BREAKING NEWS

उच्चतम न्यायालय में दाखिल हुई याचिका, 'नागरिकों के मुद्दों पर संसद में चर्चा कराने को लेकर उठाया गया बड़ा कदम'◾स्टार्टअप के लिए सलाहकारों, निवेशकों, उद्यमियों का अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क बनाया जाएः पीयूष गोयल◾छत्तीसगढ़: कोयला लेवी 'घोटाला', मनी लॉन्ड्रिंग केस में ED ने चार लोगों को गिरफ्तार किया ◾Maharashtra: शरद पवार बोले- वंचित बहुजन अघाड़ी के बारे में MVA के घटक दलों के बीच कोई बातचीत नहीं हुई है◾कई विवादों और आरोप-प्रत्यारोप के बीच सुर्खियों में बनी रही भारत जोड़ो यात्रा◾ मैं यज्ञ में शाम‍िल होने आया तो BJP ने मुझे रोकने के ल‍िए गुंडे भेजे- अख‍िलेश यादव◾ Kangana Ranaut: कंगना रनौत ने ट्वीट कर बॉलीवुड वालों को दी नसीहत, कहा- मत बनाओ हिंदू नफरत का नैरेटिव ◾लद्दाख : -20 डिग्री में लद्दाख को बचाने के लिए आंदोलन कर रहे 'सोनम वांगचुक' को सरकार ने किया नजरबंद ! ◾मायावती ने कहा, 'अडाणी समूह पर लगे आरोपों पर वक्तव्य जारी करे सरकार'◾MP: भारतीय वायुसेना के दो लड़ाकू विमान मुरैना में दुर्घटनाग्रस्त, एक पायलट शहीद ◾MP: भारतीय वायुसेना के दो लड़ाकू विमान मुरैना में दुर्घटनाग्रस्त, एक पायलट शहीद ◾Weather Update: पंजाब और हरियाणा में कड़ाके की ठंड जारी, जानें अपने शहर का हाल ◾यरूशलम में हुआ आतंकी हमला: अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन ने इजराइली प्रधानमंत्री से की बात ◾स्वामी प्रसाद मौर्य के बिगड़े बोल: संतों-धर्माचार्यों को बताया आतंकवादी और जल्लाद◾आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान दिवालिया होने के कगार पर◾Delhi University: डीयू ने BBC वृत्तचित्र की स्क्रीनिंग को लेकर हुए हंगामे की जांच के लिए बनाई समिति ◾झारखंड के अस्पताल में लगी भयानक आग डॉक्टर समेत 6 लोग जिंदा जल कर हुए राख◾जयराम रमेश बोले- कांग्रेस को 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए किसी भी विपक्षी गठबंधन का आधार बनना होगा◾Tripura Assembly Election: चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस ने जारी की स्टार प्रचारकों की सूची◾ AAP सांसद राघव चड्ढा इंडिया-यूके आउटस्टैंडिंग अचीवर्स अवॉर्ड से हुए सम्मानित◾

Bihar News : JDU की दो दिवसीय बैठक से पहले ‘देश का नेता कैसा हो, नीतीश कुमार जैसा हो’ के नारे लगे

बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल-यूनाइटेड (जदयू) की दो दिवसीय बैठक शनिवार को पटना स्थित राज्य मुख्यालय में शुरू होने वाली है। पहले दिन राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पार्टी नेताओं एवं देशभर के पदाधिकारियों के शामिल होने की संभावना है।मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को बैठक की तैयारियों का जायजा लेने के लिए बीरचंद पटेल मार्ग कार्यालय का दौरा किया। मुख्यमंत्री के वहां पहुंचते ही ‘‘देश का नेता कैसा हो, नीतीश कुमार जैसा हो’’ के नारे के साथ उनका स्वागत किया गया।

नीतीश ने उनसे शर्मिंदा नहीं करने का अनुरोध किया

जदयू के शीर्ष नेता ने नारों के बीच विनम्रता से हाथ जोड़कर लोगों का अभिवादन स्वीकार किया। पत्रकारों द्वारा उनके प्रधानमंत्री पद की दौड़ में शामिल होने के बारे में सवाल पूछे जाने पर नीतीश ने उनसे उन्हें शर्मिंदा नहीं करने का अनुरोध किया।हालांकि, जदयू कार्यालय में लगाए गए बैनरों, जिस पर ‘‘प्रदेश में दिखा, देश में दिखेगा’’, ‘‘आगाज हुआ, बदलाव होगा’’ आदि नारें अंकित हैं, से स्पष्ट है कि पार्टी अपने शीर्ष नेता से ‘‘राष्ट्रीय भूमिका’’ निभाने की उम्मीद कर रही है।हाल ही में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से नाता तोड़कर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से अलग हुई जदयू के कुछ और बैनरों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व पर आक्रामक तरीके से प्रहार करने वाले नारे लिखे थे, जिनमें ‘‘जुमला नहीं, हकीकत’’ और ‘‘मन की नहीं, काम की’’ शामिल हैं।

शराबबंदी हो या ग्रामीण विद्युतीकरण का मामला 

इन नारों पर अधिक प्रकाश डालते हुए जदयू के राष्ट्रीय सचिव राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि एक तरफ हमारे पास एक ऐसा नेतृत्व है, जो ‘‘अच्छे दिन’’, प्रति वर्ष दो लाख नौकरियां और हर एक के बैंक खाते में 15 लाख रुपये स्थानांतरित करने जैसे अजीब वादे करता है, जिसे बाद में उसी पार्टी (भाजपा) के तत्कालीन अध्यक्ष द्वारा ‘‘जुमला’’ बताकर खारिज कर दिया जाता है।उन्होंने कहा कि वहीं दूसरी ओर हमारे पास नीतीश कुमार हैं, जो अपने वादे पर कायम रहते हैं, चाहे वह शराबबंदी हो या ग्रामीण विद्युतीकरण का मामला हो।

 नया सदस्यता अभियान भी शामिल रहेगा

प्रसाद ने कहा, ‘‘बिहार में हाल के घटनाक्रम (नीतीश का भाजपा से नाता तोड़कर राजद, कांग्रेस सहित अन्य सात दलों के साथ महागठबंधन की सरकार बनाना) ने राष्ट्रीय स्तर पर राजनीतिक बदलाव की आवाज बुलंद की है। शनिवार और रविवार की जदयू की बैठकें एक ‘रोडमैप’ के साथ सामने आएंगी, जो इस पृष्ठभूमि में जदयू द्वारा निभाई जाने वाली भूमिका को रेखांकित करेगा।’’दिलचस्प बात यह है कि जदयू कार्यालय में नीतीश के लिए एक और नारा ‘‘राजा नहीं फकीर है, देश की तकदीर है’’ अंकित है। जदयू की बैठक के एजेंडों में संगठनात्मक चुनाव और एक नया सदस्यता अभियान भी शामिल रहेगा। हालांकि, ‘‘नीतीश के लिए राष्ट्रीय भूमिका’’ का मुद्दा इस बैठक के दौरान हावी रहने की संभावना है।

supporters of nitish kumar raised slogans raja nahi fakir hai desh ki  takdeer hai - राजा नहीं फकीर है, देश की तकदीर है: नीतीश में समर्थन में लगे  नारे

 कई भाजपा विरोधी राजनेताओं के साथ संपर्क में 

शीर्ष पद के लिए इच्छुक नहीं होने का नीतीश ने कोई दावा तो नहीं किया है, लेकिन उन्होंने यह स्पष्ट कर दिया है कि वह विपक्षी एकता को बढ़ावा देने के प्रति गंभीर हैं और कई भाजपा विरोधी राजनेताओं के साथ फोन पर संपर्क में रहे हैं।वाम दलों ने स्वीकार किया है कि अपने पांच दशकों के राजनीतिक अनुभव के साथ नीतीश भाजपा की बाजीगरी को चुनौती देने के लिए एक संयुक्त मोर्चा बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।

 केसीआर के साथ एक संवाददाता संबोधित 

नीतीश को के चंद्रशेखर राव (केसीआर) जैसे क्षेत्रीय नेताओं का भी समर्थन मिला है, जिन्होंने कुछ दिन पहले पटना का दौरा किया था और बिहार में अपने समकक्ष को देश के ‘‘सर्वश्रेष्ठ और वरिष्ठतम नेताओं में से एक’’ बताया था।वहीं, नीतीश ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर के साथ एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि उनका लक्ष्य तथाकथित तीसरा मोर्चा नहीं, बल्कि मुख्य मोर्चा है।