BREAKING NEWS

Covid-19 : महाराष्ट्र में कोरोना से अबतक 19 की मौत, कुल पॉजिटिव मामले 416◾राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर 170 से अधिक FIR दर्ज - DP◾सोनिया ने लॉकडाउन पर उठाए सवाल तो भड़की BJP, शाह- नड्डा ने किया पलटवार◾मजनू का टीला गुरुद्वारे में रूके थे 225 लोग, गुरुद्वारे के प्रबंधकों पर पुलिस ने किया मामला दर्ज ◾कोरोना संकट : पीएम मोदी कल सुबह 9 बजे वीडियो जारी कर देशवासियों को देंगे संदेश◾24 घंटे में कोरोना के 328 नए मामले आए सामने, तबलीगी जमात से जुड़े 9000 लोगों को किया गया क्वारंटाइन : स्वास्थ्य मंत्रालय◾FIR दर्ज होते ही बदले मौलाना साद के तेवर, समर्थकों से की सरकार का सहयोग करने की अपील◾PM मोदी के साथ मीटिंग के बाद अरुणाचल प्रदेश CM बोले- लॉकडाउन समाप्त होने के बाद भी बरतें सावधानी◾सभी मुख्यमंत्रियों को PM मोदी का आश्वासन - कोरोना संकट को लेकर हर राज्य के साथ खड़ी है केंद्र सरकार◾इंदौर में स्वास्थ्य कर्मियों पर हमला करने के मामले में 4 लोग गिरफ्तार, कई अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज◾देश में कोरोना से मरने वालों की संख्या हुई 50, संक्रमित लोगों की संख्या में हुआ इजाफा ◾महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के तीन और मामले सामने आए, कुल संख्या 338 पर पहुंची ◾कोरोना वायरस : दुनिया भर में 925,132 लोगों में संक्रमण की पुष्टि, 46,291 लोगों की अब तक मौत◾पद्म श्री से सम्मानित स्वर्ण मंदिर के पूर्व ‘हजूरी रागी’ की कोरोना वायरस के कारण मौत ◾मध्य प्रदेश में कोरोना के 12 नए पॉजिटिव केस आए सामने, संक्रमितों की संख्या हुई 98 ◾कोविड-19 के प्रकोप को देखते हुए PM मोदी आज राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ करेंगे चर्चा ◾Coronavirus : अमेरिका में कोविड -19 से छह सप्ताह के शिशु की हुई मौत◾कोविड-19 : संक्रमण मामलों में एक दिन में दर्ज की गई सर्वाधिक बढ़ोतरी, संक्रमितों की संख्या 1,834 और मृतकों की संख्या 41 हुई◾ट्रंप ने दी ईरान को चेतावनी, कहा- अमेरिकी सैनिकों पर हमला किया तो चुकानी पड़ेगी भारी कीमत ◾NIA करेगी काबुल गुरुद्वारे हमले की जांच, एजेंसी ने किया पहली बार विदेश में मामला दर्ज ◾

देश की आजादी में पत्रकारों को दो वक्त की रोटी मिलना मुश्किल था

हौसला रखने वाले को मंजिल पाना दुर्भर नहीं होता। पश्चिम चम्पारण जिला के घोड़ासाहन थानान्तर्गत बेलवा बाजार निवासी जगदीश चौधरी को अंग्रेजों की गुलामी पसंद नहीं थी। गुलामी की जंजीर में जकड़ा देश किसे पंसद हो। देश की आजादी को लक्ष्य बनाकर अपने सहयोगियों के साथ जगदीश चौधरी ने अंग्रेजों के विरूद्ध ताना बाना बुनना शुरू किया। कहा जाता है कि जब मनुष्य अपनी मंजिल तक पहुंचने का लक्ष्य बना लेता है तो उसे रास्ता मिल ही जाती है।

बेलवा बाजार नील के खेती के लिए मशहूर थी जिस पर अंग्रेजों की नजरें गड़ी थी। अंग्रेजों के इस बुरी नजर का विरोध जताते हुए स्व. चौधरी ने संघर्ष की शुरूआत कर मुजफ्फरपुर के रास्ते कलकाता पहुंचे, जहां उनकी मुलाकात नेताजी सुभाष चन्द्र बोस से हुई और वे आजाद हिन्द फौज में शामिल हो गये। इस दौरान वे जेल भी गये। जेल की प्रताडऩा की परवाह न कर कलकाता का कालीघाट उनका कार्य क्षेत्र हुआ। आजाद भारत में भी इन्हें आमजनों से लगाव लगा रहा है। समाज सेवा के भाव से काम करते रहे।

श्री चौधरी ने देश के प्रधानमंत्री विश्वनाथ प्रताप सिंह, श्रीमती इंदिरा गांधी ने भी श्री चौधरी को पत्र लिखा किया आप पेंशन लीजिये, लेकिन उनका कहना था कि अंग्रेजों को भगाने के लिए पेंशन लेना हमारी जमीर इजाजत नहीं देता। जहां लाखों लोगों ने देश की आजादी में अपनी कुर्बानियां दी। इसलिए मुझ जैसे अदना-सा आदमी के लिए देश आजाद कराने के लिए पेंशन लिया जा सकता है? 1930 में कोलकाता से प्रकाशित सरदार मास्टर तारा सिंह का अखबार डेली-देश दर्पण में रिपोॢटग का काम करने लगे।

सरदार मास्टर तारा सिंह नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के करीबी माने जाते थे। उस समय वेतन कम मिलती थी फिर भी स्व. चौधरी मात्र 25 रुपये प्रतिमाह वेतन से अपने भरे पूरे परिवार का जीवन-यापन कर समाजसेवा करते रहे। अखबार का प्रकाशन 1998 में बंद हो गयी। बीच में ही नौकरी छोडक़र वे अपने घर चले आये। माली हालत खराब होने के बावजूद भी उन्होंने गरीबी से कोई समझौता न कर गरीबी से संघर्ष करते रहे। 5 नवम्बर, 1995 को उनका देहावसान हो गया। वे अपने पीछे भरा-पूरा परिवार छोड़ गये। पिता के रास्ते चलते हुए उनके पुत्र जेपी चौधरी समाजसेवा का कार्य करते हुए पत्रकारिता जगत में जगह बनायी। वर्तमान में जेपी चौधरी दिल्ली से प्रकाशित पंजाब केसरी बिहार, झारखंड संस्करण के ब्यूरो प्रभारी पद पर आसीन हैं।