BREAKING NEWS

स्मृति ईरानी एवं हेमा मालिनी पर टिप्पणी कों लेकर EC से कांग्रेस की शिकायत◾उप्र विधानसभा चुनाव जीतने के लिए नफरत फैला रही है भाजपा, हो सकता है भारत का विघटन : फारूक अब्दुल्ला◾एनसीबी के सामने पेश हुईं अभिनेत्री अनन्या पांडे, कल सुबह 11 बजे फिर होगा सवालों से सामना ◾सिद्धू का अमरिंदर सिंह पर पलटवार - कैप्टन ने ही तैयार किये है केन्द्र के तीन काले कृषि कानून◾हिमाचल के छितकुल में 13 ट्रैकरों की हुई मौत, अन्य छह लापता◾कांग्रेस का PM से सवाल- जश्न से जख्म नहीं भरेंगे, ये बताएं 70 दिनों में 106 करोड़ टीके कैसे लगेंगे ◾केरल - वरिष्ठ माकपा नेता पर बेटी ने ही लगाया बच्चा छीनने का आरोप, मामला दर्ज ◾‘विस्तारवादी’ पड़ोसी को सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब, संप्रभुता से कभी समझौता नहीं करेगा भारत : नित्यानंद राय ◾कोरोना वैक्सीन का आंकड़ा 100 करोड़ के पार होने पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने गीत और फिल्म जारी की◾केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशन धारकों को दीपावली का तोहफा, महंगाई भत्ते में 3 प्रतिशत वृद्धि को मिली मंजूरी◾SC की सख्ती के बाद गाजीपुर बॉर्डर से किसान हटाने लगे टैंट, कहा- हमने कभी बन्द नहीं किया था रास्ता ◾नेहरू के जन्मदिन पर महंगाई के खिलाफ अभियान शुरू करेगी कांग्रेस, कहा- भारी राजस्व कमा रही है सरकार ◾ देश में टीकाकरण का आंकड़ा 100 करोड़ के पार, WHO प्रमुख ने PM मोदी और स्वास्थ्यकर्मियों को दी बधाई ◾आर्यन केस : शाहरुख के घर मन्नत में जांच के बाद निकली NCB टीम, अब अनन्या पांडे से होगी पूछताछ ◾जम्मू-कश्मीर में जारी है आतंकवादी गतिविधियां, बारामूला में टला बड़ा हादसा, आईईडी किया गया निष्क्रिय ◾SC की किसानों को फटकार- विरोध करना आपका अधिकार, लेकिन सड़कों को अवरुद्ध नहीं किया जा सकता◾100 करोड़ टीकाकरण पर थरूर बोले- 'आइए सरकार को श्रेय दें', पहले की विफलताओं के प्रति केंद्र जवाबदेह◾देश के पास महामारी के खिलाफ 100 करोड़ खुराक का ‘सुरक्षात्मक कवच’, आज का दिन ऐतिहासिक : PM मोदी◾ड्रग्स केस : बॉम्बे HC में आर्यन खान की जमानत याचिका पर 26 अक्टूबर को होगी सुनवाई◾MP : भिंड में वायुसेना का विमान क्रेश होकर खेत में गिरा, पायलट सुरक्षित बच निकलने में रहा सफल ◾

अमेजॉन कंपनी ने करोड़ों रुपया घोटाला की इसकी जांच सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जज द्वारा कराया जाए : पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोध कांत सहाय

अमेजॉन कंपनी ने करोड़ों रुपया घोटाला की इसकी जांच सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जज द्वारा कराया जाए : पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोध कांत सहायपटना संवादाता : 70 साल में देश में बनाई लाखों करोड़ों की संपत्ति ,ओने पौने दाम में बेच रहे हैं छोटे उद्योग का धंधा चौपट हो रहा हैं जो बच जाएगा और चंद कंपनियों का हवाले कर देंगे मोदी जी सरकार ने देश की भविष्य को बेचने के लिए सुपारी ले रखी है। 

यह बातें आज सदाकत आश्रम में पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोध कांत सहाय कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहां आगे श्री सहाय ने कहा कि पिछले 1 साल में 14 करोड़ रोजगार खत्म हो चुके हैं यह साफ हो गया कि करोड़ों दुकानदार छोटे उद्योग युवाओं को नौकरी खत्म होने का असली कारण क्या है विदेशी ए कॉमर्स कंपनी अमेजॉन मैं पिछले 2 साल में भारत में कानूनी फीस  का नाम पर 8,546 करोड़ रु का भुगतान किया गया और अमेजन  कंपनी का ,देश के कानून मंत्रालय का सालाना बजट तो 1100 करोड़ रुपया है और अमेजन 2 साल का बजट ही 8, 546 करोड़ रुपया है ।

अब सामने आ गया यह पैसा तथाकथित  रिश्वत तौर पर दिया गया यह  बात अमेजन कंपनी ने भी  स्वीकारा है आगे पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि  मेरा मोदी सरकार से सीधा सीधा सवाल है कि अमेजॉन द्वारा 8,546 करोड़ रुपया  पर भारत सरकार ने किस अधिकारी को सफेदपोश राजनेता को मिली?

 दूसरा क्या यह रिश्वत मोदी सरकार में कानून और नियम बदलने की लिए दी गई ताकि छोटे छोट दुकानदारों को उधोग धंधा बंद कर दें तथा अमेजन जैसी ई-कॉमर्स कंपनी का  ब्यवसाय चल सके‌ ? 

तीसरा अमेजन 6  कंपनियों ने मिलकर 8,546 करोड़ रुपया का भुगतान किया गया इन कंपनियों का रिश्ता क्या है वह किस किस और कंपनी से इनके ब्यवसायिक तालुकात है  तथा यह पैसा निकाल कर किसको व किस प्रकार से भूगतान किया गया? 

चौथा सवाल अमेरिका और भारत दोनों देशों  में लाबिंग व रिश्वत का  पैसा देना अपराध है तथा गैर कानूनी है तो पर भी मोदी जी सरकार के नाक के नीचे इतनी बड़ी रकम रिश्वत में  कैसे और कसे दी गई?

 पांचवा सवाल क्या विदेशी कंपनी द्वारा  8,546 करोड़ रुपैया की तथाकथित रिश्वत की दी गई रकम अपने आप राष्ट्रीय सुरक्षा खिलवाड़ और समझौता नहीं है?

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी चुप क्यों है,? क्या उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति से अमेजन  कंपनी के खिलाफ कथित रिश्वत घोटाले में आपराधिक जांच की मांग करेंगे ? वही  सुबोध कांत सहाय ने कहा कि क्या देश में इस कथित रिश्वत घोटाले की जांच सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जज से  कराई जानी चाहिए संवाददाता सम्मेलन में उपस्थित    मीडिया विभाग के चेयरमैन राजेश राठौर प्रवक्ता सह पूर्व विधायक अमिता भूषण पार्टी के  सीनियर नेता एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे