BREAKING NEWS

पीेएम मोदी ने पूर्वांचल को दी 10 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात, सपा के लिए कही ये बात◾सदन में पैदा हो रही अड़चनों के लिए सरकार जिम्मेदार : मल्लिकार्जुन खड़गे◾UP चुनाव में BJP कस रही धर्म का फंदा? आनन्द शुक्ल बोले- 'सफेद भवन' को हिंदुओं के हवाले कर दें मुसलमान... ◾नगालैंड गोलीबारी केस में सेना ने नगारिकों की नहीं की पहचान, शवों को ‘छिपाने’ का किया प्रयास ◾विवाद के बाद गेरुआ से फिर सफेद हो रही वाराणसी की मस्जिद, मुस्लिम समुदाय ने लगाए थे तानाशाही के आरोप ◾लोकसभा में बोले राहुल-मेरे पास मृतक किसानों की लिस्ट......, मुआवजा दे सरकार◾प्रधानमंत्री मोदी ने सांसदों को दी कड़ी नसीहत-बच्चों को बार-बार टोका जाए तो उन्हें भी अच्छा नहीं लगता ...◾Winter Session: निलंबन वापसी के मुद्दे पर राज्यसभा में जारी गतिरोध, शून्यकाल और प्रश्नकाल हुआ बाधित ◾12 निलंबित सदस्यों को लेकर विपक्ष का समर्थन,संसद परिसर में दिया धरना, राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित ◾JNU में फिर सुलगी नए विवाद की चिंगारी, छात्रसंघ ने की बाबरी मस्जिद दोबारा बनाने की मांग, निकाला मार्च ◾भारत में होने जा रहा कोरोना की तीसरी लहर का आगाज? ओमीक्रॉन के खतरे के बीच मुंबई लौटे 109 यात्री लापता ◾देश में आखिर कब थमेगा कोरोना महामारी का कहर, पिछले 24 घंटे में संक्रमण के इतने नए मामलों की हुई पुष्टि ◾लोकसभा में न्यायाधीशों के वेतन में संशोधन की मांग वाले विधेयक पर होगी चर्चा, कई दस्तावेज भी होंगे पेश ◾PM मोदी के वाराणसी दौरे से पहले 'गेरुआ' रंग में रंगी गई मस्जिद, मुस्लिम समुदाय में नाराजगी◾ओमीक्रॉन के बढ़ते खतरे के बीच दिल्ली फिर हो जाएगी लॉकडाउन की शिकार? जानें क्या है सरकार की तैयारी ◾यूपी : सपा और रालोद प्रमुख की आज मेरठ में संयुक्त रैली, सीट बटवारें को लेकर कर सकते है घोषणा ◾दिल्ली में वायु गुणवत्ता 'बहुत खराब' श्रेणी में दर्ज, प्रदूषण को कम करने के लिए किया जा रहा है पानी का छिड़काव ◾विश्व में वैक्सीनेशन के बावजूद बढ़ रहे है कोरोना के आंकड़े, मरीजों की संख्या हुई इतनी ◾सदस्यीय समिति को अभी तक सरकार से नहीं हुई कोई सूचना प्राप्त,आगे की रणनीति के लिए आज किसान करेंगे बैठक ◾ पीएम मोदी आज गोरखपुर को 9600 करोड़ रूपये की देंगे सौगात, खाद कारखाना और AIIMS का करेंगे लोकार्पण◾

पंचायत चुनाव को लेकर BJP की तैयारी, संगठन मजबूती के लिए गांव-गांव तक पहुंचने की कवायद में जुटी पार्टी

बिहार में 11 चरणों में होने वाला पंचायत चुनाव भले ही दलगत आधार पर नहीं हो रहे हो लेकिन भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने इस चुनाव में अप्रत्यक्ष रूप से ज्यादा से ज्यादा अपने कार्यकर्ताओं को चुनावी मैदान में उतारने की योजना बनाई है, जिससे उसका संगठन पंचायत और गांव तक मजबूत हो सके। भाजपा के सूत्रों का कहना है कि पार्टी ने बिहार में पंचायत के साथ ही जिला परिषद के चुनाव में अपने उम्मीदवार को लड़ाने की अंदरूनी घोषणा तक कर दी है। 

सूत्रों का कहना है कि पार्टी यह मानकर चल रही है पंचायत चुनाव में जो जमीन तैयार होगी वह जमीन भाजपा को अगले चुनाव में काम आएगी। भाजपा के एक नेता बताते हैं कि कोरोना की दूसरी लहर से पहले प्रदेश भाजपा ने प्रत्येक जिले में पंचायत चुनाव की तैयारी का निर्देश दिया था। जिला कार्यसमिति की बैठक के लिए तय एजेंडा में भाजपा समर्थित जिला परिषद अध्यक्ष एवं प्रखंड प्रमुख बनाने का स्पष्ट निर्देश दिया गया। रणनीति के तहत बूथ तक के कार्यकतार्ओं को चुनाव में जोड़ने की रणनीति तैयार की गई है।

इस बीच कोराना काल में पंचायत चुनाव टला और भाजपा की तैयारी भी शिथिल हो गई थी। चुनाव की घोषणा के बाद अलग-अलग मंडलों में भाजपा का समर्थन पाने के लिए प्रत्याशी लगातार अध्यक्ष से संपर्क कर रहे हैं। इधर, भाजपा के कार्यकर्ता घर-घर तक पहुंच रहे हैं। बताया जा रहा है कि कार्यकतार्ओं को बजाब्ता इसके लिए टास्क दिया गया है। इसके तहत सभी प्रतिनिधियों को सप्ताह में दो दिन हर टीकाकरण केंद्र जा रहे हैं। 

इसके अलावा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत मुफ्त अनाज के लिए प्रधानमंत्री की तस्वीर वाले थैले का वितरण किया जा रहा है। इस अभियान के तहत कम से कम 50 लाख परिवार को एक-एक थैला दिया जाएगा। इसको लेकर राज्य के सभी सांसद, विधायक और विधान पार्षद को एक टागरेट दिया गया है। इस अभियान को सफलतापूर्वक संपन्न कराने के लिए पार्टी के कई पदाधिकारियों को जिम्मदारी दी गई है।

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल भी कहते हैं कि पार्टी संगठन को मजबूत करने के लिए लगातार कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि 25 सितंबर से 25 दिसंबर अर्थात पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती से लेकर अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती तक बूथ स्तर पर पार्टी को सशक्त बनाने की दिशा में काम किया जाएगा। भाजपा के नेता और राज्य के पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी भी कहते हैं कि अगर भाजपा के कार्यकर्ता चुनाव लड़ते हैं तो मदद की जाएगी। उन्होंने हालांकि यह भी पंचायत चुनाव दलगत आधार पर नहीं हो रहा।

बता दें कि बिहार में 11 चरणों में पंचायत चुनाव कराने की घोषणा हो चुकी है। इस चुनाव में पहले चरण के लिए 24 सितंबर को वोट डाले जाएंगे जबकि 12 दिसंबर को 11 वें तथा अंतिम चरण का मतदान होगा। बिहार में वर्ष 2016 में गठित त्रि-स्तरीय पंचायती राज संस्थाएं और ग्राम कचहरियां जून महीने में भंग कर दी गई हैं। जून के पहले कोरोना के कारण चुनाव कराना संभव नहीं था। जून के बाद पंचायत चुनाव तक पंचायत परामर्श समिति काम कर रही है।