BREAKING NEWS

तमिलनाडु में अब हर रविवार को रहेगा संपूर्ण लॉकडाउन, 31 जनवरी तक बढ़ाई गईं पाबंदियां◾बाहरी नेताओं के SP में शामिल होने से कोई मनमुटाव नहीं, नंदा का दावा- कुशल रणनीति से शांत हुआ असंतोष ◾मुस्लिम विरोधी बयानबाजी से भाजपा को कोई फायदा नहीं होने वाला, जयंत चौधरी ने सरकार पर लगाया आरोप ◾UP विधानसभा चुनाव: BJP प्रचार अभियान में इन शहरों को दे रही तवज्जों, हिंदुत्व के एजेंडे पर दिखाई दे रहा फोकस◾दिल्ली में लगाई गई पाबंदियों का कोरोना के प्रसार पर हुआ असर, अस्पतालों में भर्ती होने वालों की संख्या स्थिर : जैन ◾अनुराग ठाकुर का सपा पर तंज, बोले- समाजवाद का असली खेल या तो प्रत्याशी को जेल या फिर बेल◾क्या है BJP की सबसे बड़ी कमियां? जनता ने दिया जवाब, राहुल बोले- नफरत की राजनीति बहुत हानिकारक ◾खुद PM मोदी ने हमें दिया है ईमानदारी का सर्टिफिकेटः अरविंद केजरीवाल◾UP : कोरोना की स्थिति नियंत्रित,CM योगी ने लोगों से की अपील- भीड़ में जाने से बचें और सावधानी बरतें◾देशव्यापी टीकाकरण अभियान का एक वर्ष पूरा हुआ, पीएम मोदी समेत इन दिग्गज नेताओं ने ट्वीट कर दी बधाई ◾Lata Mangeshkar Health Update: जानें अब कैसी है भारत की कोयल की तबीयत, डॉक्टर ने दिया अपडेट ◾यूपी के चुनावी दंगल में AIMIM ने जारी की उम्मीदवारों की पहली सूची, सभी मुस्लिम चेहरे को तरजीह, देखें लिस्ट◾गोवा में AAP को बहुमत नहीं मिला तो पार्टी गैर-भाजपा के साथ गठबंधन बनाने के बारे में सोचेगी : CM केजरीवाल◾UP चुनाव की टक्कर में OBC का चक्कर, जानें किसके सिर पर सजेगा जीत का ताज और किसे मिलेगी मात ◾योगी सरकार के पूर्व मंत्री दारासिंह चौहान ने ज्वाइन की साइकिल, कुछ दिन पहले ही छोड़ा था बीजेपी का साथ ◾टीकाकरण अभियान का एक साल पूरा, नड्डा बोले- असंभव कार्य को संभव किया और दुनिया ने देश की सराहना की ◾पीएम मोदी की सुरक्षा चूक मामले में की जा रही राजनीति सही नहीं : मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा◾राजस्थान: कोरोना की बढ़ती रफ्तार से सरकार चिंतित, मंत्री बोले- लोगों को कोविड प्रोटोकॉल का करना होगा पालन ◾टिकट न मिलने से नाखुश SP कार्यकर्ता ने की आत्मदाह की कोशिश, प्रदेश मुख्यालय के बाहर मची खलबली ◾कोरोना से जंग में ब्रह्मास्त्र बनी वैक्सीन, टीकाकरण को पूरा हुआ 1 साल, करीब 156.76 करोड़ लोगों को दी खुराक ◾

बिहार में जाति आधारित जनगणना बेहतर तरीके से होगी, जल्द बुलाई जाएगी सर्वदीय बैठक: नीतीश कुमार

बिहार की राजनीति में जातिगत जनगणना का मुद्दा काफी चर्चा का विषय बना हुआ है। ऐसे में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को स्पष्ट तौर पर कहा कि बिहार में जाति आधारित जनगणना होगी, और बेहतर तरीके से होगी। उन्होंने यहां तक कहा कि इसके लिए सभी तैयारियां की जा रही है। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि सभी दलों की राय जानने के लिए जल्द ही सर्वदलीय बैठक बुलाई जाएगी। 

तमाम राजनीतिक पार्टियों के नेताओं ने मुलाकात की है 

नीतीश कुमार सोमवार को जनता दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि जातिगत जनगणना को लेकर तमाम राजनीतिक पार्टियों के नेताओं ने मुलाकात की है। उसी समय उन्होंने साफ कर दिया कि बिहार सरकार की मंशा जातिगत जनगणना को लेकर साफ है। इससे सभी को फायदा होगा। 

नीतीश ने कहा- इसे कैसे करना है, किस प्रकार से करना है, तैयारी चल रही है 

उन्होंने कहा कि बिहार में जातिगत जनगणना होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसे कैसे करना है, किस प्रकार से करना है और कौन-कौन से माध्यम से करना है, इसकी तैयारी भी की जा रही है। उन्होंने कहा कि इसमें कोई छूटेगा नहीं। सभी जाति और उपजाति सामने आएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसे लेकर सभी दलों की राय भी एक है। उन्होंने कहा कि इसे लेकर जल्द ही सर्वदलीय बैठक बुलाई जाएगी, उसके बाद जो भी तय होगा उसके अनुसार जातिगत जनगणना होगी। 

कांग्रेस ने पंजाब चुनाव को लेकर शुरू की तैयारियां, सुनील जाखड़ और अंबिका सोनी को मिली बड़ी जिम्मेदारी

कुछ लोग शराबबंदी कानून लागू होने के बाद भी गड़बड़ी कर रहे हैं 

इधर, शराबबंदी के बाद भी कई जगहों पर शराब की खाली बोतलें मिलने के सवाल पर नीतीश कुमार ने कहा कि अभी एक्शन शुरू हुआ है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग शराबबंदी कानून लागू होने के बाद भी गड़बड़ी कर रहे हैं। ऐसे लोगों पर सरकार कड़ी नजर रख रही है। उन्होंने कहा कि ऐसी कोशिश की जा रही है कि शराब पीकर बोतल फेंकने वाले की तस्वीर सामने आ जाए। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों की एक-एक हरकतों पर नजर रखी जा रही है। 

केवल शराब की बोतलें ही फेंकी जा रही है कि शराब भी पी जा रही है 

उन्होंने कहा कि यह भी देखना हेागा कि केवल शराब की बोतलें ही फेंकी जा रही है कि शराब भी पी जा रही है। अब लोग कहीं भी बोतल देख लेते हैं तो उसी घटना को लेकर चर्चा शुरू कर देते हैं, ऐसे में सरकार ने भी अपनी ओर से सजगता बढ़ा दी है। 

उन्होंने कहा इसके बावजूद हर चीजों को गंभीरता से लिया जा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि पहले ही कह दिया गया है कि पटना पर विशेष नजर रखनी है। राजधानी को पहले नियंत्रित करना होगा। मुख्यमंत्री ने शराबबंदी को सफल बनाने के लिए हाल में हो रही कार्रवाई पर संतोष व्यक्त किया।