BREAKING NEWS

कोरोना संकट : देश में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 1000 के पार, मौत का आंकड़ा पहुंचा 24◾कोरोना महामारी के बीच प्रधानमंत्री मोदी आज करेंगे मन की बात◾कोरोना : लॉकडाउन को देखते हुए अमित शाह ने स्थिति की समीक्षा की◾इटली में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, मरने वालों की संख्या बढ़कर 10,000 के पार, 92,472 लोग इससे संक्रमित◾स्पेन में कोरोना वायरस महामारी से पिछले 24 घंटों में 832 लोगों की मौत , 5,600 से इससे संक्रमित◾Covid -19 प्रकोप के मद्देनजर ITBP प्रमुख ने जवानों को सभी तरह के कार्य के लिए तैयार रहने को कहा◾विशेषज्ञों ने उम्मीद जताई - महामारी आगामी कुछ समय में अपने चरम पर पहुंच जाएगी◾कोविड-19 : राष्ट्रीय योजना के तहत 22 लाख से अधिक सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा कर्मियों को मिलेगा 50 लाख रुपये का बीमा कवर◾कोविड-19 से लड़ने के लिए टाटा ट्रस्ट और टाटा संस देंगे 1,500 करोड़ रुपये◾लॉकडाउन : दिल्ली बॉर्डर पर हजारों लोग उमड़े, कर रहे बस-वाहनों का इंतजार◾देश में कोविड-19 संक्रमण के मरीजों की संख्या 918 हुई, अब तक 19 लोगों की मौत ◾कोरोना से निपटने के लिए PM मोदी ने देशवासियों से की प्रधानमंत्री राहत कोष में दान करने की अपील◾कोरोना के डर से पलायन न करें, दिल्ली सरकार की तैयारी पूरी : CM केजरीवाल◾Coronavirus : केंद्रीय राहत कोष में सभी BJP सांसद और विधायक एक माह का वेतन देंगे◾लोगों को बसों से भेजने के कदम को CM नीतीश ने बताया गलत, कहा- लॉकडाउन पूरी तरह असफल हो जाएगा◾गृह मंत्रालय का बड़ा ऐलान - लॉकडाउन के दौरान राज्य आपदा राहत कोष से मजदूरों को मिलेगी मदद◾वुहान से भारत लौटे कश्मीरी छात्र ने की PM मोदी से बात, साझा किया अनुभव◾लॉकडाउन को लेकर कपिल सिब्बल ने अमित शाह पर कसा तंज, कहा - चुप हैं गृहमंत्री◾बेघर लोगों के लिए रैन बसेरों और स्कूलों में ठहरने का किया गया इंतजाम : मनीष सिसोदिया◾कोविड-19 : केरल में कोरोना वायरस से पहली मौत, देश में अबतक 20 लोगों की गई जान ◾

ट्रेड यूनियनों के संयुक्त आह्वान पर 8-9 जनवरी के आम हड़ताल का व्यापर असर

गया : वाम दल, भाकपा, माले एएस यू सी आई और केंद्रीय ट्रेड यूनियन द्वारा केंद्र की मोदी सरकार की कथित फासीवादी एकारपोरेट पक्षी एवं जन विरोधी नीतियों के विरोध में 8 और 9 जनवरी को आम हड़ताल का आह्वान किया गया। कर्मचारी नेताओं का कहना है कि बैंको कि खस्ताहाल स्थिति के पीछे देश के बड़े पूंजीपतियों व कॉरपोरेट घरानों का हाथ है।

बैंकों को बीमार घोषित कर उसे निजी हाथों में सौंपने की साजिश हो रही है। इस तरह सार्वजनिक क्षेत्रों के उद्यमों को औने-पौने दाम पर निजी हाथों में सुपुर्द करने की साजिश जारी है। शिक्षा और स्वास्थ्य जैसी सुविधाओं का निजीकरण हो रहा है जिससे देश के मजदूर वर्ग सहित आम जनता का जीवन संकटग्रस्त हो गया है।

उन्होंने कहा कि सरकार श्रम कानूनों में संशोधन कर ट्रेड यूनियन की गतिविधियों पर लगातार तरह-तरह की पाबंदियां लगा रही है। ऐसी परिस्थिति में जन आंदोलन की व्यापक पृष्ठभूमि में केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने 8 एवं 9 जनवरी को अखिल भारतीय आम हड़ताल का निर्णय लिया है। वाम दल, भाकपा भाकपा, माले एएस यू सी आई और केंद्रीय ट्रेड यूनियन द्वारा आहूत हड़ताल का पूर्ण समर्थन करते हुए इस हड़ताल के समर्थन में 9 जनवरी 2019 को बिहार बंद का आह्वान किया है।

जिले में इस हड़ताल का व्यापक असर रहा। बैंक के पंजाब नेशनल बैंक कि सभी शाखाओं में टेल लटके रहे। पंजाब नेशनल बैंक कर्मचारी नेता बलबंत ने बताया कि सरकार कि कर्मचारी विरोधी निति के विरोध में हड़ताल के दौरान बैंक कि सभी शाखाओं में तालाबंदी रहेगी। बैंक ऑफ बड़ोदा कर्मचारी संघ के शैलेश कुमार सिन्हा ने बताया कि जिले में बैंक कि सभी शखाएं बंद रही जिले करोड़ों का कारोवार प्रभावित हुआ । बिहार चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स के कौशलेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि हड़ताल से व्यापारिओं का बड़े पैमाने पर लेन-देन प्रभावित हुआ है।