BREAKING NEWS

जयशंकर ने भारत में अवसरों पर ध्यान देने के लिए इजराइली कारोबारियों को किया प्रोत्साहित ◾राहुल से मुलाकात कर भी नहीं माने सिद्धू, सोनिया को लिखा 13 सूत्री एजेंडा वाला खत◾आतंकवादी हमले में बिहार के दो लोगों की हत्या पर CM नीतीश ने की चिन्ता व्यक्त, उपराज्यपाल से फोन पर की बात ◾J&K: 'टारगेट किलिंग' के मद्देनजर इमरजेंसी एडवाइजरी जारी, पुलिस-आर्मी कैंप में लाए जाएंगे बाहरी मजदूर ◾सिंघु बॉर्डर लिंचिंग : कोर्ट ने तीन आरोपियों को पुलिस रिमांड पर भेजा, दो एसआईटी कर रही जांच◾ J-K: लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने किया गैर-कश्मीरियों पर हमला, कुलगाम में बिहार के दो मजदूरों की हत्या◾UP विधानसभा चुनाव : चंद्रशेखर आजाद बोले- सत्ता में आए तो किसानों को एमएसपी की देंगे गारंटी◾ J-K में आतंकी हमलो के बीच भारत-पाकिस्तान मैच को रद्द करने की मांग:केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह◾UP विधानसभा उपाध्यक्ष पद के लिए सपा के उम्मीदवारों ने दाखिल किया नामांकन पत्र, BJP ने नितिन अग्रवाल का किया समर्थन ◾ PM मोदी ने केरल के CM पिनराई विजयन से की बात, भारी बारिश और भूस्खलन पर हुई चर्चा◾गोवा के एक नेता ने मां दुर्गा से की ममता बनर्जी की तुलना, कहा- BJP की 'भस्मासुर' सरकार का करेंगी नाश ◾BJP राज में महंगाई की बोझ तले दबे हैं किसान, केवल मोदी मित्र हो रहे हैं धनवान : प्रियंका गांधी ◾किस वजह से अधिक खतरनाक बना डेल्टा कोविड वेरिएंट, रिसर्च में हुआ खुलासा ◾जम्मू-कश्मीर : पुंछ में फिर मुठभेड़, आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने घेरा, दोनों तरफ से हुई गोलीबारी ◾विपक्ष पर बरसे CM योगी- पिछली सरकारों की दंगा ही थी फितरत, प्रश्रय देकर दंगाइयों को बढ़ाते थे आगे ◾सिद्धू ने सोनिया गांधी को लिखा पत्र, 13 सूत्री एजेंडे के साथ मुलाकात का मांगा समय◾अखिलेश का तीखा हमला- 'UP को योगी सरकार नहीं, योग्य सरकार चाहिए', अंधेरे में है देश का भविष्य ◾ड्रैगन पर पाकिस्तान का सख्त एक्शन- फर्जी दस्तावेज जमा करने पर चीनी कंपनी को ब्लैक लिस्ट में डाला◾ उत्तराखंड में भारी बारिश होने की संभावना को लेकर जारी किया गया अलर्ट, SDRF की 29 टीमों ने संभाला मोर्चा◾बाढ़ प्रभावित केरल को गृहमंत्री शाह ने हर संभव मदद का दिया आश्वासन, भूस्खलन से मरने वालों की संख्या हुई 11◾

भद्दे पोस्टर लगा कर केवल अपनी नाकामर छिपानी की कोशिश करते है : सुशील मोदी

  पटना :उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने  ट्वीट कर कहा कि  लालू प्रसाद ने 15 साल बिहार पर राज किया। वे पांच साल केंद्र की यूपीए सरकार में कद्दावर मंत्री भी रहे। इसके बावजूद पटना विश्वविद्यालय को केंद्रीय दर्जा क्यों नहीं दिलवा पाये? विरोधी दल के नेता को जो सवाल बहुत पहले अपने माता-पिता से पूछना चाहिए था, वह सवाल वे राज्य सरकार से क्यों पूछ रहे हैं?

 श्री मोदी ने कहा कि  लालू प्रसाद की सोच केवल चरवाहा विद्यालय, लाठी और लालटेन तक थी, इसलिए उन्होंने राज्य को न कोई केंद्रीय विश्वविद्यालय देने की बात सोची, न आइआइटी और न आइआइएम जैसे संस्थान बनाने का कोई प्रयास किया। राजद के जो लोग स्कूली तालीम भी पूरी न कर पाये, वे विश्वविद्यालय की बात कर रहे हैं । 

 राजनीतिक द्वेश के कारण राजद को एनडीए सरकार की पहल से बने चाणक्य विधि विश्वविद्यालय, चंद्रगुप्त प्रबंधन संस्थान और अन्तरराष्ट्रीय नालंदा विश्वविद्यालय नहीं दिखायी देते।  इन उच्चस्तरीय संस्थानों को विकसित कर बिहार से प्रतिभा और पूंजी का पलायन रोका गया, लेकिन पलायन कराने वालों को ये काम अच्छे कैसे लगेंगे? वे  भद्दे पोस्टर लगा कर केवल अपनी नाकामी छिपाने की कोशिश कर सकते हैं। हमारी उपलब्धियों का पोस्टर जनता के दिल पर छा चुका है।