BREAKING NEWS

उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक ने किया ब्याज दरों में इजाफा, वरिष्ठ नागरिकों के लिए दर 0.50 प्रतिशत से बढ़कर 0.75◾राजस्थान में बिगड़ती कानून व्यवस्था के लिए कौन जिम्मेदार? जानिए क्या कहती है जनता◾कार्तिकेय सिंह के अरेस्ट वारंट पर बोले CM नीतीश, मुझे मामले की जानकारी नहीं◾Mann Ki Baat :PM मोदी ने 'मन की बात' की 28वीं कड़ी के लिए मांगे सुझाव, 28 अगस्त को होगा प्रसारण◾दलित छात्र की मौत को लेकर पायलट ने अपनी ही सरकार को दी नसीहत, BJP ने पूर्व उपमुख्यमंत्री का किया समर्थन◾बिलकिस बानो केस के दोषियों की रिहाई को लेकर राहुल का तंज, कहा-PM की कथनी और करनी को देख रहा है देश◾Yamuna Water Level : दिल्ली में यमुना नदी का जल स्तर एक बार फिर खतरे के पार पहुंचा◾Assembly Elections : मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का आज से गुजरात दौरा, चुनावी तैयारियों की करेंगे समीक्षा◾Central University Admission : CUET-ग्रेजुएट का चौथा चरण आज से शुरू हो गया ◾संगीत सोम का मंच से धमकी भरा बयान, कहा-'मैं अभी गया नहीं, अब भी 100 विधायकों के बराबर हूं'◾बीजेपी के निशाने पर कांग्रेस, सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए आतंकवाद, भ्रष्टाचार और परिवारवाद का लगाया आरोप ◾एक्सप्रेस ट्रेन और मालगाड़ी में जोरदार टक्कर,चार पहिए पटरी से उतरे, मची अफरा-तफरी ◾महाराष्ट्र : आज से शुरू होगा विधानसभा का मानसून सत्र, पहली बार विपक्ष में बैठेंगे आदित्य ठाकरे◾Coronavirus : 24 घंटे में दर्ज हुए 9 हजार केस, 2.49% रहा डेली पॉजिटिविटी रेट◾Jammu Kashmir: सुरक्षाबलों पर ग्रेनेड फेंक फरार हुए आतंकी, सर्च अभियान में हथियार-गोलाबारूद बरामद◾मुश्किलों में फंस सकते है कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल, सीबीआई कसेगी शिकंजा ◾आज का राशिफल (17 अगस्त 2022)◾बिहार में मिशन 35 प्लस के लक्ष्य के साथ नीतीश-तेजस्वी सरकार के खिलाफ मैदान में उतरेगी भाजपा◾PM मोदी और मैक्रों ने भू-राजनीतिक चुनौतियों, असैन्य परमाणु ऊर्जा सहयोग पर चर्चा की◾अपने अंतिम दिनों में, ठाकरे सरकार ने जल्दबाजी में लिए फैसले : CM शिंदे◾

बिहार : पूर्व CM मांझी ने भगवान राम को बताया काल्पनिक, भाजपा ने ऐसे साधा निशाना

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी अपने विवादित बयानों से चर्चा में रहते हैं। हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के प्रमुख मांझी एक बार फिर भगवान राम को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्होंने भगवान राम के अस्तित्व पर सवाल खड़ा किया है। उन्होंने कहा कि वे गोस्वामी तुलसीदास और वाल्मीकि को मानते हैं, लेकिन राम को नहीं मानते हैं। राम कोई भगवान नहीं थे। वह गोस्वामी तुलसीदास व वाल्मीकि के एक काव्य पात्र थे।

समारोह को संबोधित करते हुए कहा 

जमुई जिले के सिकंदरा में बाबा साहब भीम राव आंबेडकर की जयंती और माता सबरी महोत्सव समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि जो ब्राह्मण मांस खाते हैं, शराब पीते हैं, झूठ बोलते हैं, वैसे ब्राह्मणों से पूजा-पाठ कराना पाप है। उन्होंने कहा कि पूजा-पाठ कराने से लोग बड़े नहीं बनते हैं। इधर, पूर्व मुख्यमंत्री के इस बयान के बाद सियासत भी गर्म हो गई। भाजपा ने मांझी के इस बयान को लेकर निशाना साधा है।

भाजपा प्रवक्ता डॉ. निखिल आनंद ने मांझी के बयान को दुर्भाग्यपूर्ण बताया

भाजपा ओबीसी मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री सह बिहार भाजपा प्रवक्ता डॉ. निखिल आनंद ने मांझी के बयान को दुर्भाग्यपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि मांझी एक बहुत वरिष्ठ सम्मानित नेता हैं, लेकिन कई बार उनके बयानों से लोग भ्रमित होते हैं। वह शबरी माता पर एक कार्यक्रम में भाग लेने गए और वहां वे भगवान श्रीराम जी के अस्तित्व पर सवाल उठाते हैं जो दुर्भाग्यपूर्ण है।

बाबा साहेब अम्बेडकर ने भी हिंदू धर्म के बाद बौद्ध धर्म ग्रहण किया

भगवान श्रीराम के अस्तित्व के बिना शबरी माता के अस्तित्व को कोई कैसे सही ठहरा सकता है। अगर वह नास्तिक हैं तो कोई बात नहीं, लेकिन नास्तिक नहीं है तो उन्हें बताना चाहिए कि वह किस धर्म से संबंधित है। उन्होंने यहां तक कहा कि बाबा साहेब अम्बेडकर ने भी हिंदू धर्म के बाद बौद्ध धर्म ग्रहण किया था। धर्म के बिना कोई भी मानव जीवन सार्थक नहीं है और जीवन यात्रा के लिए आखिर रास्ते की जरूरत तो है।

भगवान श्री राम और भगवान श्री कृष्ण का अस्तित्व हमारे दिल, दिमाग, शरीर और आत्मा में जीवित है। कोई भी सच्चा भारतीय श्रीराम जी और श्रीकृष्ण जी के वजूद और आस्तित्व से इनकार नहीं कर सकता है।