BREAKING NEWS

अब 5 राज्यों-केंद्रशासित प्रदेशों में ही बची कांग्रेस की सरकार ◾अब से विकास के नये युग की होगी शुरुआत : येदियुरप्पा◾‘किंगमेकर’ माने जाने वाले कुमारस्वामी बने ‘किंग’, लेकिन राजगद्दी जल्दी ही हाथ से निकली ◾कर्नाटक में गिरी कुमारस्वामी सरकार, विश्वास प्रस्ताव के पक्ष पड़े 99 वोट , BJP पेश करेगी सरकार बनाने का दावा ◾येदियुरप्पा के शपथ लेने के बाद मुम्बई से लौटेंगे कर्नाटक के बागी विधायक◾कश्मीर के बारे में ट्रंप के प्रस्ताव पर भारत की प्रतिक्रिया से चकित हूं : इमरान खान ◾खुशी से पद छोड़ने को तैयार हूं : कुमारस्वामी ◾बोरिस जॉनसन बने ब्रिटेन के नए PM, यूरोपीय संघ से देश को बाहर निकालना होगी बड़ी चुनौती◾कश्मीर मुद्दे पर नरेंद्र मोदी और इमरान खान को मिलकर करनी चाहिए पहल - फारुख अब्दुल्ला◾Top 20 News 23 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾भाजपा ने ट्रंप के दावे पर विपक्ष के रूख को गैर जिम्मेदाराना बताया ◾कर्नाटक संकट: भाजपा ने कुमारस्वामी पर करदाताओं का पैसा बर्बाद करने का लगाया आरोप◾गृह मंत्रालय ने घटाई लालू यादव, चिराग पासवान समेत कई बड़े नेताओं की सुरक्षा◾SC ने NRC प्रकाशन की समय सीमा बढ़ाई, 20 फीसदी नमूनों के पुन: सत्यापन का अनुरोध ठुकराया◾PM मोदी देश को बताएं कि उनकी ट्रंप से क्या बात हुई थी : राहुल गांधी◾SC ने आम्रपाली समूह का रेरा पंजीकरण किया रद्द, NBCC को लंबित परियोजनाएं पूरी करने का निर्देश◾ट्रंप के दावे पर लोकसभा में विपक्षी सदस्यों का हंगामा, PM से जवाब देने की मांग की◾ट्रंप के बयान पर संसद में हंगामा, जयशंकर ने कहा- मोदी ने नहीं की मध्यस्थता की बात◾RTI कानून खत्म करना चाहती है सरकार, हर नागरिक होगा कमजोर : सोनिया गांधी ◾कश्मीर पर मध्यस्थता की ट्रंप की पेशकश का इमरान खान ने किया स्वागत, कहा- इसे दो पक्ष नहीं सुलझा सकते◾

बिहार

गुरु पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण : बाबा-भागलपुर

16 जुलाई (मंगलवार)  2019 को आषाढ़ मास की पूर्णिमा है। इसे गुरु पूर्णिमा भी कहा जाता है। इस सम्बन्ध में अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त ज्योतिष योग शोध केन्द्र, बिहार के संस्थापक दैवज्ञ पंo आरo केo चौधरी उर्फ बाबा-भागलपुर, भविष्यवेत्ता एवं हस्तरेखा विशेषज्ञ शास्त्रोंक्त मतानुसार सुगमतापूर्वक बतलाया कि:-पूर्णिमा  तिथि पर रात में चंद्र ग्रहण होगा। ये ग्रहण भारत में स्पष्टत: दिखाई देगा। 

यह अवसर  इसलिए खास है, क्योंकि इसी दिन गुरु पूर्णिमा भी है. वर्ष 2018 ईo में भी गुरु पूर्णिमा के दिन ही चंद्र ग्रहण लगा था. खग्रास चंद्र ग्रहण 16 जुलाई की रात करीब 1.31 बजे ग्रहण की शुरुआत होगी और करीब डेढ घंटे के बाद यानी की 3 बजे इस चंद्र ग्रहण का मध्य होगा तथा प्रातः काल 4.30 बजे ग्रहण का मोक्ष होगा। इस खग्रास चंद्र ग्रहण  को पूरे भारत के लोग देख सकेंगे।   यह चंद्र ग्रहण जुलाई के महीने का दूसरा ग्रहण होगा। 

पहला 02 जुलाई (मंगलवार) 2019 को पूर्ण सूर्य ग्रहण था लेकिन यह ग्रहण भारत में देखने को नहीं मिला।  चंद्र ग्रहण को धार्मिक रूप से काफी महत्वपूर्ण माना जाता है. चंद्र ग्रहण का राशियों पर विशेष प्रभाव पड़ता है। हमारे  शास्त्रों के अनुसार चंद्र ग्रहण के बाद स्नान जरूर करना चाहिए। इसके बाद गरीब और जरूरतमंद को दान करना चाहिए। मान्यता है कि चंद्र ग्रहण घटित होने के बाद सरोवर/ गंगा में स्नान करने से भी पाप धूल जाते हैं। 

वहीं गेहूं, चावल, दाल, गुड़ चना, वस्त्र, आभूषण जैसी चीजों का दान करने से जीवन में खुँशहाली आती है। चंद्र ग्रहण की अवधि साधना का महापर्व कहलाता है। जो मंत्र वर्षों में सिद्ध  नहीं हुई हो वह मंत्र भी इस अवधि में स्वत:सिद्ध हो जाती है। इस चंद्र ग्रहण से भारत पर व्यापक कुप्रभाव पड़ेगा। 

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक इस वर्ष चंद्र ग्रहण का कुप्रभाव भारतीय राजनीति पर विशेष रूप से पड़ सकता है तथा भारतीय सेना परिस्थितिजन आक्रामक हो सकते हैं।  मेष, वृष, कन्या, वृश्चिक, धनु व मकर राशि वाले व्यक्तियों को राजनीति में विशेष लाभ मिल सकता है। खग्रास चंद्र ग्रहण मंगलवार और उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में पड़ रहा है। इस चंद्र ग्रहण के प्रभाव से राजनीतिक उथल-पुथल के साथ ही प्राकृतिक आपदा की स्थति भी बन सकती है।