BREAKING NEWS

करनाल से बीजेपी के पूर्व सांसद अश्विनी कुमार चोपड़ा के निधन पर राजनाथ सिंह समेत इन नेताओं ने जताया शोक ◾अश्विनी कुमार की लेगब्रेक गेंदबाजी के दीवाने थे टॉप क्रिकेटर◾खामोश हो गई वरिष्ठ पत्रकार अश्वनी कुमार चोपड़ा जी की आवाज, कल होगा अंतिम संस्कार◾PM मोदी ने वरिष्ठ पत्रकार और पूर्व सांसद अश्विनी चोपड़ा के निधन पर शोक प्रकट किया ◾पंजाब केसरी दिल्ली के मुख्य संपादक और पूर्व भाजपा सांसद श्री अश्विनी कुमार जी को भावपूर्ण श्रद्धांजलि ◾निर्भया गैंगरेप: अपराध के समय दोषी पवन नाबलिग था या नहीं? 20 जनवरी को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾सीएए पर प्रदर्शनों के बीच CJI बोबड़े ने कहा- यूनिवर्सिटी सिर्फ ईंट और गारे की इमारतें नहीं◾कमलनाथ सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे MLA मुन्नालाल गोयल, घोषणा पत्र में किए गए वादों को पूरा नहीं करने का लगाया आरोप ◾नवाब मलिक बोले- अगर भागवत जबरदस्ती पुरुष की नसबंदी कराना चाहते हैं तो मोदी जी ऐसा कानून बनाए◾संजय राउत ने सावरकर को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना, बोले- विरोध करने वालों को भेजो जेल, तब सावरकर को समझेंगे'◾दोषियों को माफ करने की इंदिरा जयसिंह की अपील पर भड़कीं निर्भया की मां, बोलीं- ऐसे ही लोगों की वजह से बच जाते हैं बलात्कारी◾पाकिस्‍तान: सुप्रीम कोर्ट ने देशद्रोह मामले में फैसले के खिलाफ मुशर्रफ की याचिका पर सुनवाई से किया इनकार ◾सीएए और एनआरसी के खिलाफ लखनऊ में महिलाओं का प्रदर्शन जारी◾NIA ने संभाली आतंकियों के साथ पकड़े गए DSP दविंदर सिंह मामले की जांच की जिम्मेदारी◾वकील इंदिरा जयसिंह की निर्भया की मां से अपील, बोलीं- सोनिया गांधी की तरह दोषियों को माफ कर दें◾ट्रंप ने ईरान के 'सुप्रीम लीडर' को दी संभल कर बात करने की नसीहत◾ राजधानी में छाया कोहरा, दिल्ली आने वाली 20 ट्रेनें 2 से 5 घंटे तक लेट◾निर्भया : घटना के दिन नाबालिग होने का दावा करते हुए पवन पहुंचा सुप्रीम कोर्ट◾PM मोदी ने मंत्रियों से कहा, कश्मीर में विकास का संदेश फैलाएं और गांवों का दौरा करें ◾भाजपा ने अब तक 8 पूर्वांचलियों पर लगाया दांव◾

बिहार में कई स्थानों पर NDA के लिए वरदान साबित होंगे महागठबंधन के उम्मीदवार : पासवान

केंद्रीय मंत्री एवं लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान ने बिहार की सभी 40 लोकसभा सीटों पर राजग की जीत का दावा करते हुए शनिवार को कहा कि कई स्थानों पर महागठबंधन ने ऐसे उम्मीदवार दिये हैं जो राजग के लिए वरदान साबित होंगे। पासवान ने पटना स्थित लोजपा प्रदेश मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत में बिहार की सभी 40 लोकसभा सीटों पर राजग की जीत का दावा करते हुए कहा कि कई स्थानों पर महागठबंधन ने ऐसे उम्मीदवार दिये हैं जो हमलोगों के लिए वरदान साबित होंगे।

उन्होंने कहा कि केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार बहुत शानदार तरीके से चल रही है। हमलोग जाति और धर्म के आधार पर नहीं बल्कि धर्मनिर्पेक्षता के आधार पर काम करते हैं। चाहे अल्पसंख्यकों से जुडा मामला हो, सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को दस प्रतिशत आरक्षण का मामला हो, दलित उत्पीड़न से जुडे अधिनियम का मामला हो या पिछडी जाति के आयोग को संवैधानिक दर्जा देने की मांग हो, इसको लेकर हम संघर्ष कर रहे हैं।

रामविलास पासवान ने कहा कि धारा 370 का मामला हो या देश की सुरक्षा और एकता का मामला हो, हम सब एक हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रामजन्म भूमि को लेकर राजग के घटक दलों लोजपा और जदयू की उच्चतम न्यायालय के फैसले को माने जाने की राय को माना।

PM Modi

चुनाव आयोग ने भी कहा कि इस मुद्दे को लेकर कोई चुनाव में नहीं जाए। हमारी सरकार नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पूरे देश में विकास का काम कर रही है। पासवान ने कहा कि वे पहले व्यक्ति हैं जिन्होंने बिहार में अल्पसंख्यक समुदाय से मुख्यमंत्री बनाए जाने की मांग की थी लेकिन किसी ने उनका साथ नहीं दिया।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में अल्पसंख्यक सबसे अधिक संख्या में हैं लेकिन आजादी के बाद आजतक, जो लोग महागठबंधन की बात करते हैं कभी किसी अल्पसंख्यक को मुख्यमंत्री पद पर आसीन नहीं किया। आज भी हिम्मत है तो अखिलेश यादव और मायावती घोषणा करें कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव होने पर हमारा अगला मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक समुदाय से होगा। नहीं कर सकते हैं। सब अपना अपना हित साधने में लगे हुए लेकिन मुसलमान का वोट उन्हें चाहिए। लोग सबकुछ समझ रहे हैं।

बिहार : राजग ने की उम्मीदवारों की घोषणा, रविशंकर प्रसाद पटना साहिब से लड़ेंगे चुनाव

उन्होंने कहा कि जबसे राजग में नीतीश कुमार आएं हैं उनका आत्मबल बढ़ा है। केंद्र और बिहार दोनों जगह राजग की सरकार है। पिछले डेढ़ साल में बिहार में जितना तेज गति से विकास हुआ यदि इनके साथ राजद के लोग होते तो इसका 100वां हिस्सा भी वे नहीं कर पाते। पासवान ने अपने स्थान पर हाजीपुर से लोजपा के प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस को उम्मीदवार बनाए जाने पर सफाई देते हुए कहा कि पार्टी ने पहले ही निर्णय ले लिया था कि हम लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे क्योंकि इस साल मुझे राजनीति में कदम रखे 50 साल पूरे हो गए। 1959 में अलौली से विधायक बने थे।

उन्होंने कहा कि केंद्र में मंत्री रहते और पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष होने के कारण अपनी बढ़ी हुई जिम्मेदारी को भी ध्यान में रखकर यह निर्णय लिया। रामविलास ने विपक्ष के परिवारवाद का आरोप लगाए जाने तथा अपने ससंदीय क्षेत्र से किसी अन्य को नहीं बल्कि अपने भाई पशुपति कुमार पारस को उम्मीदवार बनाए जाने पर कहा कि उक्त क्षेत्र की जनता को मेरे अलावा कोई अन्य बाहरी उम्मीदवार स्वीकार नहीं था।

ऐसे में मेरे चुनाव नहीं लडने के निर्णय के बाद पारस को इसके लिए कहा गया लेकिन उन्होंने अपनी भाभी (रामविलास की पत्नी) को उम्मीदवार बनाने को कहा। हालांकि उनके इससे इनकार कर देने पर अंत में पार्टी ने पारस के बारे में निर्णय लिया। उन्होंने कहा कि जबसे लोजपा की स्थापना हुई है पशुपति इस दल के प्रदेश अध्यक्ष हैं और बिहार में उनके नेतृत्व में पार्टी जड़ से ऊपर तक मजबूत हुई। लोजपा ने रामविलास पासवान के छोटे भाई रामचंद्र पासवान को समस्तीपुर से और पुत्र चिराग पासवान को जमुई से उम्मीदवार बनाया है।

लोकसभा चुनाव : बिहार महागठबंधन में हुआ सीटों का बंटवारा, 20 पर RJD तो 9 पर कांग्रेस लड़ेगी चुनाव