BREAKING NEWS

चीन में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 25 हुई, 830 मामलों की पुष्टि ◾कोहरे की वजह दिल्ली आने वालीं 12 ट्रेनें 1 घंटे 30 मिनट से लेकर 4 घंटे 15 मिनट तक लेट ◾बालिका दिवस पर बोले नायडू- ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ हमारा संवैधानिक संकल्प है◾भ्रष्टाचार के मामले में 180 देशों में 80वें स्थान पर भारत◾अमित शाह ने केजरीवाल पर लगाया दिल्ली में दंगा भड़काने का आरोप ◾मैंने अपना भगवा रंग नहीं बदला है : उद्धव ठाकरे◾राज की मनसे ने अपनाया भगवा झंडा, घुसपैठियों को बाहर करने के लिए मोदी सरकार को समर्थन◾भाजपा नेता ने मोदी को चेताया, देश बढ़ रहा है दूसरे विभाजन की तरफ◾पासवान से मिला ब्राजील का प्रतिनिधिमंडल, एथेनॉल प्रौद्योगिकी साझेदारी पर बातचीत◾हिंदू समाज में साधु-संतों को ऐसी भाषा शोभा नहीं देती : अखिलेश◾पदाधिकारी पार्टी के खिलाफ सोशल मीडिया पर टिप्पणी करने से बचें : ठाकरे◾दिल्ली की जनता तय करे, कर्मठ सरकार चाहिए या धरना सरकार चाहिए : शाह◾वन्य क्षेत्रों में अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित नहीं किया जा सकता : दिल्ली सरकार◾मानसिक दिवालियेपन से गुजर रहा है कांग्रेस नेतृत्व : नड्डा◾निर्भया के दोषियों से पूछा : आखिरी बार अपने-अपने परिवारों से कब मिलना चाहेंगे , तो नहीं दिया कोई जवाब !◾विपक्ष की तुलना पाकिस्तान से करना भारत की अस्मिता के खिलाफ : कांग्रेस◾ब्राजील के राष्ट्रपति 24-27 जनवरी तक भारत यात्रा पर रहेंगे, गणतंत्र दिवस परेड में होंगे मुख्य अतिथि◾उत्तर प्रदेश : किसानों के मुद्दे पर सड़क पर उतरेगी कांग्रेस ◾कश्मीर मुद्दे पर विदेश मंत्रालय ने कहा-किसी तीसरे पक्ष की कोई भूमिका नहीं◾निर्भया मामले में आरोपियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी करने वाले जज का हुआ ट्रांसफर◾

मोदी पार्ट -2 सरकार में देश आर्थिक मंदी से जुझ रहा है:माधव आनंद

पटना : रालोसपा के मुख्य प्रवक्ता माधव आनंद ने कहा कि मोदी सरकार पार्ट-2 के सौ दिन पूरा होने पर कहा कि दूसरी पारी के सौ दिन असफलताओं से भरा रहा। इस कार्यकाल में सरकार की अर्थव्यवस्था 70 सालों के रिकार्ड खराब स्थिति में पहुंच गई है। बैंकों की स्थिति इतनी खराब है कि सरकार को दस बैंकों को मर्जर करना पड़ा। 

देश आर्थिक कंगाली की ओर बढ़ गया है। केन्द्र सरकार गलत नीती के कारण प्राईवेट सेक्टरो की स्थिति खराब है। देश में बेरोजगारों की लंबी फौज खड़ी हो गई है। सरकार नौकरी देने के बजाय छटनी कर रही है। सरकारी उपक्रम या तो बंद हो रहा है या घाटा में जा रहे है। बीएसएनएल इंडिया टिस्को, आई.आई.जे.सी. जैसी सरकारी उपक्रम घाटे में चले गए और उद्योग बंद हो गये हैं। 

टेक्सटाइल उद्योग की हालत खराब हो रही है। रूपये का लगातार अवमूल्यन हो रहा है। शेयर बाजार  नीचे गिर गया है। सोने का भाव आसमान छू रहा है। महंगाई मुंह बायें खड़ी है। पेट्रोल एवं डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं। कुल मिलाकर देखा जाय तो सरकार के 100 दिन का कार्य असफलताओं से भरा है।