BREAKING NEWS

जम्मू कश्मीर में आतंकी हमला, सेना कैंप में घुस रहे 2 आतंकी ढेर, 3 जवान शहीद◾आज का राशिफल (11 अगस्त 2022)◾हर घर तिरंगा अभियान : शौर्य चक्र से सम्मानित सिपाही औरंगजेब की मां ने अपने घर पर फहराया 'तिरंगा'◾दिल का दौरा पड़ने के बाद राजू श्रीवास्तव एम्स में भर्ती , वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखे गए◾माकपा ने 'मुफ्त उपहार' वाले बयान को लेकर PM मोदी पर निशाना साधा◾कांग्रेस ने महाराष्ट्र मंत्रिमंडल में संजय राठौर को शामिल किए जाने को लेकर BJP पर साधा निशाना◾High Court में जनहित याचिका : याददाश्त खो चुके हैं सत्येंद्र जैन, विधानसभा और मंत्रिमंडल से अयोग्य घोषित किया जाए◾केजरीवाल ने गुजरात में सत्ता में आने पर महिलाओं को 1000 रुपये मासिक भत्ता देने का किया ऐलान ◾ISRO ने गगनयान से जुड़ा LEM परीक्षण सफलतापूर्वक पूरा किया◾Corbevax Corona Vaccine : केंद्र सरकार ने वयस्कों को कॉर्बेवैक्स की बूस्टर खुराक देने को दी मंजूरी ◾भारत के अतीत, वर्तमान के लिए प्रतिबद्धता और भविष्य के सपनों को झलकाता है तिरंगा : PM मोदी◾ हिमाचल में भी खिसक सकती हैं भाजपा की सरकार ! कांग्रेस ने विधानसभा में लाया अविश्वास प्रस्ताव ◾काले कपड़ों में कांग्रेस के प्रदर्शन पर PM मोदी ने कसा तंज, कहा- जनता भरोसा नहीं करेगी...◾जब नीतीश कुमार ने कहा था - येन केन प्रकारेण सत्ता प्राप्त करूंगा, लेकिन अच्छा काम करूंगा◾न्यायमूर्ति यू यू ललित होंगे सुप्रीमकोर्ट के नए प्रधान न्यायधीश ◾दिग्गज कारोबारी अडानी को जेड प्लस सिक्योरिटी, आईबी ने दिया था इनपुट◾शपथ लेने के बाद नीतीश की गेम पॉलिटिक्स शुरू, मोदी के खिलाफ कर सकते हैं ये बड़ा काम ◾नुपूर को सुप्रीम राहत, जांच पूरी न होने तक नहीं होगी गिरफ्तारी, सभी एफआईआर को एक साथ जोड़ा ◾ ‘‘नीतीश सांप है, सांप आपके घर घुस गया है।’’, भाजपा नेता गिरिराज ने याद की लालू की पुरानी बात ◾ सुनील बंसल का बीजेपी में बढ़ा कद, बनाए गए पार्टी महासचिव◾

बिहार बनेगा टेक्सटाइल उद्योग का हब, देगा बांग्लादेश को टक्कर :शाहनवाज

8 जून को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार टेक्सटाइल और लेदर पॉलिसी 2022 लॉन्च करेंगे। 8 जून को बिहार में टेक्सटाइल और लेदर उद्योगों की स्थापना के लिए नए द्वार खुलेंगे। टेक्सटाइल और लेदर उद्योग के लिए बिहार सबसे अनुकूल डेस्टिनेशन है और बिहार देश का बड़ा टेक्सटाइल हब बनेगा। बांग्लादेश और वियतनाम को अगर टेक्सटाइल प्रक्षेत्र में देश को कड़ी टक्कर देनी है तो बिहार ही दे सकता है। ये बातें बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कही। सोमवार को बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने 8 जून को होने जा रही बिहार टेक्सटाइल और लेदर पॉलिसी 2022 की लॉंचिंग को लेकर जानकारी देने के लिए बुलाई गई प्रेस वार्ता में कही। 

बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि बिहार टेक्सटाइल एंड लेदर पॉलिसी 2022 को लेकर बहुत उम्मीदें हैं। पहली बार ऐसा लग रहा है कि देश भर के टेक्सटाइल और लेदर प्रक्षेत्र के लोगों की मंशा बिहार में निवेश की है। हमने देश की बेहतरीन पॉलिसी बनाई है । इसमें बिहार में निवेश को प्रोत्साहित करने के लिए बहुत से प्रावधान किए गए हैं जिसकी मुक्कमल जानकारी 8 जून 2022 को मिलेगी जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के हाथों इसकी लांचिंग होगी।

बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि मुख्यमंत्री जी के आभारी हैं कि 26 मई 2022 को बिहार टेक्सटाइल और लेदर पॉलिसी 2022 को कैबिनेट से मंजूरी मिली और इसकी लॉचिंग के लिए भी उन्होंने स्वीकृति दी है। उद्योग विभाग के प्रधान सचिव संदीप पॉन्ड्रिक की मौजूदगी में मीडिया को संबोधित करते हुए उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि इथेनॉल प़ॉलिसी के बाद अब टेक्सटाइल और लेदर पॉलिसी बिहार के लोगों के लिए उम्मीद की किरण हैं। उन्होंने कहा कि पॉलिसी को कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद ही बहुत सी टेक्सटाइल और लेदर कंपनियों ने संपर्क किया है और ऐसा लग रहा है कि ये कंपनियां बिहार को निवेश के बेहतरीन डेस्टिनेशन के रुप में देख रही हैं।

उन्होंने कहा हमारे पास पर्याप्त जमीन है। मुख्यमंत्री जी ने बंद चीनी मिलों की व अन्य 2800 एकड़ जमीन उद्योग विभाग को दी है। उन्होंने कहा कि हमारा ईरादा ये भी है कि बिहार आने वाले टेक्सटाइल कंपनियों को प्लग एंड प्ले सुविधाओं के साथ जमीन या जगह उपलब्ध कराई जाए ताकि उद्योगों की स्थापना तेज गति से हो।आपको बता दें बिहार टेक्सटाइल एंड लेदर पॉलिसी 2022 की लॉंचिंग 8 जून को पटना के अधिवेशन भवन में सुबह 10.30 बजे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करेंगे।इस मौके पर बिहार के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, रेणु देवी, बिहार के मुख्य सचिव आमिर सुब्हानी, उद्योग विभाग के प्रधान सचिव संदीप पौन्डरीक और देश के टेक्सटाइल व लेदर सेक्टर के बड़े उद्योगपति मौजूद रहेंगे।

उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि बिहार की सबसे बड़ी ताकत इसकी प्रशिक्षित श्रमशक्ति है। उन्होंने कहा कि तिरुपुर, सूरत, अहमदाबाद, मुंबई, चंडीगढ़ समेत देश के तमाम टेक्सटाइल कंपनियों में ज्यादातर कुशल या अर्धकुशल कामगार बिहार के ही हैं इसलिए बिहार में टेक्सटाइल और लेदर उद्योग की सफलता की गारंटी सबसे ज्यादा है। ऐसे भी इस सेक्टर में कम पूंजी में ज्यादा लोगों को रोजगार मिलता है।

उन्होंने कहा कि बिहार की आबादी 14 करोड़ है लेकिन जो भी कंपनियां बिहार में निवेश करेगी उसे देश के पूर्वोत्तर राज्यों समेत नेपाल, भूटान जैसे कई पड़ोसी मुल्कों की करीब 54 करोड़ की आबादी का बड़ा बाजार मिलेगा। इसलिए बिहार में अपने उत्पाद बेचने वाली कंपनियों को हमने कहा है कि सिर्फ बेचिए नहीं, बनाईए भी बिहार में और मुझे उम्मीद है कि बिहार टेक्सटाइल और लेदर पॉलिसी इस सेक्टर की कंपनियों का निवेश बिहार में आकर्षित करने में कामयाब रहेगी। उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि अभी हमने एक नारा और दिया है कि अब लौट के आईए बिहार में । ये उनके लिए है जो बिहार से हैं देश के उन्य हिस्सों में या विदेशों में बड़ा कारोबार कर रहे हैं, बड़े उद्योगपति बनकर बिहार का नाम रोशन कर रहे हैं। 

उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि इथेनॉल के बाद हमारा पूरा फोकस बिहार को टेक्सटाइल और लेदर उद्योग का हब बनाना है। इसके लिए पॉलिसी के तहत पूंजीगत अनुदान, रोजगार अनुदान, विद्युत अनुदान, फ्रेट अनुदान, पेटेंट अनुदान, कौशल विकास अनुदान समेत कई तरह के प्रोत्साहन का प्रावधान किया गया है। उद्योग मंत्री सैयद शाहननवाज हुसैन ने कहा कि ऋण पर ब्याज अऩुदान, एसजीएसटी का रिइम्बर्समेंट, स्टैम्प शुल्क में छूट, निबंधन, भूमि सपंरिवर्तन पर छूट जैसे तमाम प्रावधानों से इस प्रक्षेत्र की कंपनियां बिहार में निवेश के लिए जरुर आकर्षित होंगी। उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने ये भी कहा कि पॉलिसी के जरिए प्रोत्साहित करने के अलावा हम देश भर के उद्योगपतियों को बिहार आने पर रेड कार्पेट वेल्कम भी देंगे। उन्होंने कहा कि हम ईज ऑफ डूईंग बिजनेस पर बहुत काम कर रहे हैं। हमने महीनों, हफ्तों या दिनों में नहीं बल्कि घंटों में जमीन आवंटन से लेकर अन्य कई तरह की प्रक्रियाएँ पूरी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमारा उद्योग विभाग भी दिन रात काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि हम सबने मिलकर ठान ली है कि बिहार में उद्योग और रोजगार का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का सपना पूरा होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसा औद्योगिक बिहार देखना चाहते हैं, वो हकीकत में तब्दील होगा।