BREAKING NEWS

कम्युनिस्ट विचारधारा में कन्हैया की नहीं थी कोई आस्था, पार्टी के प्रति नहीं थे ईमानदार : CPI महासचिव◾ पंजाब में लगी इस्तीफों की झड़ी, योगिंदर ढींगरा ने भी महासचिव पद छोड़ा◾कोलकाता ने दिल्ली कैपिटल्स को 3 विकेट से हराया, KKR की प्ले ऑफ में पहुंचने की उम्मीदें जिंदा◾कोरोना सार्वजनिक स्वास्थ्य चुनौती, केंद्र ने कोविड-19 नियंत्रण संबंधित दिशा-निर्देशों को 31 अक्टूबर तक बढ़ाया◾ क्या BJP में शामिल होंगे कैप्टन ? दिल्ली आने की बताई यह खास वजह ◾UP चुनाव में एक साथ लड़ेंगे BJP-JDU! गठबंधन बनाने के लिए आरसीपी सिंह को मिली जिम्मेदारी◾कांग्रेस में शामिल हुए कन्हैया कुमार, कहा- आज देश को बचाना जरूरी, सत्ता के लिए परंपरा भूली BJP ◾सिद्धू के इस्तीफे से कांग्रेस में हड़कंप, कई नेता बोले- पार्टी की राजनीति के लिए घातक है फैसला ◾नवजोत सिंह सिद्धू के इस्तीफे पर बोले CM चन्नी-मुझे इसकी कोई जानकारी नहीं◾अमेरिका ने फिर की इमरान खान की बेइज्जती, मिन्नतों के बाद भी बाइडन नहीं दे रहे मिलने का मौका ◾उरी में भारतीय सेना को मिली बड़ी कामयाबी, पकड़ा गया पाकिस्तान का 19 साल का जिंदा आतंकी ◾पंजाब कांग्रेस में फिर घमासान : सिद्धू ने अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा, BJP ने ली चुटकी ◾पंजाब: CM चन्नी ने किया विभागों का वितरण, जानें किसे मिला कौनसा मंत्रालय◾पंजाब के पूर्व CM अमरिंदर सिंह आज पहुंच रहे हैं दिल्ली, अमित शाह और नड्डा से करेंगे मुलाकात◾योगी के नए मंत्रिमंडल में 67% मंत्री सवर्ण और पिछड़े समाज से सिर्फ़ 29% : ओवैसी◾क्या कांग्रेस में यूथ लीडरों की एंट्री होगी मास्टरस्ट्रोक, पार्टी मुख्यालय पर लगे कन्हैया और जिग्नेश के पोस्टर◾कन्हैया के पार्टी जॉइनिंग पर मनीष तिवारी का कटाक्ष- अब शायद फिर से पलटे जाएं ‘कम्युनिस्ट्स इन कांग्रेस’ के पन्ने ◾PM मोदी ने विशेष लक्षणों वाली फसलों की 35 किस्मों का किया लोकार्पण , कुपोषण पर होगा प्रहार ◾जम्मू-कश्मीर : उरी सेक्टर में पकड़ा गया पाकिस्तानी घुसपैठिया, एक आतंकवादी ढेर ◾बिहार: केंद्र से झल्लाई JDU, कहा - हमलोग थक चुके हैं, अब नहीं करेंगे विशेष राज्य का दर्जा देंगे की मांग◾

जलजमाव को लेकर पप्पू यादब ने बोला हल्ला कहा- मोदी जी को इस बार पानी मे तर्पण देना है

जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक  के राष्ट्रीय अध्यक्ष  राजेश रंजन  उर्फ पप्पू यादव ने सरकार की तरफ से जलजमाव से निजात की तैयारी को लेकर सुशासनी सरकार पर एक बार फिर हमला बोला है। पप्पू यादव ने कहा कि 15 वर्षों के सुशासन का रिपोर्ट कार्ड और बिहार में हुए विकास का असली सच पटना की सड़कों पर देखने को मिल जाएगा।

पिछले बार की तरह नीतीश जी का डिप्टी सुशील मोदी हाफ पेंट पहन पड़ोसियों को छोड़ भाग ना पाए इसके लिए लोगों को सजग रहना होगा। इस बार उन्हें  इसी पानी का स्वाद चखाना है और इसी पानी में उनका तर्पण भी करवाना है।

दो दिन पहले ही पप्पू यादव ने पटना वासियों से संप हाउस का निरीक्षण कर कहा था कि पटना को पेरिस बनाने की बात कहने वाले आज कहां सो गए हैं यह पता ही नहीं चलता है।

पिछले वर्ष पटना का शहरी  क्षेत्र डूबा था लेकिन इस बार पूरा पटना का ग्रामीण इलाका भी डूब जाए तो कोई आश्चर्य की बात नहीं होगी, क्योंकि राज्य सरकार की ओर से जल निकासी और जलजमाव समाप्त करवाने के लिए कोई सार्थक प्रयास नही हो रहा है। और जलजमाव को लूट का साधन मानने वाले  सरकारी अमला अपने कामों में लगे हुए हैं,  और इनको संरक्षण देने वाले बड़े राजनेताओं के द्वारा ऐसे लूट को बढ़ावा दिया जा रहा है।

जिस कारण समय पर  नाले का निर्माण हो सका और ना ही जलजमाव की समस्या के निदान के लिए संपर्क हाउस या पंप हाउस की कारगर व्यवस्था की जा सकी। हद तो यह है कि पटना नगर निगम ,नगर विकास विभाग इस मामले में जिस प्रकार की कोताही बरत रही है शायद पटना पिछली बार से भी ज्यादा भयंकर परिस्थिति पटना के लोगो को झेलने के लिए तैयार रहना होगा।

राज्य सरकार के मंत्री से लेकर  संत्री तक लूट के लिए ही सारे कामों को अंजाम दे रहे हैं और इसमें  पूर्व की तरह  हुडको  और बुडको को भी लूट के चरखा में नफा नजर आ रहा है। इन्होंने  चेतावनी देते हुए कहा कि किसी भी परिस्थिति में लुटेरे पदाधिकारियों और उनके संरक्षण कर्ता  राजनेताओं को लूट की छूट नहीं दी जाएगी और उनके खिलाफ जनता बगावत करेगी और इन्हें सबक सिखाएगी।

पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव  एजाज अहमद ने कहा कि पिछले बार जब पटना में वर्षा के कारण  जल कर्फ्यू की  स्थिति उत्पन्न हुई  थी  तब  उस समय पप्पू यादव ने पटना के लोगों के सहायता करते हुए  मसीहा बनकर खड़े हुए थे। उन्होंने कहा कि पप्पू यादव के संप हाउस के दौरा के बाद ही  पटना साहिब के सांसद और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद की कल ही नींद खुली लेकिन तब तक पटना में बरसात का दौर शुरू हो गया और  पटना में आज से ही जलजमाव की भयंकर स्थिति देखने को मिल रही है, यह शर्मनाक बात है।