BREAKING NEWS

कोरोना संकट : देश में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 1000 के पार, मौत का आंकड़ा पहुंचा 24◾कोरोना महामारी के बीच प्रधानमंत्री मोदी आज करेंगे मन की बात◾कोरोना : लॉकडाउन को देखते हुए अमित शाह ने स्थिति की समीक्षा की◾इटली में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, मरने वालों की संख्या बढ़कर 10,000 के पार, 92,472 लोग इससे संक्रमित◾स्पेन में कोरोना वायरस महामारी से पिछले 24 घंटों में 832 लोगों की मौत , 5,600 से इससे संक्रमित◾Covid -19 प्रकोप के मद्देनजर ITBP प्रमुख ने जवानों को सभी तरह के कार्य के लिए तैयार रहने को कहा◾विशेषज्ञों ने उम्मीद जताई - महामारी आगामी कुछ समय में अपने चरम पर पहुंच जाएगी◾कोविड-19 : राष्ट्रीय योजना के तहत 22 लाख से अधिक सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा कर्मियों को मिलेगा 50 लाख रुपये का बीमा कवर◾कोविड-19 से लड़ने के लिए टाटा ट्रस्ट और टाटा संस देंगे 1,500 करोड़ रुपये◾लॉकडाउन : दिल्ली बॉर्डर पर हजारों लोग उमड़े, कर रहे बस-वाहनों का इंतजार◾देश में कोविड-19 संक्रमण के मरीजों की संख्या 918 हुई, अब तक 19 लोगों की मौत ◾कोरोना से निपटने के लिए PM मोदी ने देशवासियों से की प्रधानमंत्री राहत कोष में दान करने की अपील◾कोरोना के डर से पलायन न करें, दिल्ली सरकार की तैयारी पूरी : CM केजरीवाल◾Coronavirus : केंद्रीय राहत कोष में सभी BJP सांसद और विधायक एक माह का वेतन देंगे◾लोगों को बसों से भेजने के कदम को CM नीतीश ने बताया गलत, कहा- लॉकडाउन पूरी तरह असफल हो जाएगा◾गृह मंत्रालय का बड़ा ऐलान - लॉकडाउन के दौरान राज्य आपदा राहत कोष से मजदूरों को मिलेगी मदद◾वुहान से भारत लौटे कश्मीरी छात्र ने की PM मोदी से बात, साझा किया अनुभव◾लॉकडाउन को लेकर कपिल सिब्बल ने अमित शाह पर कसा तंज, कहा - चुप हैं गृहमंत्री◾बेघर लोगों के लिए रैन बसेरों और स्कूलों में ठहरने का किया गया इंतजाम : मनीष सिसोदिया◾कोविड-19 : केरल में कोरोना वायरस से पहली मौत, देश में अबतक 20 लोगों की गई जान ◾

देशव्यापी हड़ताल पूरी तरह सफल : इंटक

पटना : राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस (इंटक) बिहार के प्रदेश अध्यक्ष चन्द्र प्रकाश सिंह ने आज एक बयान जारी कर कहा कि केन्द्र सरकार की मजदूर विरोधी नीतियों, कानूनों में प्रबंधन पक्षीय संशोधन के विरूद्ध एवं 12 सूत्री मांगों की पूर्ति हेतु 10 केन्द्रीय श्रमिक संगठनों के आह्वान पर दो दिवसीय हड़ताल के प्रथम दिन देश के मजदूरों ने हड़ताल को सफल बना कर अपने आक्रोश का प्रदर्शन किया है। मोदी सरकार के लिए वर्ष 2019 में यह खतरे की घंटी है।

श्री सिंह ने कहा कि पटना सहित राज्य के अन्य जिलों में भी इंटक कार्यकताओं एवं सम्बद्ध यूनियनों ने बढ़-चढक़र हिस्सा लिया है। हड़ताल की आज की सफलता के लिए उन्होनें मजदूरों को बधाई दी है। केन्द्रीय श्रमिक संगठनों की रैली को डाक बंगला चौराहे पर संबोधित करते हुए श्री सिंह ने कहा कि नरेन्द्र मोदी की सरकार मजदूर आन्दोलन को दबाना चाहती है। श्रम कानूनों के अनुपालन को लेकर सरकार ने उद्योगपतियों एवं संस्थानों के प्रबंधन को खुली छुट दे दी है।

फलस्वरूप न्यूनतम मजदूरी, ई.एस.आई., पी.एफ एवं बोनस आदि भी मजदूरों को नहीं मिल पा रहा है। समान काम-समान वेतन की नीति को सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद भी लागू नही किया जा रहा है। सरकारी संस्थाओं एवं सार्वजनिक क्षेत्र की संस्थाओं में नीजिकरण एवं आउटसोर्स का पुरा रास्ता खोल दिया गया है। औधोगिक नियोजन (स्थायी आदेश) अधिनियम, 1946 में संशोधन के बाद अब कामगारों के नौकरी की कोई सुरक्षा नही रह गई है।

श्री सिंह ने कल भी हड़ताल को जारी रखने की अपील करते हुए उपस्थित मजदूरों का आह्वान किया कि देश के मजदूरों को अब बड़ी चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार रहना होगा। इस अवसर पर इंटक के श्रीनंदन मंडल, टी. के. सिंह, रणजीत कुमार, पवन सिंह, मदन प्रसाद, मोहन गोस्वामी, प्रभात कुमार सिन्हा, पवन कुमार, धमेन्द्र कुमार, भुपेश गुप्ता, अमरेन्द्र चौरसिया एवं धमेन्द्र कुमार आदि उपस्थित थे।