BREAKING NEWS

आज का राशिफल ( 28 मई 2022)◾आर्यन खान ड्रग्स मामला : NCB ने क्रूज मामले की बेहद ढीली जांच की - SIT◾RR vs RCB ( IPL 2022) : बटलर के चौथे शतक से राजस्थान रॉयल्स फाइनल में , 29 मई को गुजरात से होगा मुकाबला ◾राजनाथ ने भारतीय नौसेना के पोत आईएनएस घड़ियाल के चालक दल से बात की◾केंद्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने राहुल गाँधी पर साधा निशाना◾CBI ने ‘वीजा रिश्वत’ मामले में कार्ति चिदंबरम से आठ घंटे पूछताछ की◾मंकीपॉक्स की चपेट में आए 20+ देश! जानें कैसे फैल रही यह बिमारी.. WHO ने दी अहम जानकारियां ◾ Ladakh News: लद्दाख दुर्घटना को लेकर देशवासियों को लगा जोरदार झटका, पीएम मोदी समेत कई बड़े नेताओं ने जताया दुख◾ UCC लागू करने की दिशा में उत्तराखंड सरकार ने बढ़ाया कदम, CM धामी बताया कब से होगा लागू◾UP News: योगी पर प्रहार करते हुए अखिलेश यादव बोले- यूपी को किया तहस नहस! शिक्षा व्यवस्था पर भी कसा तंज◾ Gyanvapi Case: सोमवार को हिंदू और मुस्लिम पक्ष को मिलेंगी सर्वे की वीडियो और फोटो◾ RR vs RCB ipl 2022: राजस्थान ने टॉस जीतकर किया गेंदबाजी का फैसला, यहां देखें दोनों टीमों की प्लेइंग XI◾नेहरू की पुण्यतिथि पर राहुल गांधी का मोदी पर प्रहार, बोले- 8 सालों में भाजपा ने लोकतंत्र को किया कमजोर◾Sri Lanka crisis: आर्थिक संकट के चलते श्रीलंका में निजी कंपनियां भी कर सकेगी तेल आयात◾ नजर नहीं है नजारों की बात करते हैं, जमीं पे चांद सितारों की बात करते...शायराना अंदाज में योगी का विपक्ष पर निशाना ◾Ladakh Accident News: लद्दाख के तुरतुक में हुआ खौफनाक हादसा, सेना की गाड़ी श्योक नदी में गिरी, 7 जवानों की हुई मौत◾ कर्नाटक में हिन्दू लड़के को मुस्लिम लड़की से प्यार करने की मिली सजा, नाराज भाईयों ने चाकू से गोदकर की हत्या◾कांग्रेस को मझदार में छोड़ अब हार्दिक पटेल कर रहे BJP के जहाज में सवारी की तैयारी? दिए यह बड़े संकेत ◾RBI ने कहा- खुदरा महंगाई पर दबाव डाल सकती है थोक मुद्रास्फीति की ऊंची दर◾ SC से सपा नेता आजम खान को राहत, जौहर यूनिवर्सिटी के हिस्सों को गिराने की कार्रवाई पर रोक◾

जेपी नारायण सत्ता में पारदर्शिता और जनता के प्रति जवाबदेही सुनिश्चित करना चाहते थे: फागू चौहान

बिहार के राज्यपाल फागू चौहान ने शनिवार को कहा कि लोकनायक जयप्रकाश नारायण को सत्ता का मोह कभी नहीं था। वह सत्ता में पारदर्शिता और जनता के प्रति जवाबदेही सुनिश्चित करना चाहते थे।

राज्यपाल शनिवार को जय प्रकाश नारायण अध्ययन केंद्र, जय प्रकाश विश्वविद्यालय, छपरा के तत्वावधान में प्रसिद्ध चिंतक, समाजवादी नेता और प्रखर वक्ता लोकनायक जयप्रकाश नारायण (जेपी) प्रथम व्याख्यानमाला के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि जे. पी. गांधीजी के सच्चे अनुयायी थे, जिन्होंने उनके जीवन दर्शन को केवल आत्मसात ही नहीं किया, बल्कि समय के साथ उसका प्रकटीकरण भी किया। 

5 जून 1975 का अहम भाषण

राज्यपाल ने जेपी के 5 जून 1975 को दिए गये महत्वपूर्ण भाषण का उल्लेख करते हुए कहा कि वे भ्रष्टाचार, बेरोजगारी आदि बुराइयों को व्यवस्थाजनित मानते थे तथा संपूर्ण क्रांति के माध्यम से व्यवस्था में परिवर्तन लाकर इन्हें दूर करने के पक्षधर गांधीजी के प्रभावस्वरूप उनके विचारों में मौलिक परिवर्तन आए तथा उन्होंने सक्रिय राजनीति छोड़कर देश सेवा का व्रत लिया। 

1974 के छात्र आंदोलन का किया नेतृत्व 

राज्यपाल ने कहा कि भारतीय जन भावनाओं को ध्यान में रखते हुए उन्होंने वर्ष 1974 के छात्र आंदोलन का नेतृत्व किया। भारतीय जनमानस के प्रति उनकी इस गहरी निष्ठा और आस्था ने ही उन्हें 'लोकनायक' बनाया। उन्होंने कहा कि गांधीजी ने जयप्रकाश जी को भारतीय समाजवाद का 'आचार्य' कह कर सम्मानित किया था। राज्यपाल ने कहा कि जेपी के लिए देश ही सर्वोपरि था। आज भारत ही नहीं, बल्कि विश्व के नवीनतम अग्रदूतों में उनकी गिनती होती है।

जम्मू-कश्मीर में आतंक का वायरस फैलाने के लिए ISI का नया प्लान! भारतीय सुरक्षा बलों को मुस्तैद रहने का निर्देश

राज्यपाल ने जे पी व्याख्यानमाला को प्रासंगिक बताते हुए कहा कि देश की अन्य विभूतियों महात्मा गांधी, विनोबा भावे, राम मनोहर लोहिया, पंडित दीनदयाल उपाध्याय आदि पर भी ऐसे कार्यक्रम आयोजित कराये जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि इससे ज्ञान का सार्वभौमीकरण होगा तथा युवा पीढ़ी को देश के महापुरुषों के जीवन चरित्र से सीखने का अवसर भी प्राप्त होता है।

वीडियो कांफ्रेंन्सिंग के जरिए राजभवन में आयोजित इस कार्यक्रम में राज्यसभा के उप सभापति हरिवंश, राज्यपाल के सचिव रॉबर्ट एल चोंग्थू, जय प्रकाश विश्वविद्यालय, छपरा के कुलपति प्रो फारूक अली, प्रतिकुलपति प्रो लक्ष्मी नारायण सिंह सहित कई अन्य लोग उपस्थित रहे।