BREAKING NEWS

कन्हैया और जिग्नेश आज थामेंगे कांग्रेस का हाथ, राहुल की मौजूदगी में युवा नेताओं को दिलाई जाएगी सदस्यता ◾Today's Corona Update : एक दिन 20 हजार से भी कम नए केस, 179 मरीजों की मौत◾भारत-PAK के बीच आतंकवाद पर हुई तीखी बहस के बावजूद UN महासचिव को वार्ता की उम्मीद, कही यह बात ◾दुनियाभर में कोरोना मामलों का आंकड़ा 23.2 करोड़ के पार, संक्रमण से 47.5 लाख से अधिक लोगों ने गंवाई जान ◾दिल्ली उच्च न्यायालय ने कालकाजी मंदिर से अतिक्रमण व अनधिकृत कब्जा हटाने का आदेश दिया◾योगी सरकार के नए मंत्रियों के विभागों का हुआ बंटवारा, जितिन को मिली प्राविधिक शिक्षा की जिम्मेदारी◾उत्तर प्रदेश : मुख्यमंत्री ने नवनियुक्त मंत्रियों को बांटे विभाग◾DRDO को मिली सफलता ‘आकाश प्राइम’ मिसाइल का किया सफल परीक्षण◾BSP के राष्ट्रीय महासचिव कुशवाहा ने की अखिलेश से मुलाकात, UP चुनाव से पहले थाम सकते है SP का दामन◾UNGA की आम चर्चा को संबोधित नहीं करेंगे अफगानिस्तान और म्यामां: संयुक्त राष्ट्र ◾वित्तीय संकट के चलते अभिभावकों का CBSE को लिखा पत्र, तीन लाख छात्रों की फीस माफ करने की मांग ◾भवानीपुर में दिलीप घोष से धक्का-मुक्की पर चुनाव आयोग सख्त, ममता सरकार से रिपोर्ट मांगी ◾भारत बंद के आह्वान को अभूतपूर्व और ऐतिहासिक प्रतिक्रिया मिली : संयुक्त किसान मोर्चा ◾गरीबों को किराया देने की घोषणा पर केजरीवाल सरकार का यू-टर्न, HC में कहा - वादा नहीं किया था ◾खत्म हुआ किसानों का भारत बंद, 10 घंटे बाद खुले दिल्ली-एनसीआर के सभी बॉर्डर ◾महंत नरेंद्र गिरि मौत मामला : 7 दिन की सीबीआई रिमांड में भेजे गए आनंद गिरी व दो अन्य ◾महिलाओं के बाद अब पुरुषों के लिए तालिबान का फरमान- दाढ़ी बनाना और ट्रिम करना गुनाह, लगाई रोक ◾नए संसद भवन का दौरा करने पर कांग्रेस ने मोदी को घेरा, कहा- काश! PM कोरोना की दूसरी लहर के दौरान किसी अस्पताल जाते ◾भवानीपुर उपचुनाव प्रचार के आखिरी दिन लहराईं बंदूकें, BJP का आरोप- TMC ने दिलीप घोष पर किया हमला ◾किसानों के 'भारत बंद' को लेकर देश में दिखी मिलीजुली प्रतिक्रिया, जानिए किन हिस्सों में जनजीवन हुआ बाधित ◾

क्या लालू युग की हो सकती है समाप्ति! तेजस्वी यादव को सौंपी जा सकती है पार्टी की कमान

 जनता दल (राजद) में अब नेतृत्व परिवर्तन के कयास लगने लगे हैं। राजद प्रमुख और संस्थापक लालू प्रसाद के चारा घोटाला मामले में जमानत मिलने के बाद भी अब तक बिहार नहीं पुहंच पाए हैं। इस दौरान कहा भी जा रहा है कि उनकी तबियत पहले जैसी नहीं है। ऐसे में कयास लगने लगे हैं कि राजद की कमान तेजस्वी यादव को सौंपी जा सकती है।

लालू के नजदीकी माने जाने वाले और राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के दिल्ली जाकर राजद प्रमुख से मिलने के बाद इसकी चर्चा और तेज हो गई है। तेजस्वी यादव को भी सोमवार को दिल्ली तब बुलाया गया, जब महंगाई के विरोध में राजद कार्यकर्ता सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे थे। तेजस्वी इस कार्यक्रम का खुद नेतृत्व भी कर रहे थे, ऐसे में वे दिल्ली रवाना हो गए।

जगदानंद सिंह और तेजस्वी के दिल्ली पहुंचने के बाद राजद के अंदरखाने से जो खबर छनकर आ रही है उसके मुताबिक राजद में अब 'लालू युग' की समाप्ति होने वाली है और अब 'तेजस्वी युग' की शुरूआत होगी। हालांकि राजद के नेता इसको लेकर कुछ खास नहीं बोल रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि जमानत मिलने के बाद लालू प्रसाद जेले से बाहर जरूर आ गए हों लेकिन अब तक वे बिहार नहीं पहुंच पाए हैं। दीगर बात है कि इस दौरान वे दो मौकों पर वर्चुअल रूप से कार्यकतार्ओं को संबोधित कर चुके हैं। लालू वर्चुअल रूप से ही सही कार्यकतार्ओं में जोश भरने की कोशिश की। हालांकि लालू प्रसाद उस रूप में नहीं दिखे, जिसके कारण उनकी पहचान है। ऐसे में कयास लगाए जाने लगे की राजद संगठन में बड़ा बदलाव कर सकती है। लालू प्रसाद ने भी अपने संबोधन में तेजस्वी की तारीफ और बडे नेताओं और कार्यकतार्ओं के सहयोग मिलने की बात कहकर इसके संकेत दे दिए।

गौरतलब है कि पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव में जब कार्यकर्ता लालू प्रसाद की कमी महसूस कर रहे थे, तब तेजस्वी ने पार्टी की कमान संभाली। चुनाव परिणाम में तेजस्वी की मेहनत भी लोगों को देखी जब पार्टी ने राज्य में सबसे अधिक सीट पर विजय हासिल की। राजद के एक वरिष्ठ नेता और लालू परिवार के करीबी नेता ने नाम नहीं प्रकाशित करने की शर्त पर कहते हैं, "खुद लालू प्रसाद भी इस बात पर गंभीरता से विचार कर रहे हैं। जगदानंद सिंह ने जब लालू यादव से मुलाकात की इस दौरान भी इस पर चर्चा हुई कि पार्टी के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी यादव को बनाया जाए।"

पार्टी के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी भी इस मुद्दे पर बहुत खुलकर नहीं कहते हैं। उन्होंने कहा, "बदलाव प्रकृति का नियम है। पिछले विधानसभा चुनाव परिणाम तेजस्वी यादव के नेतृत्वक्षमता को प्रदर्शित करने के लिए काफी है। उन्होंने हालांकि यह भी कहा जब बदलाव होगा, तब आपलोगों को भी पता चल ही जाएगा।"

बहरहाल, राजद संगठन में बडे बदलाव की चर्चा जोरों पर है, लेकिन राजद रणनीतिकारों के लिए अचानक लालू से लेकर तेजस्वी को नेतृत्व दिया जाना आसान भी नहीं होगा। ऐसे में चर्चा है कि तेजस्वी को कार्यकारी अध्यक्ष बनाकर पार्टी का नेतृत्व थमाया जा सकता है।

कल्याण सिंह की हालत नाजुक, सांस लेने में तकलीफ के बाद से वेंटिलेटर पर पूर्व सीएम