्यूसेक था, जो आठ बजे बढ़कर 1.41 लाख क्यूसेक हो गया। गंडक नदी का जलस्राव बाल्मीकिनगर बैराज के पास सुबह आठ बजे 2.06 लाख क्यूसेक था तथा इसके और बढ़ने का अनुमान है। 

जल संसाधन विभाग के सचिव संजीव हंस ने बताया कि भारतीय मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार, अगले 72 घंटे में राज्य की लगभग सभी प्रमुख नदियां 'राइजिंग ट्रेंड' में रहेंगी, नदियों के कैचमेंट क्षेत्र में बिहार और नेपाल साइड में बारिश होने की संभावना व्यक्त की गई है। उन्होंने कहा, "बाढ़ सुरक्षात्मक तटबंध सभी सुरक्षित हैं और जहां-जहां जमींदारी बांध या रिंग बांध के क्षतिग्रस्त होने की सूचना प्राप्त होती है, तत्काल उनका मरम्मत किया जाता है।" 

आपदा प्रबंधन विभाग के अपर सचिव रामचंद्र डू ने बताया कि बिहार की विभिन्न नदियों के बढ़े जलस्तर को देखते हुए आपदा प्रबंधन विभाग पूरी तरह से सतर्क है। नदियों का जलस्तर बढ़ने से अभी बिहार के 8 जिले सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फपुर, गोपालगंज एवं पूर्वी चम्पारण के कुल 31 प्रखंडों की 153 पंचायतें आंशिक रूप से प्रभावित हुई हैं। सुपौल व दरभंगा में दो-दो और गोपालगंज में तीन राहत शिविर चलाए जा रहे हैं। 

कानपुर शूटआउट : गैंगस्टर विकास दुबे का फाइनेंसर जय बाजपेयी गिरफ्तार

उन्होंने बताया कि गोपालगंज व पूर्वी चंपारण में नौ-नौ, सुपौल में दो और दरभंगा में सात सामुदायिक रसोई घर चलाए जा रहे हैं, जिनमें प्रतिदिन लगभग 21,000 लोग भोजन कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि राज्य में अब तक 153 ग्राम पंचायतों की 2.92 लाख की आबादी बाढ़ से प्रभावित हुई है। इधर, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद अखिलेश सिंह ने बिहार सरकार को कोरोना और बाढ़ दोनों में असफल बताया। उन्होंने कहा कि "बाढ़ के नाम पर राहत 'रामभरोसे' और प्रभावित लोग 'भगवान भरोसे' हो गए हैं।"

उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार में इच्छाशक्ति का अभाव होने का आरोप लगाते हुए कहा कि जोड़तोड़ कर बनी सरकार में ना इच्छाशक्ति है और ना ही काम करने की शक्ति है। उन्होंने कहा कि भले ही सरकार बाढ़ प्रभावितों को राहत देने की बात कर रही हो, लेकिन बाढ़ पीड़ित परेशान हैं और दाने-दाने को मोहताज हैं। उन्होंने आशंका जताते हुए कहा कि अगर सरकार नहीं सचेत हुई तो अभी और बदतर हालत होगी।