BREAKING NEWS

देश में अब तक कोविड रोधी टीके की 161.81 करोड़ से ज्यादा खुराक दी गई : सरकार ◾भगवंत मान ने सीएम चन्नी को दी चुनौती, कहा- अगर हिम्मत है तो धुरी सीट से मेरे खिलाफ चुनाव लड़ लें◾कनाडा की सीमा पर चार भारतीयों की मौत पर PM ट्रूडो बोले- बेहद दुखद मामला, सख्त कार्रवाई करूंगा◾EC ने रैली-रोड शो पर लगी पाबंदी को 31 जनवरी तक बढ़ाया, दूसरे तरीकों से प्रचार करने पर दी गई ढील ◾गृहमंत्री शाह ने कैराना में मांगे घर-घर BJP के लिए वोट, पलायन कराने वालों पर साधा निशाना ◾ चन्नी और सिद्धू दोनों पंजाब के लिए निकम्मे हैं, कांग्रेस के अंदर की लड़ाई ही उनको चुनाव में सबक सिखाएगीः कैप्टन◾निर्वाचन आयोग : चुनाव वाले राज्यों के शीर्ष अधिकारियों से करेगा मुलाकात, कोविड की स्तिथि का लेंगे जायजा ◾ दिग्विजय सिंह के खिलाफ भोपाल पुलिस ने दर्ज की FIR , पूर्व सीएम बोले- हमने कोई अपराध नहीं किया◾पंजाब में नफरत का माहौल पैदा कर रही है कांग्रेस, गजेंद्र सिंह शेखावत ने EC से किया कार्रवाई का आग्रह◾बाबू सिंह कुशवाहा की पार्टी के साथ गठबंधन करेंगे ओवैसी, UP की सत्ता में आने के बाद बनाएंगे 2 CM◾ पिता मुलायम सिंह यादव की कर्मभूमि से लड़ेंगे अखिलेश चुनाव, सपा का आधिकारिक ऐलान◾जम्मू-कश्मीर : शोपियां जिले में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुरू, सेना ने रास्ते को किया सील ◾यदि BJP पणजी से किसी अच्छे उम्मीदवार को खड़ा करती है, तो चुनाव नहीं लड़ूंगा: उत्पल पर्रिकर ◾गोवा में BJP के लिए सिरदर्द बनेगा नेताओं का दर्द-ए-टिकट! अब पूर्व CM पार्सेकर छोड़ेंगे पार्टी◾ BSP ने जारी की दूसरे चरण के मतदान क्षेत्रों वाले 51 प्रत्याशियों की सूची, इन नामों पर लगी मोहर◾DM के साथ बैठक में बोले PM मोदी-आजादी के 75 साल बाद भी पीछे रह गए कई जिले◾पूर्व प्रधानमंत्री देवेगौड़ा हुए कोरोना से संक्रमित, ट्वीट कर दी जानकारी ◾यूपी : गृहमंत्री शाह कैराना में करेंगे चुनाव प्रचार, काफी सुर्खियों में था यहां पलायन का मुद्दा ◾उत्तराखंड : टिकट नहीं मिलने से नाराज BJP नेताओं में असंतोष, पार्टी की एकजुटता तोड़ने की दी धमकी ◾मुंबई की 20 मंजिला इमारत में लगी भीषण आग, 7 की मौत, 15 लोग घायल ◾

कैबिनेट विस्तार के बाद JDU में जारी है कद बढ़ाने की दौड़, 'बिहार यात्रा' के जरिए कुशवाहा दिखा रहे सक्रियता

जनता दल (युनाइटेड) के अध्यक्ष आर सी. पी. सिंह के केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने के बाद से ही बिहार की सियासत में गर्मी बढ़ गई है, साथ ही पार्टी संगठन में परिवर्तन के कयास लगाए जाने लगे है। इस बीच, वरिष्ठ नेता उपेंद्र कुशवाहा भी पूरे राज्य की यात्रा पर निकल गए हैं। माना जा रहा है कि कुशवाहा इस यात्रा के जरिए पार्टी में अपने 'कद' को बढ़ाने की कोशिश में जुटे हैं। कुशवाहा अपनी पार्टी राष्ट्रीय लोकसमता पार्टी (रालोसपा) के जदयू में विलय के बाद जदयू का दामन थाम लिया था। 

इसके बाद कुशवाहा को जदयू संसदीय बोर्ड का अध्यक्ष तो बना दिया गया, लेकिन वे सक्रिय नजर नहीं आए। इस बीच, आर. सी. पी. सिंह के केंद्रीय मंत्रिमंडल में शमिल होने के बाद जदयू में अचानक गहमागहमी बढ़ गई है। जदयू को केंद्रीय मंत्रिमंडल में सिर्फ एक कोटा मिलने तथा उस पर सिंह के बैठ जाने के बाद पार्टी में भी असंतोष नजर आया। इस मामले में हालांकि कोई भी नेता खुलकर नहीं बोल रहा है। लेकिन इसके बाद मुख्यमंत्री के नजदीकी माने जाने वाले मुंगेर के सांसद ललन सिंह के कुशवाहा के घर पहुंच कर उनसे मिलने के बाद आनेवाले दिनों में पार्टी में बड़ा उलटफेर के कयास लगाए जाने लगे।

सिंह के मंत्री बनने के बाद पार्टी दो धडों में भी बंटती भी दिख रही है। कहा जा रहा है कि ललन सिंह केंद्र में मंत्री बनने को लेकर सबसे आगे थे, लेकिन अंतिम समय में सिंह का नाम आगे हो गया। देखा जा रहा है कि कई नेताओं ने सिंह को बधाई तक नहीं दी। इधर, कुशवाहा बिहार यात्रा पर निकल गए। जदयू के नेता और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार यात्राओं के जरिए संगठन और लोगों की बीच अपनी पैठ बनाते रहे हैं, लेकिन बदली परिस्थिति में कुशवाहा ने पश्चिम चंपारण के वाल्मीकिनगर से अपनी यात्रा प्रारंभ कर दी है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री कुशवाहा अपनी यात्रा के प्रथम चरण में पश्चिम चंपारण, सीतामढी और मधुबनी जिले में पार्टी कार्यकतार्ओं से मिलकर उनसे बात कर चुके हैं। उनकी दूसरे चरण की यात्रा 20 जुलाई से प्रारंभ होने की बात बताई जा रही है। जदयू के एक नेता ने नाम नहीं प्रकाशित करने की शर्त पर आईएएनएस को बताया, कुशवाहा की यह यात्रा कई मायनों में अलग है। 

इस यात्रा से जहां कुशवाहा पार्टी में अपना कद बढ़ाने में जुटे हैं वहीं कुशवाहा कार्यकतार्ओं और सरकार के बीच कड़ी बनने की तैयारी में हैं। जदयू के जमीनी कार्यकर्ता सरकार से नाराज चल रहे थे। उनकी शिकायत थी की उनकी बात सरकार में नहीं सुनी जा रही है। इस नाराजगी को दूर करने के लिए कुशवाहा ने राज्य की यात्रा करने का निर्णय लिया।

कुशवाहा भी कहते हैं कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार का चातुर्दिक विकास हुआ है। उन्होंने कहा, पार्टी को फिर से राज्य में नंबर वन की पार्टी बनानी है। अपनी यात्रा के दौरन कुशवाहा ने जदयू को नंबर वन की पार्टी बनाने का संकल्प कार्यकतार्ओं को भी दिलवा रहे हैं। 

कुशवाहा ने कहा कि जदयू महात्मा गांधी, राममनोहर लोहिया, डॉ. बीआर आंबेडकर, लोकनायक जयप्रकाश नारायण, जननायक कर्पूरी ठाकुर व जगदेव प्रसाद के नीति व सिद्धान्तों पर चलने वाली पार्टी है। बहरहाल, जदयू में हाल में घटी घटनाओं पर गौर करें तो तय है कि पार्टी संगठन में बदलाव तय है। यह बदलाव कब और कैसे होता है, यह देखने वाली बात होगी।