BREAKING NEWS

खट्टर ने स्थानीय युवाओं को नौकरियों में 75 फीसदी आरक्षण देने वाला विधेयक न लाने के संकेत दिए ◾सबरीमला में श्रद्धालुओं की जबरदस्त भीड़, 2 महिलायें वापस भेजी गयी ◾जेएनयू छात्रसंघ पदाधिकारियों का दावा, एचआरडी मंत्रालय के अधिकारी ने दिया समिति से मुलाकात का आश्वासन ◾प्रियंका गांधी ने इलेक्टोरल बांड को लेकर मोदी सरकार पर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बात ◾TOP 20 NEWS 18 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद पवार बोले- किसी के साथ सरकार बनाने पर चर्चा नहीं◾INX मीडिया धनशोधन मामला : चिदंबरम ने जमानत याचिका खारिज करने के आदेश को न्यायालय में दी चुनौती ◾मनमोहन सिंह ने कहा- राज्य की सीमाओं के पुनर्निधार्रण में राज्यसभा की अधिक भूमिका होनी चाहिए◾'खराब पानी' को लेकर पासवान का केजरीवाल पर पटलवार, कहा- सरकार इस मुद्दे पर राजनीति नहीं करना चाहती◾संसद का शीतकालीन सत्र : राज्यसभा के 250वें सत्र पर PM मोदी का संबोधन, कहा-इसमें शामिल होना मेरा सौभाग्य◾बीजेपी बताए कि उसे चुनावी बॉन्ड के जरिए कितने हजार करोड़ रुपये का चंदा मिला : कांग्रेस ◾CM केजरीवाल बोले- प्रदूषण का स्तर कम हुआ, अब Odd-Even योजना की कोई आवश्यकता नहीं है ◾महाराष्ट्र: शिवसेना संग गठबंधन पर शरद पवार का यू-टर्न, दिया ये बयान◾ JNU स्टूडेंट्स का संसद तक मार्च शुरू, छात्रों ने तोड़ा बैरिकेड, पुलिस की 10 कंपनियां तैनात◾शीतकालीन सत्र: NDA से अलग होते ही शिवसेना ने दिखाए तेवर, संसद में किसानों के मुद्दे पर किया प्रदर्शन◾शीतकालीन सत्र: चिदंबरम ने कांग्रेस से कहा- मोदी सरकार को अर्थव्यवस्था पर करें बेनकाब◾ PM मोदी ने शीतकालीन सत्र शुरू होने से पहले सभी दलों से सहयोग की उम्मीद जताई ◾संजय राउत ने ट्वीट कर BJP पर साधा निशाना, कहा- '...उसको अपने खुदा होने पर इतना यकीं था'◾देश के 47वें CJI बने जस्टिस बोबडे, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिलाई शपथ◾राजस्थान के श्री डूंगरगढ़ के पास बस और ट्रक की भीषण टक्कर, 10 लोगों की मौत◾

बिहार

बिहार : बीजेपी की वरिष्ठ नेता रेणु कुशवाहा ने पार्टी से दिया इस्तीफा

लोकसभा चुनाव में टिकट बंटवारे से नाराज बिहार की पूर्व मंत्री एवं बीजेपी की वरिष्ठ नेता रेणु कुशवाहा ने आज पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया। रेणु कुशवाहा ने पूर्व विधायक पूनम देवी और वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में मधेपुरा लोकसभा क्षेत्र से बीजेपी के उम्मीदवार रहे विजय कुमार सिंह की मौजूदगी में यहां आयोजित संवाददाता सम्मेलन में पार्टी से इस्तीफा दिए जाने की घोषणा की।

उनके साथ ही वरिष्ठ नेता नरेंद्र सिंह कुशवाहा और उनके समर्थकों ने भी पार्टी से नाराजगी जताते हुए इस्तीफा देने का ऐलान किया। पूर्व मंत्री रेणु कुशवाहा ने कहा कि आज से ठीक पांच वर्ष पहले बिहार सरकार में मंत्री के पद पर रहते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सबका साथ सबका विकास के नारे से विशेष रूप से प्रभावित होकर जनता दल यूनाइटेड जदयू) एवं मंत्री पद से इस्तीफा देकर बीजेपी में अपने समर्थकों के साथ शामिल हुई थी।

लेकिन, इन पांच वर्षों में बीजेपी नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार का चेहरा बेनकाब हो गया है एवं रही सही कसर इस बार के लोकसभा चुनाव में प्रत्याशियों के चयन में पूरी कर दी है। पूर्व मंत्री रेणु कुशवाहा ने कहा कि राज्य की बड़ी आबादी अल्पसंख्यक एवं कुशवाहा समाज की है लेकिन इन दोनों समुदायों को इस बार के लोकसभा चुनाव में टिकट से वंचित करके बीजेपी सबका विकास कैसे करना चाहती है।

हालांकि रेणु कुशवाहा ने कहा कि यह बात सच है कि बीजेपी सबका साथ तो लेती है लेकिन विकास किसी खास का ही करती है। बीजेपी के इस व्यवहार से आहत कुशवाहा समाज काफी खिन्न और मर्माहत है। इस असहज परिस्थिति में बीजेपी में राजनीति नहीं हो सकती है और इसी से अपने साथियों एवं समर्थकों के साथ आज बीजेपी से अलग होने का निर्णय लिया है।

पूर्व मंत्री रेणु कुशवाहा ने कहा कि किसी भी पार्टी में निष्ठावान सांगठनिक कार्यकर्ताओं के भविष्य के बारे में नेताओं को कोई चिंता नहीं है। रुपये-पैसे की बदौलत टिकट वितरित किया जा रहा है। सभी पार्टियों ने राजनीतिक लोकतंत्र का मखौल उड़ाया था आम जनता एवं राजनीतिक कार्यकर्ताओं के साथ भद्दा मजाक किया है।

रेणु कुशवाहा ने कहा कि अब ऐसे में नई तरह की राजनीति की जरूरत हो गयी है। उन्होंने कहा कि जल्द ही सभी दलों के स्वाभिमानी राजनीतिक कार्यकर्ताओं एवं हाशिये पर बैठे सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर राजनीति की दिशा तय की जाएगी