BREAKING NEWS

कोविड-19 ओमीक्रोन स्वरूप से उठी संक्रमण की लहर को लेकर चिंतित दक्षिण अफ्रीका के वैज्ञानिक◾साउथ अफ्रीका से कर्नाटक आए 2 लोग कोरोना पॉजिटिव, राज्य में मचा हड़कंप◾WHO ने ओमिक्रॉन कोविड वैरिएंट को लेकर सभी देशों को सतर्क रहने को कहा◾भारत ड्रोन का इस्तेमाल वैक्सीन पहुंचाने के लिए करता है, केंद्रीय मंत्री ने साधा पाकिस्तान पर निशाना ◾सोमवार से दिल्ली में फिर खुलेंगे स्कूल, उपमुख्यमंत्री सिसोदिया ने दी जानकारी◾UP: प्रतिज्ञा रैली में BJP पर जमकर गरजी प्रियंका, बोली- 'इनका काम केवल झूठा प्रचार करना'◾राजनाथ ने मायावती और अखिलेश पर तंज कसते हुए कहा- उप्र को न बुआ और न बबुआ चाहिए, सिर्फ बाबा चाहिए◾कांग्रेस नेता आजाद ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- केंद्र शासित प्रदेश बनने से DGP को थानेदार और सीएम को MLA... ◾ट्रेक्टर मार्च रद्द करने के बाद इन मुद्दों पर अड़ा संयुक्त किसान मोर्चा, कहा - विरोध जारी रहेगा ◾ओमिक्रोन कोरोना का डर! PM मोदी बोले- अंतरराष्ट्रीय उड़ानें शुरू करने के फैसले की फिर हो समीक्षा◾अक्षर और अश्विन की फिरकी के जाल में फंसा न्यूजीलैंड, पहली पारी में 296 रनों पर सिमटी कीवी टीम ◾'जिहाद यूनिवर्सिटी': पाकिस्तान का वो मदरसा जिसके पास है अफगानिस्तान में काबिज तालिबान की डोर◾अखिलेश यादव ने किए कई चुनावी ऐलान, बोले- अब जनता BJP का कर देगी सफाया ◾संसद में बिल पेश होने से पहले किसानों का बड़ा फैसला, स्थगित किया गया ट्रैक्टर मार्च◾दक्षिण अफ्रीका में बढ़ते नए कोरोना वेरिएंट के मामलों के बीच पीएम मोदी ने की बैठक, ये अधिकारी हुए शमिल ◾कोरोना के नए वैरिएंट को राहुल ने बताया 'गंभीर' खतरा, कहा-टीकाकरण के लिए गंभीर हो सरकार◾बेंगलुरू से पटना जा रहे विमान की नागपुर एयरपोर्ट पर इमरजेंसी लैंडिंग, 139 यात्री और क्रू मेंबर थे सवार ◾कृषि कानूनों को रद्द करने की घोषणा के बाद आंदोलन का कोई औचित्य नहीं : नरेंद्र सिंह तोमर ◾NEET PG काउंसलिंग में देरी को लेकर रेजिडेंट डॉक्टर्स की हड़ताल, दिल्ली में ठप पड़ी 3 अस्पतालों की OPD सेवांए◾नवाब मलिक ने किया दावा, बोले- अनिल देशमुख की तरह मुझे भी फंसाना चाहते हैं कुछ लोग◾

लॉकडाउन में सरकार मजदूरों की आवश्यकताओं का रखें खयाल: मंजूबाला

पटना, (पंजाब केसरी) : बिहार कांग्रेस महिला प्रदेश पूर्व उपाध्यक्ष मंजूबाला पाठक ने सरकार से अपील की है कि सरकार ने जो 16 दिनों के लिए लॉकडाउन किया है इसमें गरीबो और दिहाड़ी मजदूरों का ख्याल रखा जाए।उनके भोजन और परिवार की जरूरतों का ख्याल रखा जाए।दिहाड़ी मजदूर रोज़ कमाते है तभी उनके भोजन की आवश्यकता भी पूरी होती है।ऐसे में सरकार को मजदूरों की आर्थिक मदद भी करनी चाहिए। पत्रकारों को संबोधित करते हुए मंजूबाला पाठक ने कहा सरकार केंद्र वाली गलती ही दोहरा रही है।बिना किसी तैयारी के लॉकडाउन किया जा रहा है।मजदूरों और गरीबों को विश्वास में नही लिया गया है।16 द्विन कि लिए उनके काम पर भी ताला लग गया है।अब उनकी बुनियादी आवश्यकताएं कैसे पूरी होंगी?सरकार को अविलम्भ ऐसे लोगो की पहचान कर उनके खातों में पैसा डालना चाहिए।जिससे 16 दिन के लॉकडौन को पूर्ण रूप से सफल बनाया जा सके। इसके पहले जब कांग्रेस ने कोरोना की बढ़ती संख्या पर सरकार से सवाल पूछा था तब सरकार ने इस पर ध्यान नही दिया।एक दिन में ही बीजेपी आफिस से इतने कोरोना पॉजिटिव निकले की सरकार की आंखें खुल गयी।स्वास्थ्य सुविधाओ की जांच कर इनको पुख्ता करने की आवश्यकता है।इसके अलावा सैंपलिंग भी बढ़ाने की जरूरत है।लॉकडाउन वायरस से बचने का कोई तरीका नही है।ये तो बस केसेज को कुछ दिन रोक देगा।बचाव और सोशल डिस्टेनसिंग के लिए सरकार को कुछ करना होगा।लोगो के बीच काम करना पड़ेगा।अब देखने वाली बात ये है कि इस लॉकडौन में सरकार कैसे लोगो तक जरूरी सामानों को आपूर्ति करती है।