BREAKING NEWS

J&K : कश्मीर में टीवी कलाकार की हत्या में शमिल दो आतंकवादी सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में घिरे◾J&K : कुपवाड़ा में सेना ने घुसपैठ का प्रयास किया विफल , तीन आतंकवादी मारे गए, पोर्टर की भी मौत◾PM मोदी ने ‘परिवारवाद’ के कटाक्ष से राव को घेरा, तेलंगाना के मुख्यमंत्री ने ‘भाषणबाजी’ का लगाया आरोप◾टीएमसी का दावा, दिलीप घोष को बंगाल से बाहर किया जा रहा है, भाजपा का पलटवार◾ मूडीज ने भारत की आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान घटाया, आसमान छू रही महंगाई पर जताई चिंता◾ Tamil Nadu: चेन्नई पहुंचे PM मोदी ,हुआ जोरदार स्वागत, रोड शो में उमड़ी हजारों की भीड़◾तेलंगाना के CM चंद्रशेखर राव ने एच डी देवेगौड़ा से की मुलाकात, जानें- किन मुद्दों पर हुई चर्चा◾J&K News: सुंजवां हमले में शामिल एक आतंकवादी को NIA ने किया गिरफ्तार, जैश ए मोहम्मद से जुड़े थे तार◾Monkeypox Virus: कनाडा में मंकीपॉक्स ने दी दस्तक! यहां देखें- कितने मामले सामने आए◾यासीन मलिक को उम्रकैद की सजा सुनाने के बाद फेंके थे पत्थर, लेकिन अब पुलिस के सामने पकड़े कान◾सुप्रीम कोर्ट ने वेश्यावृत्ति को माना प्रोफेशन, पुलिस को दी हिदायत... जारी हुए सख्त निर्देश, जानें क्या कहा ◾ गवर्नर की जगह अब CM होंगी स्टेट यूनिवर्सिटी की चांसलर, ममता बनर्जी कैबिनेट की बैठक में हुआ फैसला◾नवजोत सिंह सिद्धू का पटियाला जेल में बज गया बैंड, मिला क्लर्क का काम, जानें कितना होगा वेतन ◾ Gyanvapi Masjid: यहां जानें 2 घंटे चली वाराणसी जिला कोर्ट की बहस में क्या हुआ, अब सोमवार तक टली सुनवाई◾पाकिस्तान को 'मॉडर्न देश' बनाना चाहते हैं जरदारी! भारत और अन्य देशों से जारी संघर्षों पर कही यह बात ◾Bharat Biotech की कोवैक्सीन को जर्मनी ने दी मंजूरी, टूरिस्ट को मिली बड़ी राहत◾ US और चीन को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने दिया ये बयान, जानें मोदी सरकार को क्या दी नसीहत◾UP बजट 2022 : मायावती ने बताया घिसा-पिटा, अखिलेश बोले- कुछ बढ़ा नहीं, सब कुछ घटा है◾Navneet Rana News: सांसद नवनीत राणा ने दर्ज करवाई FIR, फोन पर मिल रही थी जान से मारने की धमकी ◾पूर्व मंत्री ने पूछा, क्या पाठ्यपुस्तकों में जिन्ना का पाठ किया जाए शामिल? हेडगेवार को लेकर कही यह बात ◾

बिहार : मुख्यमंत्री नीतीश की नजर मिथिलांचल पर, बैराज निर्माण कार्य की शुरूआत, 12 लाख लोगों को होगा फायदा

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की नजर अब मिथिलांचल पर है। शुक्रवार को मुख्यमंत्री मधुबनी पहुंचकर मिथिलावासियों को सबसे बड़ा उपहार कमला नदी पर नए बैराज के निर्माण कार्य की शुरूआत कराई। नीतीश खुद कहते हैं कि इससे न केवल बाढ़ से निजात मिलेगी बल्कि सिंचाई के साधन भी उपलब्ध होंगे।

12 लाख लोगों को होगा फायदा 

इसके अलावा, कमला बलान बायां एवं दायां तटबंध के उच्चीकरण, सु²ढ़ीकरण एवं पक्कीकरण (पिपरा घाट से ठेंगहा पुल तक 80 किलोमीटर की लंबाई में) के बनने से 12 लाख लोगों को फायदा होगा। जलसंसाधन विभाग के एक अधिकारी बताते हैं कि कमला नदी के बाएं और दाएं तटबंध पर सड़क के पक्कीकरण और सुदृढ़ीकरण से 12 लाख लोगों को लाभ पहुंचेगा। करीब 325 करोड़ रुपये की लागत से तटबंध पर बनने वाली सड़क निर्माण से मधुबनी जिले के झंझारपुर, लखनौर, बाबूरही, अंघराठाढ़ी, मधेपुरा और राजनगर तथा दरभंगा के ताराडीह और घनश्यामपुर प्रखंड के लोगों को सीधा लाभ होगा।

बिहार के जलसंसाधन मंत्री संजय कुमार झा भी कहते हैं, "मुझे खुशी है कि कल जयनगर (मधुबनी) में कमला नदी पर बराज निर्माण और कमला बलान बायां एवं दायां तटबंध के उच्चीकरण, सु²ढ़ीकरण व पक्कीकरण कार्य फेज-एक का कार्यारंभ हुआ। ये योजनाएं मिथिला के विकास में मील का पत्थर साबित होंगी।"

मार्च 2023 तक पूरा होने का लक्ष्य

कमला नदी पर बराज बन जाने से एक तरफ जहां बाढ़ से लोगों को निजात मिलने की संभावना है, वहीं खेती के लिए किसानों को समुचित मात्रा में पानी उपलब्ध हो पाएगा। जलसंसाधन विभाग के अधिकारी बताते हैं कि कमला बलान नदी पर बैराज के निर्माण में करीब 405.66 करोड़ रुपये की लागत आने की संभावना है। इस बैराज का निर्माण मार्च 2023 तक पूरा होने का लक्ष्य रखा गया है। 

फिलहाल नदी का जल प्रवाह 290 मीटर ही है जो बैराज निर्माण के बाद नदी में जल प्रवाह वाटर वे 550 मीटर हो जाएगा। बाढ़ के समय नदी में जल स्तर कम होने से बाढ़ कम आएगी। इस बराज में 36 गेट बनाए जाएंगे। अधिकारी बताते हैं कि इस बैराज से मधुबनी जिले के जयनगर, बासोपट्टी, खजौली, लदनियां, कलुआही, हरलाखी, मधवापुर प्रखंडों के हजारों किसानों के खेतों में पानी पहुंचेगा। एक अनुमान के मुताबिक इससे करीब 30 हजार हेक्टेयर भूमि सिंचित होगी।

उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मधुबनी जिले के जयनगर में कमला नदी पर बैराज निर्माण कार्य का शुभारंभ किया। इसके अलावा कमला बलान बायां एवं दायां तटबंध के सुदृढ़ीकरण एवं पक्कीकरण (पिपरा घाट से ठेंगहा पुल तक 80 किलोमीटर की लंबाई में) का रिमोट के माध्यम से कार्यारंभ किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि कमला नदी पर बैराज बन जाने से पानी का फ्लो ठीक रहेगा, नियंत्रित रहेगा और सिंचाई के लिए भी इसकी उपयोगिता होगी।