BREAKING NEWS

‘निवार’ चक्रवात के समुद्र तट पर दस्तक देने की प्रक्रिया शुरू हुई : मौसम विभाग◾पिछली सरकारों पर निशाना साधते हुए PM मोदी ने कहा : देश ने अपनी क्षमताओं का इस्तेमाल नहीं किया ◾सौरव गांगुली समेत भारतीय खेलप्रेमियों ने दी माराडोना को श्रृद्धांजलि ◾राहुल ने डिएगो के निधन पर जताया शोक, कहा - 'जादूगर' माराडोना ने हमें दिखाया कि फुटबॉल क्यों खूबसूरत खेल है◾फुटबॉल के एक युग का अंत, नहीं रहे डिएगो माराडोना ◾यूपी की राह पर शिवराज सरकार - ‘लव जिहाद’ के दोषी को होगी 10 साल की सजा, लाएंगे विधेयक◾यूपी में योगी सरकार ने एस्मा लागू किया, अगले 6 माह तक नहीं होगी हड़ताल ◾लखनऊ विश्वविद्यालय : सामर्थ्य के इस्तेमाल का बेहतर उदाहरण है रायबरेली का रेल कोच फैक्ट्री- PM मोदी◾असंतुष्ट नेताओं से ममता बनर्जी की अपील : पार्टी को गलत मत समझिए, हम गलतियों को सुधारेंगे◾कोरोना के खिलाफ केंद्र ने कसी कमर, 31 दिसंबर तक के लिए जारी की नई गाइडलाइंस, जानें क्या हैं नियम◾लक्ष्मी विलास बैंक के DBS बैंक में विलय को मिली मंजूरी , सरकार ने निकासी की सीमा भी हटाई ◾ललन पासवान बोले-मुझे लगा लालू जी ने बधाई देने के लिए फोन किया, लेकिन वे सरकार गिराने की बात करने लगे◾पंजाब में एक दिसंबर से नाइट कर्फ्यू, कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने पर 1000 का जुर्माना◾'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾निर्वाचित प्रतिनिधियों की अनुशासनहीनता से उन्हें चुनने वाले लोगों की भावनाएं आहत होती हैं : कोविंद◾भारत में बैन हुए 43 मोबाइल ऐप पर ड्रैगन को लगी मिर्ची, व्यापार संबंधों की दी दुहाई ◾भाजपा MP के विवादित बोल - रोहिंग्याओं, पाकिस्तानियों को भगाने के लिए भाजपा करेगी 'सर्जिकल स्ट्राइक'◾विपक्ष के जबरदस्त हंगामे के बीच NDA के विजय सिन्हा बने बिहार विधानसभा के स्पीकर◾सुशील मोदी का दावा-लालू ने BJP MLA को दिया मंत्री पद का लालच, ट्विटर पर जारी किया ऑडियो◾UN में 'झूठ का डोजियर' पेश करने के लिए भारत ने पाक को लगाई फटकार, कहा- यह उसकी पुरानी आदत ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

बिहार की जनता त्रस्त किन्तु मुख्यमंत्री की सरकार खुद में मस्त: मंजूबाला पाठक

पटना : बिहार महिला कांग्रेस की पूर्व उपाध्यक्ष मंजूबाला पाठक ने बिहार सरकार की तीखी आलोचना की है। उन्होंने कहा ये सरकार का बेरहम रवैया नही देखा जाता। बिहार की जनता त्रस्त है और मुख्यमंत्री और सरकार खुद में ही मस्त है। उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को बिहार दिख ही नहीं रहा। उनका सारा ध्यान राजस्थान में लगा हुआ है। उनको राजस्थान सरकार को अस्थिर देखना और वहां के मुख्यमंत्री को ज्ञान देने से फुरसत ही नही है। लगता है नीतीश जी ने उन्हें ऐसे ही संवेदनहीनता दिखाने के लिए रखा है। मुख्यमंत्री खुद अपने आवास से बाहर आते नहीं और उपमुख्यमंत्री हर परेशानी का ठीकरा दूसरी सरकारों पर फोड़ देते हैं। सरकार जब संवेदनहीन हो जाये तो उसे स्वयं ही कुर्सी खाली कर देना चाहिए।

बिहार से हजारों वीडियो रोज मीडिया में आते हैं। कही लोग इलाज के अभाव में दम तोड़ रहे हैं तो कहीं बाढ़ ने जीवन को तबाह कर दिया है। मजदूरों के पास काम नहीं और ना खाने को अनाज है। किसान की फसल बर्बाद हो गयी है।अन्नदाता स्वयं अन्न के लिए तरस रहा है, पर इन गरीबो-मजलूमों की चीखें इस बहरी सरकार को सुनाई नही दे रही।

 लोग इलाज के अभाव में अपनों को तड़प तड़प कर मरते देख रहे हैं, पर इस संवेदनहीन सरकार कुम्भकर्णी नींद में सो रही है। कोई भी सरकार का मंत्री हो या मुख्यमंत्री लोगो के बीच उनका दर्द तक बांटने नहीं जाता। क्या इसी दिन और रात के लिए ये सरकार चुनी गई थी? नीतीश जी को इसका जवाब देना चाहिए। 

उन्होंने देश की भाजपा नीत सरकार से भी सवाल किया और पूछा प्रधानमंत्री जी आप किस मुंह से बिहार में वोट मांगने आएंगे?क्या ये तबाही का मंजर आपको नही दिखता?क्या आपकी पार्टी भी गरीब का दुख नही बांट सकती। आप खुद को गरीब का बेटा कहते हैं तो आपने गरीबों का दर्द क्यों नही समझा? आपके देश के एक राज्य बिहार के लोग हर तरह से परेशान है,मर रहे हैं आपको नींद कैसे आती है? क्या बिहार को उसका हक नही देंगे आप? प्रदेश में हर तरफ तबाही का मंजर है। 

किसान की फसल बर्बाद हो गयी।मजदूरों का काम तबाह हो गया।छात्रों की पढ़ाई पर बट्टा लग गया। रोजगार की कोई बात ही नहीं, स्वास्थ्य विभाग ने हाथ खड़े कर दिए है। लोगों को मरने के लिए छोड़ दिया गया है। इंसान भूख,बीमारी और आपदा से मर रहा है। मैं नीतीश कुमार को आगाह कर रही हूं कि कुर्सी खुद से छोड़ दें और किसी योग्य व्यक्ति को मौका दे। वैसे भी जनता पर बहुत सितम किये हैं आपने। अपने हिसाब के लिए भी तैयार रहिएगा।