BREAKING NEWS

‘तांडव’ की टीम ने बिना शर्त माफी मांगी, कहा भावनाएं आहत करने का कोई इरादा नहीं ◾सुशासन सरकार में पुलिस दोषियों के बजाये निर्दोष को जेल भेजने का काम करती है :तेजस्वी ◾आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह को मिली जिंदा जलाकर मारने की धमकी ◾एम्स निदेशक की जनता से अपील - मामूली साइड इफेक्ट से मत डरें, वैक्सीन आपको मारेगी नहीं ◾SC की टिप्पणी के बाद बोले किसान संगठन - ट्रैक्टर रैली निकालना किसानों का संवैधानिक अधिकार है◾बढ़ते क्राइम को लेकर तेजस्वी ने राज्यपाल से की मुलाकात, कहा- बिहारियों की बलि मत दिजीए CM नीतीश ◾नंदीग्राम से विधानसभा चुनाव लड़ेंगी ममता बनर्जी, कहा- दल बदलने वालों की नहीं है चिंता ◾केंद्र ने माल्या प्रत्यर्पण मामले में दी SC को सूचना, कहा- ब्रिटेन ने डिटेल सांझा करने से किया इंकार ◾'तांडव' वेब सीरीज विवाद को लेकर लखनऊ से मुंबई रवाना हुई UP पुलिस की टीम◾भारतीय किसान यूनियन के प्रधान गुरनाम सिंह चढूनी को संयुक्त किसान मोर्चा ने किया सस्पेंड◾SC की टिप्पणी पर बोले राकेश टिकैत-हम झगड़ा नहीं, गण का उत्सव मनाएंगे◾ट्रैक्टर रैली पर बोला SC- दिल्ली में किसे एंट्री देनी है, यह तय करना पुलिस का काम, बुधवार को अगली सुनवाई◾गुजरात को PM मोदी का एक और तोहफा, अहमदाबाद-सूरत मेट्रो प्रोजेक्ट का किया शिलान्यास◾कृषि कानून को लेकर 55वें दिन प्रदर्शन जारी, आंदोलन तेज करते हुए अन्नदाता आज मनाएंगे 'महिला किसान दिवस' ◾सूट-बूट वाले दोस्तों का कर्ज माफ करने वाली मोदी सरकार अन्नदाताओं की पूंजी साफ करने में लगी है : राहुल गांधी ◾देश में पिछले 24 घंटे में 13788 नए कोरोना मामलों की पुष्टि, 145 लोगों ने गंवाई जान ◾दुनियाभर में कोरोना का कहर बरकरार, मरीजों का आंकड़ा 9.5 करोड़ तक पहुंचा ◾पीएम मोदी आज अहमदाबाद मेट्रो के दूसरे चरण और सूरत मेट्रो रेल परियोजना का करेंगे भूमि पूजन ◾कृषि कानूनों और किसान प्रदर्शनों संबंधी याचिकाओं पर SC आज करेगा सुनवाई ◾आज का राशिफल (18 जनवरी 2021)◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

चुनाव से पहले आरजेडी का तंज, कहा - ओवैसी की एआईएमआईएम भाजपा की‘बी’टीम

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के वरिष्ठ नेता सैयद फैसल अली ने असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) को भाजपा की‘बी’टीम करार देते हुए कहा कि बिहार के मुसलमान साम्प्रदायिक शक्तियों को मजबूत करने के लिए पर्दे के पीछे से काम करने वालों को भलीभांति पहचानते हैं और समय आने पर ऐसे लोगों को करारा जवाब देंगे। 

अली ने शनिवार को कहा कि मुसलमान अपने कतार में खड़े गद्दारों को सही तरह से पहचानते हैं और खामोशी के साथ उसका जवाब देना भी जानते हैं। उन्होंने कहा कि ने ओवैसी ने इस बार बिहार विधानसभा की 50 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने का फैसला किया है और यह सभी उम्मीदवार उन इलाकों में उतारे जाएंगे जहां पर राजद प्रत्याशियों की जीत पक्की है। इससे साफ हो जाता है कि वह किस पार्टी की मदद करना चाहते हैं। 

शिवहर लोकसभा क्षेत्र के पूर्व प्रत्याशी अली ने कहा कि 2015 के विधानसभा चुनाव में एआईएमआईएम ने अपने छह उम्मीदवार मुस्लिम बहुल इलाकों में उतारे थे लेकिन पांच की जमानत जब्त हो गई थी। उस समय भी मुसलमानों ने अपने समाज के मीर जाफर को सही तरह से पहचानकर अपने मत का प्रयोग किया था। उन्होंने उम्मीद जताई कि इस बार भी मुस्लिम समाज के लोग सांप्रदायिक ताकतों को कमजोर करने के लिए किसी के बहकावे और बरगलाने में नहीं आने वाले हैं। 

उन्होंने कहा कि इतिहास गवाह है कि राजद एकमात्र ऐसी पार्टी है जिसने कभी भी साम्प्रदायिक ताकतों के साथ हाथ नहीं मिलाया है और हमेशा दबे, कुचले और समाज के वंचित लोगों के अधिकारों की रक्षा करने के लिए अग्रणी भूमिका निभायी है। पार्टी सुप्रीमो लालू यादव ने हमेशा ही समाज के अंतिम छोर पर खड़े लोगों की आवाज बनने का काम किया है और साम्प्रदायिकता के खिलाफ मजबूती से लड़ाई लड़कर भाईचारा और आपसी सौहार्द कायम किया है। 

अली ने कहा कि भाजपा अपने विरोधियों के खिलाफ बड़े उम्मीदवार खड़े करती है लेकिन ओवैसी के खिलाफ आज तक कोई मजबूत उम्मीदवार नहीं उतारा है। भाजपा यह अच्छी तरह जानती है कि ओवैसी की अकेले जीत भाजपा की कई सीटों को जितवाने में मददगार साबित होती है। उन्होंने कहा कि जब भी ओवैसी ने मुंह खोला है, सीधे भाजपा को फायदा पहुंचा है। देश का मुसलमान असदुद्दीन ओवैसी के पीछे छिपे आरएसएस के चेहरे को भलीभांति पहचानता है। 

वरिष्ठ पत्रकार अली ने जन अधिकार पार्टी के प्रमुख पप्पू यादव की भी तीखी आलोचना करते हुए कहा कि उनके पास न तो आधार है और न ही संगठन है। उन्होंने कहा कि भाजपा बिहार में वोटों का बिखराव करके सत्ता हासिल करना चाहती है जिसके लिए छोटे छोटे दलों को इस्तेमाल किया जा रहा है। इससे बिहार के लोगों, खासकर अल्पसंख्यकों को अत्यधिक सतर्क रहने की जरूरत है।

दलित को मुख्यमंत्री बनाने की घोषणा करें नीतीश कुमार : पप्पू यादव